जानिए इंदौर और आसपास के प्राकृतिक स्थल, वाटर फॉल, पिकनिक स्पॉट सब एक साथ

अनिरुद्ध जोशी| Last Updated: मंगलवार, 5 जुलाई 2022 (07:12 IST)
हमें फॉलो करें
Places To Visit In Indore: देश में स्वच्‍छता में नंबर वन इंदौर शहर और उसके आसपास के प्राकृतिक स्थल, वाटर फॉल और पिकनिक स्पॉट बहुत सारे हैं। यदि बात करें इंदौर शहर की तो यहां के प्रसिद्ध स्थान है राजबाड़ा, गोपाल मंदिर, लाल बाग पैलेस, खजराना गणेश मंदिर, बिजासन माता का मंदिर टेकरी, पितृ पर्वत, गोम्मट गिरी, हींकार गिरी, देवगुराड़िया पहाड़ी, सिरपुर तलाब, बिलावली तालाब, यशवंत सागर, पिपल्याहाला तालाब, पुरातत्व संग्रहालय, चिड़ियाघर, पक्षी विहार, लालबाग, मल्हारी मार्तण्ड मंदिर, हरसिद्धि, छत्रीबाग साई मन्दिर, कांच मंदिर, खजराना गणपति, बड़ा गणपति मंदिर, कालिका मंदिर, मेघदूत गार्डन, रिजनल पार्क, नेहरू पार्क आदि कई स्थान ऐसे हैं जो इंदौर के अंदर ही है।


इंदौर के झरने Indore Waterfalls:
1. पातालपानी : पातालपानी जलप्रपात इंदौर जिले की महू तहसील में स्थित है। यहां लगभग 300 फीट ऊंचाई नीचे जल गिरता है। पातालपानी के आसपास का क्षेत्र बहुत ही सुंदर और हराभरा है। यह एक लोकप्रिय पिकनिक और ट्रेकिंग स्पॉट भी है। यहां के लिए महू से स्पेशल ट्रेन चलती है। इंदौर से लगभग 36 किलोमीटर दूर है यह स्थान। पास में ही कलाकुंड पिकनिक स्पॉट भी है।
2. गंगा महादेव मंदिर : इंदौर के पास धार जिले में तिरला विकासखंड के सुल्तानपुर गांव में गंगा महादेव मंदिर स्थित है जो इंदौर के लोगों के लिए एक दर्शनीय स्थल के साथ ही पिकनिक स्पॉट भी है। गंगा महादेव में सुन्दर झरना बहता है और यहां की प्राकृतिक छटा देखते ही रह जाओगे।

3. तिंछा फॉल : यह मुख्‍य इंदौर से लगभग 25 किलोमीटर दूर नेमावर-मुंबई रोड़ पर स्थित है। यह भी भी बहुत ऊंचाई से झरना गिरता है। इंदौर के लोगों के लिए यह सबसे खास डेस्टिनेशन है। सिमलोल मेन रोड़ से 9 किलोमीटर अंदर है तिंचा फॉल।
4. शीतला माता फॉल : इंदौर से करीब 55 किलोमीटर दूर यह स्थान है। मानपुर से यह जगह 3 किलोमीटर जानापावा की जगह है। यहां दो झरने हैं एक जरा ज्यादा रिस्की है।

5. कजलीगढ़ : इंदौर से लगभग 25 किलोमीटर दूर उत्तर सिमरोल से यहां के लिए रास्ता जाता है। यहां झरने, पहाड़ और प्राचीन किले देखे जा सकते हैं। यहां एक शिव मंदिर भी है।
6. सीतलामाता फॉल : इंदौर से करीब 40 किलोमीटर दूर मानपुर से करीब 5 किलोमीटर अंदर बहुत ही सुंदर वाटरफॉल है जिसे सीतलामाता फॉल कहा जाता है। यह बहुत ही सुंदर और प्राकृतिक नजारों से भरपूर स्थान है।

7. जोगी भड़क : इंदौर से 55 किलोमीटर और मानपुर से 10 किमी दूर जोगी भड़क नामक एक पहाड़ी है जहां से बहुत ऊंचाई से झरना गिरता है। यहां अंग्रेजी के एस के आकार का झरना गिरता है। ट्रैकिंग करने वालों से लिए यह पसंदीदा जगह है। यह बहुत ही मनोरम स्थल है। मानपुर घाट क्रास करते ही ढाल गांव आएगा, जहां से पश्चिम में एक कच्चा रास्ता जाता है। करीब एक किलोमीटर अंदर यह सुंदर जगह है।
8. हत्यारी खोह : इंदौर से करीब 30 किलोमीटर दूर हत्यारी खो नामक स्थशन है, जहां ऊंचाई से गिरने वाला झरना और प्राकृतिक नजारे देखने के लिए लोग आते है। हालांकि यह खतरे वाली जगह है। कंपेल से होते हुए तेलीया खेड़ी में वाहन खड़ा करके करीब 2 किलोमीटर अंदर कच्चे रास्ते से आपको पैदल ही यहां पहुंचना होता है।

9. गिदिया खोह : इंदौर से करीब 45 किलोमीटर दूर डबल चौकी से सिवनी होते हुए आप यहां पहुंच सकते हैं। यहां काफी ऊंचाई से बहुत ही सुंदर दिखने वाला झरना गिरता है। प्राकृतिक नजारों से भरपूर यह स्थान कभी गिद्धों का स्थान हुआ करता था।
10. मुहाड़ी वाटरफॉल : इंदौर से करीब 26 किलोमीटर दूर यह झरना तिल्लोर बुजुर्ग नामक गांव के समीप एक ऊंची पहाड़ी से गिरता है। प्राकृतिक छटा से भरपूर इस स्थान को देखने के लिए सैंकड़ों लोग आते हैं। वर्षा ऋतु में यह स्थान और भी सुंदर हो जाता है।

11. बामनिया कुंड वाटरफॉल : बामनिया कुंड जलप्रपात एक अच्छा पिकनिक स्थल होने के साथ ही बेहद शांत और प्राकृतिक वातावरण से घिरा हुआ है। लोग यहां कैंपिंग के लिए भी आ सकते हैं और साथ ही झरने के मनमोहक नजारों का आनंद भी ले सकते हैं।

12. अन्य स्थान : इसके अलावा अम्बाझार, जूनापानी, काली किराय, चिड़िया भड़क और मेहंदी कुंड भी देखने लायक स्थान है।
इंदौर के जंगल और प्राकृतिक स्थल Forests and natural places of Indore:
1. गुलावत : इंदौर जिले की हड़ौद तेहसिल में लोटस वैली के नाम से प्रसिद्ध इस स्थान पर भी आप घूमने जा सकते हैं। यहां लाखों कमल के फूल एक झील में खिलते हुए देख सकते हैं। यह स्थान भी शहर से लगभग 35 किलोमीटर दूर है। एरोड्रम रोड से सीधे यहां पहुंच सकते हो।

2. रालामंडल अभयारण्य : इंदौर शहर से 12 किलोमीटर की दूरी पर स्थित रालामंडल अभयारण्य इंदौर शहर की एक शानदार जगह है, जो चारों तरफ से जगलों से घिरी हुई है। यहां पर पर्यटक को लुभाने के लिए डियर पार्क बनाया गया है। डियर पार्क में आप सफारी का मजा ले सकते हैं।
3. चोरल नदी डेम : खंडवा रोड के आगे जोरल गांव है जहां पर थोड़ी दूरी पर ही चोरल नदी बहती है। यहां रिसॉर्ट है और साथ ही आप यहां बोटिंग का मजा भी ले सकते हैं।

4. वाचू पॉइंट : इंदौर से लगभग 65 किलोमीटर दूर वाचू पॉइंट है जहां से मालवा का पठार प्रारंभ होता है। बारिश के मौसम में यहां पहाड़ियों के बीच से गुजरते बादलों को देखना बहुत ही सुंदर लगता है। यह हिल स्टेशन है। यहां मानपुर होते हुए पहुंचा जा सकता है।इसी तरह एक जगह है जिसे जामगेट कहते हैं।

5. जानापाव : इंदौर से करीब 40 किलोमीटर दूर महू शहर से करीब 17 किमी दूर विंध्याचल पर्वतमाला के एक पर्वत को जानापावा कहते हैं। यहां की सबसे ऊंची चोटी पर स्थित भगवान परशुराम की जन्मस्थली और उनके पिता महर्षि जमदग्रि की तपोभूमि को देखने लोग आते हैं। जानापाव, इंदौर की महू तहसील के हासलपुर गांव में स्थित है। जानापाव की पहाड़ी से साढ़े सात नदियां निकली हैं, इनमें कुछ यमुना व कुछ नर्मदा में मिलती हैं।
6. माण्डू : मांडू या माण्डव प्राकृतिक स्थल के साथ ही एक पुराने स्मारकों और महलों के लिए भी प्रसिद्ध है। यहां पर आप जहां पिकनिक का मजा ले सकते हैं वहीं प्राकृतिक दृश्यों के साथ ही ऐतिहासिक स्मारकों को भी देख सकते हैं।
dewas tekri
dewas tekri
इंदौर के आसपास के दर्शनीय स्थल Indore Sightseeing:
1. देवास टेकरी : इंदौर से लगभग 35 किलोमीटर दूर देवास नगर में माताजी की एक छोटी सी पहाड़ी है। यहां पर आप घूमने, दर्शन करने के साथ ही पिकनिक का मजा भी ले सकते हैं। देवास से 5 किलोमीटर दूर शंकरगढ़, नागदाह और बिलावली नामक स्थान भी घूमने और पिकनिक के लिए आदर्श स्थान है। यहां पर पहाड़ी पर जाने के लिए आप ट्राम का मजा भी ले सकते हो।

2. महाकाल ज्योतिर्लिंग : इंदौर से करीब 60 किलोमीटर दूर 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक बाबा महाकाल का विश्‍व प्रसिद्ध ज्योतिर्लिंग तीर्थ नगरी उज्जैन में स्थित है। यहां क्षिप्रा नदी बहती है। ज्जैन एक बहुत ही सुंदर शहर है जहां पर हरसिद्धि शक्तिपीठ, गढ़कालिका शक्तिपीठ और काल भैरव का प्राचीन मंदिर है। यहां पर सप्त सागर भी है। यहां घुमने के लिए कई स्थान हैं। उज्जैन में कई पिकनिक स्पॉट है, जैसे कालियादेह पैलेस, विष्णु सागर आदि।
3. ओमकारेश्वर, महेश्वर, मंडलेश्वर : इंदौर के पास ही लगभग 110 किलोमीटर दूर नर्मदा नदी के किनारे ॐकारेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन करने के साथ ही माता नर्मदा के दर्शन भी कर सकते हैं। यहां पास में ही रानी अहिल्याबाई का शाहर महेश्‍वर भी है और प्राचीन मंडलेश्वर धाम भी है।

5. नेमावर : इंदौर से 110 किलोमीटर दूर नर्मदा नदी के किनारे स्थित नेमावर एक बहुत ही प्राचीन और प्राकृतिक स्थल है। यहां पर पांडवों के काल का विशालकाय शिव मंदिर है। इस स्थान पर नर्मदा नदी का नाभि स्थल है। यहां पर नदी में एक ऐसा भवंर है जिसके आसपास कोई नहीं जाता है। कहते हैं कि यहां से पानी नीचे पाताल में चला जाता है। नेमावर नदी के उस पार प्राचीन हरदा नामक कस्बा है। इस क्षेत्र में उदयपुरा के जंगल है।

7. अन्य स्थल : इसके अलावा केवडेश्वर, उज्जैनी, ओखलेश्वर, सिद्धवरकूट, जयंती माता बड़ी, काटकूट, जयंती माता छोटी, च्यवन ऋषि आश्रम, कश्यप मुनि आश्रम आदि कई धार्मिक स्थल है।
इंदौर के पिकनिक स्पॉट Picnic Spots of Indore:
1. पिपलियाहाना रीजनल पार्ट : इंदौर में ही पारिवारिक पिकनिक के लिए हरे-भरे हरियाली से घिरी झील के साथ ही आपको यहां पर सुकून का अहसास होगा। यहां का सुंदर गार्डन और प्रकृति आपको लुभाएगी। यह इंदौर का सुंदर पार्क है। इसी तरह के दो पार्क और है जिन्हें नेहरू पार्क और मेघदूत गार्डन कहते हैं। हालांकि यहां पर झील नहीं है लेकिन सुंदर गार्डन है।

2. सिरपुर तालाब : करीब 800 एकड़ में फैले यहां बहुत ही सुंदर विशालकाय तालाब के आसपास आप परिवार के सात पिकनिक मना सकते हैं। यहां पर विशेष मौसम में हजारों प्रवासी अप्रवासी पक्षियों को डेरा रहता है जिन्हें देखने के लिए दूर दूर से लोग आते हैं। यहां पर पक्षियों की लगभग 150 विभिन्न प्रजातियां निवास करती हैं।

3. गोम्मट गिरी और पितृ पर्वत : यह स्थान पास पास ही है। एक छोटी सी पहाड़ी पर जहां जैन मंदिर है वहीं दूसरी पहाड़ी पर हनुमानजी की विशालकाय प्रतिमा है और मंदिर है। यहां पर दर्शन के साथ ही पिकनिक का आनंद लिया जा सकता है।

4. देव‍गुराडिया : देवगुराडिया में एक पहाड़ी है जहां पर प्राचीन शिव मंदिर में लोग दर्शन करने आते हैं। हरे भरे इस स्थान पर कई लोग पिकनिक मनाने भी जाते हैं।
5. कमला नेहरू प्राणी संग्रहालय : शहर में ही बसे इस चिढ़ियाघर को और यहां पर स्थित पक्षी विहार को देखना अद्भुत है। यहां पर सुंदर गार्डन में बैठकर पिकनिक मनाई जा सकती है।

6. तफरीह एग्रो पार्क, सोमानीपुरम, चौखीढाणी, नखरालीढाणी: यह सभी ऐसी जगहे हैं जहां पर आप परिवार के साथ पिकनिक के साथ ही और भी कई तरह के मनोरंजन और एक्टिविटी का आनंद ले सकते हैं। यहां बने स्पेशल भोजन का आनंद भी उठाया जा सकता है।
7. उज्जैनी- हनुमांतिया : यह एक नया स्पॉट बना है, जिसे नर्मदा-क्षिप्रा संगम-स्थल भी कहा जाता है। नर्मदा-क्षिप्रा लिंक योजना के अंतर्गत नर्मदा-क्षिप्रा के संगम-स्थल के समीप ग्राम मुण्डला दोस्तार (उज्जैनी) में स्थित है। यहां स्नान करने के लिए सुन्दर घाट बना हुआ है। हनुवंतिया इंदिरा सागर बांद नदी में स्थित द्वीपसमूह में से एक है। हनुमंतिया द्वीप विकास निगम द्वारा विकसित किया गया है। पिकनिक के लिए साहसिक गतिविधियां, रिसॉर्ट और पानी से घिरा हुआ यह एक आदर्श स्थान है। जल महोत्सव के दौरान, यह जगह लोगों से भरी होती है और रंग-बिरंगी पतंगें और गर्म हवा के गुब्बारे में घूमने का लुप्‍त भी उठाया जा सकता है।



और भी पढ़ें :