0

लोकतंत्र के सलीब पर साइबर जासूसी की कील!

शुक्रवार,जुलाई 23, 2021
0
1
संस्कृत भाषा को संसार की प्रथम भाषा और ऋग्वेद को प्रथम ग्रंथ माना जाता है। दुनिया की प्रथम भाषा का पहली बार किसी ने सुव्यवस्थित व्याकरण ग्रंत लिखा था तो वह थे महर्षि पाणिनि। उन्होंने अष्टाध्यायी नामक ग्रंथ लिया। आओ जानते हैं इस ग्रंथ के बारे में।
1
2
गुरु पूर्णिमा के पावन अवसर पर प्रस्तुत है संत कबीर के गुरु पर रचे दोहे
2
3
भारत में प्रेरक कहानियों के मामले में जातक कथा, पंचतंत्र, तेनालीराम, बेताल पच्चीसी, बिक्रम वेताल, सिंहासन बत्तीसी आदि कई प्रेरक कहानी संग्रह मौजूद हैं। उन्हीं में से एक कहानी यहां प्रस्तुत है।
3
4
यूसुफ भाई की बहनों और भाइयों के लिए अब्बास, 'चाचा बाछो', पाली हिल पर उनके विशाल घर के अंदर और बाहर बेझिझक आ जा सकते थे। मुझे उनके साथ वहां जाना अच्छा लगा और मुझे उनकी तीसरी बहन अख्तर के रूप में अपना सबसे अच्छा दोस्त मिला। मुझे वे सभी पसंद थे, आपा ...
4
4
5
कोरोना ने अभी गति को विराम दे दिया है। विशेषतौर पर मनुष्‍य को एवं मनुष्‍य द्वारा नियंत्रित गतिविधियों, उपकरणों, यंत्रों, मशीनों साधनों को भी। कुछ वर्षों से मनुष्‍य की गति बहुत अधिक तीव्र हो गई थी। चारों तरफ भागमभाग, रेलपेल, हर काई तीव्र गति से भाग ...
5
6
इस फिल्म में अब्बास साहब ने अमिताभ बच्चन के लिए ‘लम्बू इंजीनियर’ का किरदार रचा गया था, लेकिन तब तक अमिताभ व्यस्त अभिनेता बन चुके थे, इसलिए उनकी जगह फिर किरण कुमार को फिल्म में लिया गया। किरण कुमार की वह पहली फिल्म बनी’, डॉ सईदा हमीद ने फिल्म ‘दो ...
6
7
जन्मदिन के एक दिन पहले, रौनक रिद्धि को डिनर पर ले गया, जहाँ वह पूरे समय अपने फ़ोन पर ही लगा रहा। खाना हो गया और दोनों घर आ गए। 12 बजे रात को बड़े बेमन से रौनक ने रिद्धि से केक कटवाया, जिससे रिद्धि उदास हो गई।
7
8
27 सफदरजंग, फिर ज्योतिरादित्य सिंधिया का निवास बन जाए तो चौंकिए मत। लुटियंस जोन की इस कोठी से सिंधिया परिवार का नाता बहुत पुराना है। माधवराव सिंधिया सालों इसी कोठी में रहे और सांसद बनने के बाद से 2019 का लोकसभा चुनाव हारने तक यही कोठी ज्योतिरादित्य ...
8
8
9
‘सादगी’ के नाम पर दिखावा करने वाले ये पढ़े-लिखे आधुनिक परिवार के लोग क्या कभी अपने खुद के बेटे की ख़ुशी की कीमत पैसे से आंकना छोड़ सकेंगे? क्या ये पढ़े-लिखे बड़े कॉलेजों से पढ़ने वाले लड़के अपने घर में अपना मुंह खोल कर बदलते हुए समाज और परिदृश्य का सच अपने ...
9
10
यह कहानी कई जगह पढ़ने को मिलती है। जिसने भी यह कहानी लिखी है बहुत ही सुंदर है। आओ जानते हैं कि आखिर यह प्रेरणादायक कहानी से हमें क्या सीख मिलती है।
10
11
क्या कभी मर्द अपनी पत्नी को आगे बढ़ता हुआ नहीं देखना चाहते? या प्रोत्साहित करने का दिखावा कर उन्हें घर बैठाना चाहते हैं? क्या ‘सपोर्ट’ के नाम पर उन्हें आर्थिक रूप से मजबूत होते देखना उनके अहम् को ठेस पहुंचाता है? ये सभी ‘कही-अनकही’ बातें हैं और इसका ...
11
12
जल्‍लादों का कहना था कि भले ही हमारा काम फांसी का फंदा लगाना है, लेकिन हम इस देशभक्‍त की मौत देने का पाप अपने हाथों से कतई नहीं करेंगे।
12
13
किसी राष्ट्र के प्रधानमंत्री होने के सुख और उसकी अनुभूति का शब्दों में बखान नहीं किया जा सकता। वह राष्ट्र अगर दुनिया के करीब दो सौ मुल्कों में सबसे ज़्यादा आबादी वाला प्रजातांत्रिक देश भारत हो तो फिर उसके प्रधानमंत्री के मुंह से निकलने वाला प्रत्येक ...
13
14
उत्तर प्रदेश में पिछले साढे चार साल से शासन कर रही भारतीय जनता पार्टी की सरकार और उसके मुखिया अजय सिंह बिष्ट उर्फ योगी आदित्यनाथ को अचानक इलहाम हुआ है कि प्रदेश की आबादी बेतहाशा बढ़ रही है जिसकी वजह से न तो सूबे का विकास हो पा रहा है और न ही ...
14
15
उत्तर प्रदेश विधि आयोग ने जब जनसंख्या नियंत्रण नीति का दस्तावेज जारी किया था तभी सूक्ष्मदर्शी यंत्रों से दोष निकालने वालों ने एक-एक शब्द छान मारा। उसमें किसी तरह के मजहब का कोई जिक्र नहीं था और योगी आदित्यनाथ द्वारा जार नीति वही है। इसमें दो से ...
15
16

Motivational Story : ईश्वर बचाएगा

रविवार,जुलाई 18, 2021
ओशो रजनीश अपने प्रवचनों में प्रेरक कहानियां सुनाते रहते हैं। एक बार उन्होंने एक साधु की कहानी सुनाई जो बड़ी ही मजेदार है। आप भी इस कहानी को पढ़ें। एक बार की बात है कि एक गांव में एक संत रहता था जो ईश्वर का बहुत बडा भक्त था और वह रोज उनका ध्यान करता, ...
16
17
एक शाम एक सम्राट अपने महल में प्रवेश कर रहा था तो उनने देखा की बड़े से द्वार पर एक बूढ़ा प्रहरी खड़ा है और पुरानी तथा पतली सी वर्दी उसने पहन रखी है और वह भी सर्दी के दिन में।
17
18
डॉ सीमा रायज़ादा (क्लब लिटराटी की प्रेजिडेंट और संस्थापक) इस मौके पर लेखिका से संवाद करेंगी और उनसे कैंसर जैसी बीमारी से लड़ने की कहानी को सबके सामने प्रेरणास्वरूप रखेंगी।
18
19
इमोजी सबसे तेजी से बढ़ती भाषाओँ में से एक हो गया है। इमोजी को शुरू में जापान में उपयोग किया जाता था और अब इसका इस्तेमाल पूरे विश्व में होने लगा है इमोजिपिडिया के संस्थापक जेरेमी बर्ज ने 2014 में विश्व इमोजी दिवस मनाने का निर्णय लिया, उसके बाद 17 ...
19