सरकार के इस बड़े फैसले के बाद मध्यप्रदेश में घर का सपना होगा साकार

सरकार ने स्टांप ड्यूटी पर सेस घटाकर एक फीसदी किया

Author विकास सिंह| पुनः संशोधित सोमवार, 7 सितम्बर 2020 (19:34 IST)
हमें फॉलो करें

भोपाल। कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन का सबसे बुरा असर रियल एस्टेट सेक्टर पर पड़ा है। लॉकडाउन खुलने के बाद भी प्रॉपर्टी की बिक्री लगभग बंद है। ठप्प पड़ चुके रियल एस्टेट सेक्टर को फिर से पटरी पर लाने के लिए शिवराज सरकार ने बड़ा फैसला किया है।


सरकार ने रियल एस्टेट में खरीद-बिक्री पर स्टॉप ड्यूटी पर सेस तीन फीसदी से घटाकर एक फीसदी कर दिया है। इस बड़े फैसले की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि हर मध्यमवर्गीय परिवार का एक सपना होता है कि उसका अपना एक घर हो। कोविड काल में आर्थिक गतिविधियां लॉकडाउन के कारण लगभग समाप्त हो गई थी जिसका रियल एस्टेट व्यवसाय पर बहुत विपरीत प्रभाव पड़ा था। लोगों की वित्तीय क्षमता सीमिति होने के चलते संपत्तियों का क्रय विक्रय प्रभावित हुआ था।
रियल एस्टेट सेक्टर में फिर से कैसे बूम आए इसलिए सरकार ने नगरीय क्षेत्रों में प्रॉपर्टी की खरीदी और बिक्री पर स्टॉफ ड्यूटी पर सेस तीन फीसदी घटाकर एक फीसदी किया गया है। यह छूट 31 दिसंबर तक जारी रहेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 की परिस्थितियों में आर्थिक गतिविधियां बढ़ाना आवश्यक था, इसलिए अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सरकार ने बड़ा फैसला किया है।





और भी पढ़ें :