मध्यप्रदेश के टॉप 5 टूरिस्ट स्पॉट

Madhya Pradesh Tourism
भारतीय राज्य मध्यप्रदेश में देखने के लिए कई प्राकृतिक और तीर्थ स्थानों के साथ ही कई ऐतिहासिक स्थल भी मौजूद है। यहां देखने के लिए तो सैंकड़ों स्थल परंतु आपके लिए हम लाएं हैं 5 ऐसे खास स्थान जहां घूमने के दौरान आप और भी कई स्थानों का दौरा कर सकते हैं।

1. पचमढ़ी : होशंगाबाद जिले में स्थित पचमढ़ी मध्यप्रदेश का एकमात्र हिल स्टेशन है जिसे मध्यप्रदेश का श्रीनगर और स्विट्जरलैंड भी कहा जाता है। रोमांटिक स्थलों में यह टॉप पर है। ऊंचे ऊंचे पहाड़, झील, झरने, गुफाएं, जंगल सभी कुछ हैं यहां पर।
2. : जबलपुर के पास भेड़ाघाट बहुत ही शानदार जगह है। दो सफेद पहाड़ों के बीच नर्मदा नदी बहती है। नर्मदा में नौका-विहार करने का रोमांच ही कुछ और है। यहां की खासियत है वॉटर फाल अर्थात जल प्रपात। बहुत ऊंचाई से गिरते धुंआ धुंआ से झरने को देखना आनंददायक होता है।
3. मांडू : इंदौर के पास विंध्याचल की खूबसूरत पर्वतमालाओं के बीच 2000 फीट की ऊंचाई पर बसा मांडू मालवा के परमारों द्वारा शासित रहा है। यहां पर राज महाराजों के महल, बावड़ी, तालाब आदि देख सकते हैं। यहां पर प्राकृतिक सुंदरता भी भरपूर है।
4. खजुराहो : मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित विश्वप्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो अपने मंदिरों के लिए प्रसिद्ध। खजुराहो शिल्प के अलावा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर लोकप्रिय नृत्य समारोह के लिए भी आकर्षण का केंद्र है। इन विश्व प्रसिद्ध मंदिरों का निर्माण चंदेल राजाओं ने सन् 950-1050 के बीच करवाया था। पहले इसका नाम 'खर्जुरवाहक' था। 1986 में यूनेस्को द्वारा इन मंदिरों को 'विश्व धरोहर स्थल' घोषित कर रखा है।
5. कान्हा राष्ट्रीय उद्यान : एशिया के सबसे सुरम्य और खूबसूरत वन्यजीव रिजर्वों में से एक है कान्हा राष्ट्रीय उद्यान। यहां काला हिरण, बारहसिंगा, सांभर और चीतलों को एकसाथ देखा जा सकता है। इसके अलावा यहां बाघ, तेंदुआ, चीतल, नीलगाय, जंगली सूअर, गौर, भैंसे, सियार आदि हजारों पशु और पक्षियों का झुंड है। मंडला और जबलपुर शहर से सड़क मार्ग द्वारा 'कान्हा राष्ट्रीय उद्यान' तक पहुंचा जा सकता है।

नोट : उपरोक्त पर्यटने के दौरना आप ओरझा, अमरकंटक, ओमकारेश्वर, उज्जैन, महेश्वर, मंडलेश्वर, मोहनखेड़ा, नेमावर, ग्वालियार, भोपाल, देवास, इंदौर, होशंगाबाद, शिवपुरी, भुवनेश्वर, भीमबेठका, सांची, चित्रकूट, आदि कई ऐतिहासिक स्थानों पर घूम सकते हैं।


(photo : MP Tourism)



और भी पढ़ें :