मिशन 2023: बुजुर्गों के साथ मुख्यमंत्री और मंत्री करेंगे तीर्थ, हवाई यात्रा की भी सुविधा, CM कन्या विवाह योजना में E-Voucher देने पर विचार

Author विकास सिंह| Last Updated: शनिवार, 26 मार्च 2022 (14:36 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। मध्यप्रदेश में 2023 के विधानसभा चुनाव को लेकर जीत का रोडमैप तैयार करने के लिए शिवराज सरकार अब एक्शन मोड में आ गई है। विधानसभा चुनाव से करीब पौने दो साल पहले सरकार के कामकाज में और कसावट लाने के लिए मुख्यमंत्री आज से पचमढ़ी मंत्रिपरिषद की दो दिवसीय चिंतन बैठक कर रहे है।



आज चिंतन बैठक की शुरु करते हुए अपने संबोधन में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि “प्राकृतिक वातावरण में बिना किसी आडंबर के हम गंभीर चिंतन करेंगे, कल शाम तक हमारा चिंतन चलेगा और लगातार हमको सोचना भी है फैसले भी करने हैं गहराई से चिंतन होगा और निश्चित तौर पर इस चिंतन मंथन से जो अमृत निकलेगा, उसको हम जनता के बीच बाटेंगे, जनता के कल्याण के लिए, प्रदेश के विकास के लिए इसका उपयोग करेंगे। इसलिए मेरा कहना है कि 2 दिन सारी चिंताएं छोड़ कर कॉन्स्टिटुएंसी में क्या हो रहा है, क्षेत्र में क्या हो रहा है, दुनिया में क्या हो रहा है। वह सब ठीक-ठाक हो जाएगा उसकी चिंता ना करें। हम शरीर मन बुद्धि और आत्मा यही केंद्रित करें, मैं प्रारंभ में एक बात कहना चाहता हूं। और वह आप गहराई से आत्मसात कर ले”।
मुख्यमंत्री और मंत्री करेंगे तीर्थ, दर्शन के लिए हवाई यात्रा की सुविधा- चिंतन शिविर की पहली बैठक में कोरोना के चलते बंद मुख्यमंत्री तीर्थ दर्शन योजना को अप्रैल से शुरु करने का निर्णय लिया गया। अप्रैल में गंगा स्नान, काशी कारीडोर, संत रविदास और कबीरदास के स्थलों के दर्शन के साथ योजना शुरु होगी। इसके साथ तीर्थ दर्शन यात्रा में मुख्यमंत्री सहित अन्य मंत्री भी ट्रेन में तीर्थ यात्रियों के साथ जायेंगे। ट्रेन में बोगी में स्पीकर सिस्टम के माध्यम से तीर्थ स्थलों की विस्तृत जानकारी दी जाएगी। इसके साथ तीर्थ दर्शन यात्रा के कुछ स्थलों को हवाई तीर्थ दर्शन यात्रा से भी जोड़े जाने का फैसला किया गया है।

मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजनाचिंतन शिविर में दूसरी बैठक में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना पर विस्तृत चर्चा हुई जिसमें मुख्यमंत्री की ओर E-Voucher दिए जाने का सुझाव दिया गया है। वहीं बैठक में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने योजना में अपात्र लोग लाभ न ले पाएँ और खरीदी पारदर्शी तरीके से हो इसको सुनिश्चित करने का सुझाव दिया। वहीं मंत्री सुरेश धाकड़ ने बारात का स्वागत जनप्रतिनिधि और बेटी की विदाई विधायक

करें इसका भी सुझाव दिया। बैठक में मुख्यमंत्री कन्या योजना को अप्रैल महीने से फिर से शुरु करने का निर्णय लिया गया।

बैठक में सरकार के बाकी बचे कार्यकाल में विकास की गति को तेज करने के लिए जन कल्याणकारी योजनाओं के साथ-साथ रोजगार की संभवानाओं और आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के रोडमैप पर चर्चा होगी। चिंतन बैठक को लेकर सरकार के प्रवक्ता और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत के सपने को साकार करने के किए प्रदेश की भाजपा सरकार आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के एजेंडे पर काम कर रही है जन हितैषी योजनाओं को लेकर गठित किए गए मंत्री समूह के प्रजेंटेशन पर पचमढ़ी में चर्चा की जा रही है।



और भी पढ़ें :