हिन्दी की ऐसी दुर्गति... वाकई शर्मनाक है...

PR

इस वेबसाइट पर अनुवाद संबंधी इतनी गलतियां हैं कि कहीं-कहीं तो अर्थ का अनर्थ ही हो जाता है। साथ ही कई ऐसे भी शब्द हैं, जिन्हें अंग्रेजी से वैसा का वैसा उठा लिया है। हालांकि क्लिष्ट शब्दों से बचने के लिए ऐसा किया जा सकता है, लेकिन जिनके आसान हिन्दी शब्द मिल सकते हैं, उनके लिए भी अंग्रेजी शब्दों का उपयोग किया गया है।

इसके अतिरिक्त साइट पर कुछ वाक्य ऐसे भी लिखे गए हैं, जो हास्यास्पद हैं। एक जगह लिखा हुआ है 'कैसे पंजीकृत करने के लिए', अब इस वाक्य का वेबसाइट का उपयोग करने वाला व्यक्ति क्या अर्थ निकालेगा? दरअसल, होना यह चाहिए कि 'कैसे पंजीकृत करें'। इसके साथ ही यूजर शब्द को दो तरह से लिखा गया है। एक जगह 'यूजर' लिखा है तो दूसरी जगह 'युजर' लिखा गया है। हालांकि यूजर की जगह 'उपयोगकर्ता' भी लिखा जा सकता था। क्लिक शब्द को भी दो तरह से लिखा गया है। एक जगह क्लिक है तो दूसरी जगह किल्क। पीछे जाने के लिए मौजूद बटन पर अंग्रेजी में ही Back लिखा हुआ है।

इस वेबसाइट की कुछ और बानगी देखिए। पता नहीं इन्हें देखकर हंसना चाहिए या फिर रोना। कर कैलकुलेटर को यहां कर काल्कुलाटोर लिखा गया है। यहां कैलकुलेटर की जगह गणक भी लिखा जा सकता था। वृद्ध के स्थान पर यहां बूढ़ा शब्द का प्रयोग किया गया है। कई जगह कर के स्थान पर टैक्स ही लिखा गया है। और भी ऐसी कई गलतियां हैं, जिनसे किसी भी हिन्दी प्रेमी का सिर शर्म से झुक जाएगा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी टीम लाख हिन्दी की हिमायत करे, ऐसे तो हिन्दी आगे बढ़ने से रही।
PR

WD|
विभाग करदाताओं की सुविधा के लिए ऑनलाइन रिटर्न को प्रोत्साहित कर रहा है। इसके लिए विभाग ने हिन्दी वेबसाइट भी तैयार करवाई है ताकि हिन्दी भाषी लोग भी आसानी से काम कर सकें। मगर वेबसाइट पर जिस तरह की हिन्दी का प्रयोग किया गया है, वह वाकई शर्मनाक है। यह तब और भी दुखद है, जब केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार हिन्दी को बढ़ावा देने में लगी हो।
यदि आप आयकर विभाग की हिन्दी वेबसाइट (//incometaxindia.gov.in/HindiVersion/NewHomePage/Hindi_Homepage.asp) पर जाते हैं तो साइट कुछ इस तरह (चित्र के अनुसार) दिखाई दे रही है। अब यह फोन्ट की तकलीफ है या फिर कुछ और यह तो विभाग ही बता सकता है।



और भी पढ़ें :