0

नवरात्रि उत्सव: रंग, उत्साह और आनंद से भरा त्योहार

बुधवार,सितम्बर 28, 2022
0
1
उनकी पहली गिरफ्तारी भी लाहौर में दशहरा बम-कांड के सिलसिले में 23 अक्तूबर को ही हुई थी। फांसी से दो दिन पहले जब मां उनसे अंतिम बार मिलने गई तो देखा, उसके खाना खाने के लोहे के बरतन में गुलाब के ताजे फूल रखे हैं। मां ने पूछा, ‘भगतसिंह, ये फूल कहां से ...
1
2
कई बार सोचा करता हूं क्या वे उनके विचारों को भी जला या बहा पाए? नहीं। उनके विचार आज भी दिल और दिमागों में आग लगाया करते हैं।
2
3
प्रधानमंत्री ने देश की सभी पिछली सरकारों और सामाजिक, धार्मिक एवं सांस्कृतिक संगठनों द्वारा स्वच्छता को लेकर किए गए प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि भारत को स्वच्छ बनाने का काम किसी एक व्यक्ति या अकेले सरकार का नहीं है, यह कार्य तो देश के 125 करोड़ ...
3
4
ब्रह्माजी द्वारा उपदेश में दुर्गाकवच कहा गया। इससे प्राप्त होने वाली जड़ी-बूटियों के माध्यम से हनुमानजी ने भगवान लक्ष्मण की जान बचाई बल्कि आज की तारीख में भी चिकित्सकों द्वारा मानव रोगोपचार हेतु अमल में लाया जाता है। प्रसिद्ध विद्वान चरक ने तो हर ...
4
4
5
इनसे पिछली पीढ़ी के बड़े होते हुए खुली आर्थिक नीति के दरवाज़े खुल गए थे, पूंजीवाद अपनी सफलता की चमक दिखाने लगा था और उनके लिए अच्छी नौकरी पाने का लोड था। उनके पैदा होने के साथ ही सैटेलाइट क्रांति हुई थी और उन बच्चों ने बड़े होते हुए अपने आसपास के घरों ...
5
6
शक्ति की उपासना का पर्व शारदीय नवरात्रि आत्म संयमी साधकों को आध्यात्मिक प्रेरणा देने की शक्ति का पर्व समूह है। ऋग्वेद के दसवें मंडल में एक पूरा सूक्त शक्ति की आराधना पर आधारित है, जिसमें शक्ति की भव्यता का दुर्लभ स्वरूप मुखरित हुआ है। 'मैं ही ...
6
7
नवरात्रि आ गई है और हम सभी मां दुर्गा के नौ अवतारों से भेंट करने के लिए तत्पर हैं। हालाँकि कुछ ऐसे व्यक्तित्व भी हैं जो हमें हर रोज़ मिलते हैं, विशेष तौर पर अपने-अपने ऑफिस में-जिनके भाव हमारी दुर्गा मां के ही समान हैं। आइए, मिलवाती हूं अपने ऑफिस के ...
7
8
दुनिया के प्रजातांत्रिक मुल्कों का ध्यान इस समय भारत की कथित आर्थिक तरक्‍की पर नहीं, बल्कि इस बात पर है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मई 2014 में सत्ता में आने के बाद पहली बार इतने निर्णायक तरीक़े से राजनीतिक चुनौती मिल रही है और सत्तारूढ़ दल में ...
8
8
9
प्यारी बेटियों, ढेर सारे प्यार के साथ तुम्हें पुत्री दिवस की शुभकामनाएं, पर बधाई नहीं, क्योंकि अभी हासिल नहीं हो पाया है अपने जीवन का सार। हो रही दुर्घटनाएं, हादसे, अपराध भयावह हैं। समाज की कुंठा जनित घृणा का शिकार हम ही होती आईं हैं। पर भूलना मत ...
9
10
वाराणसी जिला न्यायालय द्वारा ज्ञानवापी मस्जिद मामले को सुनवाई के योग्य मानने को गलत बताने वाले न्यायालय को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। वास्तव में यह महत्वपूर्ण फैसला है। सामान्य तौर पर देखें तो कहा जा सकता है कि इतने सघन विवाद ...
10
11
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत ने हमेशा ही अपने भाषणों में देश की प्रगति के लिए सांप्रदायिक सौहार्द और सद्भाव के माहौल को पहली आवश्यकता बताया है। गौरतलब है कि विगत दिनों उन्होंने ज्ञानवापी मस्जिद विवाद पर दो टूक लहजे में कहा था कि ...
11
12
सांस्कृतिक संवाद केवल दो देशों के बीच ही नहीं, दो भाषाओं के बीच भी बढ़ना चाहिए और उसके लिए सबको प्रयास करना चाहिए। लोकमान्य बाळ गंगाधर टिळक का सही नाम दुनिया को बताने का यही सही समय है। आंबेडकर को अंबेडकर मत लिखिए, होळकर को होलकर, माळवा को मालवा और ...
12
13
स्वदेशी विमानवाहक पोत 'आईएनएस विक्रांत' के जलावतरण के बाद विदेशी समाचार पत्रों ने लिखा- 'यह भारत के लिए गर्व का क्षण है कि उसने एक स्वदेशी विमानवाहक पोत का निर्माण किया। भारत आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है और उसने दिखा दिया है कि वह एक प्रमुख वैश्विक ...
13
14
एक, गुलामी का प्रतीक चिन्ह यानी राजपथ इतिहास हो गया है और कर्तव्य पथ के रूप में नए इतिहास का सृजन हुआ है। दो, राजपथ का आर्किटेक्चर और भावना गुलामी के प्रतीक थे। अब इसका आर्किटेक्चर भी और आत्मा भी बदली है। तीन, देश के सांसद, अधिकारी, मंत्री जब यहां ...
14
15
हिंदी के जाने-माने तकनीक विशेषज्ञ बालेन्दु शर्मा दाधीच ने इस दिशा में एक मुहिम छेड़ी है, जिसे नाम दिया है- ‘हम हिंदी मीडियम’। उनकी कोशिश है कि हिंदी भाषियों को नए तथा आधुनिक कौशलों से लैस किया जाए ताकि वे नए अवसरों का लाभ उठाएं और खुद भी अवसर पैदा ...
15
16
यह मौसमी बुखार या वायरल का दौर है, जो हर साल आता है, लेकिन इस बार यह कुछ ज्‍यादा खतरनाक है, आमतौर पर तीन दिनों में बुखार उतर जाता है और मरीज सामान्‍य हो जाता है, लेकिन इस बार बुखार की वजह से लोगों को अस्‍पतालों में भर्ती होना पड़ रहा है। कमजोर ...
16
17
17 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 72 वर्ष के हो रहे है। 72 वर्ष के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज भारतीय राजनीति के धूमकेतु की तरह चमकते वह सियासी सितारे है जिनके व्यक्तित्व के बराबर कोई भी दूसरा शख्स सियासी फलक पर नजर नहीं आता है। लगभग 21 वर्ष ...
17
18
14 September 2022, Hindi day भारत देश में 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान लागू हुआ था। बावजूद इसके आज तक हिंदी को राष्ट्रभाषा का दर्जा नहीं मिल पाया है। आइए यहां पढ़ें हिंदी दिवस 2022 पर खास जानकारी और जानिए क्यों गर्व होना चाहिए हमें हिंदी भाषा ...
18
19
हिंदी दुनिया में अंग्रेजी, चीनी और मंदारिन के बाद सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है। यह अंतर्राष्ट्रीय संपर्क की भाषा बनें, इसके लिए हमें इसे अपने देश में अधिक प्रतिष्ठा और सम्मान दिलाना होगा। हिंदी दिवस पर यही संकल्प हमारे जीवन का पाथेय बने, यही ...
19