ज्ञानवापी के बाद भोपाल की जामा मस्जिद में शिव मंदिर होने का दावा, हिंदू संगठन ने मस्जिद के सर्वे की उठाई मांग

Author विकास सिंह| Last Updated: गुरुवार, 19 मई 2022 (20:06 IST)
हमें फॉलो करें
भोपाल। वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे में शिवलिंग मिलने के दावे के बाद अब राजधानी के चौक स्थित में होने का दावा किया गया है। जामा मस्जिद के सर्वे करने की मांग को लेकर हिंदू संगठन ने आज गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को ज्ञापन सौंपा। वहीं संस्कृति बचाओं मंच की ओर से जिला कोर्ट में याचिका दायर कर मस्जिद के सर्वे कराने की बात भी कही गई है।


संस्कृति बचाओ मंच ने आज गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा को ज्ञापन सौंपकर जामा मस्जिद के सर्वे कराने की मांग की। संस्कृति बचाओ मंच ने अपने ज्ञापन में चौक बाजार स्थित जामा मस्जिद में शिव मंदिर होने का दावा करते हुए पुरातत्व विभाग से सर्वेक्षण कराने की मांग की है। संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी ने कहा कि भोपाल की आठवीं शासिका कुदेशिया बेगम ने अपनी आत्मकथा हयात ए कुदीस में यह उल्लेख किया है कि भोपाल की जामा मस्जिद में शिव मंदिर तोड़कर मस्जिद का निर्माण कराया गया।

इसके साथ उन्होंने यह भी उल्लेख किया है कि इस मस्जिद का निर्माण 1832 ईसवी में प्रारंभ होकर 1857 ईसवी में पूर्ण हुआ और इसके निर्माण पर 5 लाख की लागत आई। चंद्रशेखर तिवारी कहते हैं कि कुदेशिया बेगम ने यह भी उल्लेख किया कि यहां पर एक विशालकाय शिव मंदिर था जिससे कि तोड़कर और मस्जिद का निर्माण किया गया है। संस्कृति बचाओ मंच ने गृहमंत्री को ज्ञापन देकर जामा मस्जिद के पुरातत्व विभाग से सर्वेक्षण की मांग की है।

दिग्विजय सिंह का बयान–

भोपाल की जामा मस्जिद में शिव मंदिर होने के दावे पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने देश में महंगाई और बेरोजगारी जैसे मुद्दो से ध्यान भटकाने के लिए ज्ञानवापी और भोपाल की जामा मस्जिद जैसे विवाद उठाए जा रहे है।




और भी पढ़ें :