वोट न देने के अधिकार की माँग

देहरादून (भाषा)| भाषा|
चिपको और शराब विरोधी आंदोलन से जुड़े संगठन उत्तराखंड लोकवाहिनी ने से की है।


वाहिन‍ी ने प्रदेश के जंगलों में लगी आग के बारे में सरकार के उदासीन रवैए पर भी रोष प्रकट किया है।

लोक वाहिनी के अध्यक्ष डॉ. शमशेर सिंह विष्ट ने निर्वाचन आयोग को एक ज्ञापन भेजकर माँग की है कि सारे उम्मीदवारों के नाम के बाद 'उपरोक्त में से कोई नहीं' का भी एक स्तंभ होना चाहिए जिसमें वोट देकर मतदाता एक साथ सारे उम्मीदवारों को खारिज कर सकें।

विष्ट ने आयोग को राय दी है कि ऐसा करने से मतदान का प्रतिशत बढ़ेगा और धीरे-धीरे अपराधी और बाहुबली राजनीति से बाहर हो जाएँगे। उन्होंने कहा कि जब तक अयोग्य उम्मीदवारों को खारिज करने की यह व्यवस्था नहीं की जाती तब तक आपको जैसे भी हो उन्हीं उम्मीदवारों से अपना चुनाव करना पड़ेगा।


विष्ट ने कहा कि जंगलों में आग लगी है और राजनीतिक दलों का ध्यान आग बुझाने पर नही बल्कि चुनाव पर है।



और भी पढ़ें :