कथावाचकों की महिलाओं पर होती है गंदी नजर,भाजपा नेता प्रीतम लोधी के बयान पर मचा बवाल

विशेष प्रतिनिधि| Last Updated: गुरुवार, 18 अगस्त 2022 (19:47 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। मध्यप्रदेश में भाजपा नेताओं को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। सेमरिया विधायक केपी त्रिपाठी के बाद अब पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के रिश्तेदार भाजपा नेता प्रीतम लोधी के बिगड़े बोले समाने आए है। एक सार्वजनिक कार्यक्रम में भाजपा नेता
प्रीतम लोधी ने कथावाचकों और ब्राह्मणों के खिलाफ विवादित टिप्पणी की।

प्रीतम लोधी ने मंच से कथावाचकों पर निशाना साधते हुए कहा कि कथा के दौरान रोजाना 7-8 घंटे पागल बनाते है। कहते हैं कि अगर तुम दान करोगे तो भगवान तुमको देगा। महिलाएं इनकी बातों में आ जाती है और दूध,घी, दही अपने बच्चों को खिलाने के जगह इनको दे दे देती है। भाजपा नेता ने कहा कि कथा के दौरान कथावाचक 20 से 30 साल की महिलाओं को आगे बैठाते है, इसके बाद उनको नचवाते है और उपर बैठकर अपना आनंद लेते है। इसके साथ कथावाचक सुंदर महिलाओं का नाम पुकारते है और महाराज जी उनके घर भोजन करने जाते है। भोजन के दौरान महाराज की नजर कहीं और ही होती है।

भाजपा संगठन नाराज, FIR दर्ज-भाजपा नेता प्रीतम लोधी के इस बयान पर भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने नाराजगी जातते हुए उन्हें स्पष्टीकरण देने के लिए भोपाल तलब किया है। भाजपा ने प्रीतम लोधी के बयान को समाज में वैमनस्यता फैलाने वाला बताया है। वहीं भाजपा नेता प्रीतम लोधी पर शिवपुरी के रनौद थाने में FIR दर्ज कर ली गई है।

भाजपा पर हमलावर हुई कांग्रेस-वहीं भाजपा नेता के बयान पर कांग्रेस हमलावर हो गई है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट कर लिखा कि भाजपा की समाज के बारे में घटिया सोच एक बार फिर आयी सामन। पूर्व में भाजपा के प्रदेश प्रभारी ब्राह्मण समाज को अपनी जेब में बता चुके है और अब उमा भारती जी के करीबी भाजपा नेता प्रीतम लोधी के ब्राह्मण समाज और कथावाचको के प्रति इतने आपत्तिजनक विचार बेहद शर्मनाक।

ब्राह्मण समाज ने खोला मोर्चा-प्रीतम लोधी के इस बयान पर प्रदेश की सियासत में
हंगामा मच गया है। ब्राह्मण समाज ने मांग की है कि प्रीतम लोधी को बीजेपी से निष्कासित किया जाए। ब्राह्मण समाज और सर्व समाज ने ग्वालियर पुलिस अधीक्षक के कार्यालय जाकर लोधी के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने की मांग की है. ब्राह्मण समाज ने चेतावनी दी है कि अगर प्रशासन ने इस मामले में कार्रवाई नहीं की तो बड़े स्तर पर आंदोलन करेंगे।

प्रीतम लोधी ने दी सफाई- वहीं बयान पर बवाल मचने के बाद अब प्रीमत लोधी ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट करे जरिए अपनी सफाई दी है। उन्होंने कहा कि यह बातें उन्होंने आसाराम, मिर्ची बाबा और राम-रहीम जैसे लोगों के बारे में कही थी। उन्होंने कांग्रेस पर वीडियों में कांट-छांट का वीडियो वायरल करने का आरोप लगाया।




और भी पढ़ें :