खत्म हो सकता है हसन अली खान का केस

नई दिल्ली| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 14 मई 2014 (22:08 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
नई दिल्ली। पुणे में घोड़ों के अस्तबल के मालिक के खिलाफ कथित कर चोरी और धन शोधन का बहुचर्चित मामला खत्म होता नजर आ रहा है क्योंकि कहा जा रहा है कि इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि जांच एजेंसियों के पास विदेश में काला धन जमा करने के आरोप में उसे पकड़ने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं।


सरकार की परेशानी इसलिए और बढ़ गई है क्योंकि स्विट्जरलैंड के अधिकारियों की ओर से खान के कुछ बैंक खातों के लेनदेन की जानकारी को लेकर मदद नहीं मिल रही है। सूत्रों ने कहा कि अब तक जुटाए सबूतों के अनुसार, माना जा रहा है कि सरकार की राय है कि उसके खिलाफ सामग्री में टिकने लायक नहीं है।
साठ वर्षीय कारोबारी खान वर्ष 2007 में मुंबई पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा और की जांच के दायरे में आए। खान और उसके सहयोगियों के खिलाफ धन शोधन, आयकर चोरी तथा पासपोर्ट कानून के उल्लंघन सहित विभिन्न आरोपों की जांच चल रही है।

खान को का नोटिस मिला जिसमें 50 हजार करोड़ रुपए से अधिक के कर के भुगतान के लिए कहा गया था, लेकिन अधिकारियों के पास इन आरोपों को आगे बढ़ाने और उसकी दोषसिद्धि सुनिश्चित करने के लिए विश्वसनीय सबूत नहीं हैं। (भाषा)



और भी पढ़ें :