मुंबई हमले के दौरान पाक में थे हेडली, राणा

नई दिल्ली| भाषा|
संदिग्ध अमेरिकी आतंकवादी डेविड हेडली और तहव्वुर हुसैन राणा के खिलाफ जाँच के दौरान पता चला है कि बीते वर्ष 26 नवंबर को पर जब लश्कर ए तैयबा के आतंकवादियों ने हमले किए, उस समय ये दोनों पाकिस्तान में थे।


गृह मंत्रालय में एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि हेडली और राणा के आतंकी संपर्कों की जाँच कर रहे अधिकारियों ने पाया है कि दोनों संदिग्ध उस समय पाकिस्तान में खुलेआम घूम रहे थे। पाकिस्तान से ही हमलावर मुंबई आए थे और महानगर में चार दिनों तक खून खराबा मचाया था।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में जन्मे कनाडाई नागरिक राणा के बारे में जानकारी प्राप्त करने के लिए भारत ने कनाडा से संपर्क किया है।

उन्होंने कहा कि दोनों में से राणा वित्तीय मदद का स्रोत था। अधिकारी ने कहा कि हम कनाडा सरकार से बातचीत कर रहे हैं। मुंबई पर बीते वर्ष आतंकी हमले के बाद नेशनल इनवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआईए) का गठन किया गया था।


एनआईए के अधिकारियों के 20 से अधिक दल हेडली, राणा के बारे में जानकारी जुटाने के लिए लगाए गए हैं और 2006 से 2009 के बीच वे जहाँ जहाँ गए, वहाँ की जानकारी जुटाने के लिए कई केंद्रीय सुरक्षा एजेंसियों का गठन किया गया है।
मुंबई, कोच्चि और अहमदाबाद के पाँच सितारा होटलों में ठहरने के अलावा हेडली तथा राणा कुछ लोगों के साथ ठहरे भी थे जिनसे सुरक्षा एजेंसियाँ अभी पूछताछ कर रही हैं। इस संबंध में एनआईए ने गैरकानूनी गतिविधियाँ निरोधक कानून (यूएपीए) के तहत देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने के मामले में मामला दर्ज किया है और फिल्म निर्माता महेश भट्ट के बेटे राहुल को भी शहर न छोड़ने का आदेश दिया है।
हेडली जब मुंबई में ठहरा था तो उसकी जान-पहचान राहुल से हो गई थी। गृह मंत्रालय के अधिकारी ने कहा कि जाँच दल राहुल से फिर से पूछताछ करेगा, क्योंकि स्वाभाविक है कि एक या दो बार पूछताछ में कोई भी हेडली के साथ मुलाकात के बारे में कुछ अधिक नहीं बता पाएगा।

अधिकारी ने कहा कि हेडली ने तीन वर्षों में नौ बार भारत की यात्रा की और राणा भारत में कई जगहों पर घूमा है। इस संबंध में सभी पहलुओं की जाँच एक लंबी और विस्तृत प्रक्रिया है।(भाषा)



और भी पढ़ें :