विराट ने जीत को बताया शानदार, दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ने बल्लेबाजों को कोसा

पुनः संशोधित गुरुवार, 30 दिसंबर 2021 (17:48 IST)
हमें फॉलो करें
सेंचुरियन: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका से पहला टेस्ट आज 113 रन से जीतने के बाद इसे एक शानदार शुरुआत बताया।

विराट ने मैच के बाद कहा,'हमें एक शानदार शुरुआत मिली। बारिश से एक दिन प्रभावित होने के बाद भी भी हमारी टीम ने बढ़िया खेल दिखाया। एक सीरीज़ के लिए यह शानदार शुरुआत है। जैसी पिच पर पहले बल्लेबाज़ी करना काफ़ी कठिन है और इसे बढ़िया तरीके से निभाना एक सकारात्मक बात थी। हमारे ओपनर्स काफ़ी बढ़िया थे। पहले दिन 270 रन बनाना हमारे लिए सबसे बढ़िया चीज़ थी।'

कप्तान ने कहा,'राहुल और मयंक ने हमारी जीत की राह को आसान बनाने का काम किया। शमी शायद अभी विश्व के सबसे बेहतरीन गेंदबाज़ों में से एक हैं। अगर मुझसे पूछा जाए कि अभी विश्व के तीन सबसे बढ़िया तेज़ गेंदबाज़ कौन है तो निश्चित तौर पर मैं उन तीन गेंदबाज़ों में शमी का भी नाम लूंगा।

हालांकि बतौर बल्लेबाज विराट कोहली का बल्ला इस मैच में नहीं चला और पहली और दूसरी पारी में वह अपनी गलती से बाहर जाती हुई गेंद को छेड़ने के चक्कर में आउट हो गए, लेकिन कप्तान के तौर पर यह टेस्ट उनके लिए यादगार रहेगा।

विराट कोहली की अगुवाई में भारत की यह दक्षिण अफ्रीका पर उसके ही मैदान में दूसरी जीत है। साल 2018 में जोहंसबर्ग में भारत ने दक्षिण अफ्रीका पर 63 रनों से जीत अर्जित की थी उस वक्त भी कोहली ही कप्तान थे। कोहली से नीचे दक्षिण अफ्रीका पर जीत सिर्फ राहुल द्रविड़ (1) और महेंद्र सिंह धोनी (1) की अगुवाई में आयी है।

इसके अलावा को अपने नाम करने वाले विराट कोहली पहले भारतीय कप्तान भी बने हैं।

भारत पहले टेस्ट में ज्यादा बेहतर खेला: एल्गर

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान ने अपने सबसे मजबूत किले सेंचुरियन में पहला टेस्ट भारत के हाथों 113 रन से हारने के बाद कहा कि निश्चित तौर पर यह बढ़िया अनुभवों में से एक नहीं है।

एल्गर ने मैच के बाद कहा,' हमने कई क्षेत्रों नें ग़लती की। भारतीय टीम ने इस टेस्ट को काफ़ी अच्छी तरीके से खेला। भारत के सलामी बल्लेबाज़ों ने काफ़ी बढ़िया बल्लेबाज़ी की। तीसरे दिन हमारे तेज़ गेंदबाॉज़ों ने शानदार तरीके से गेंदबाज़ी की। उनकी लाइन और लेंथ काफ़ी अच्छी थी। हालांकि हमारे बल्लेबाज़ों से हमें जैसे प्रदर्शन की ज़रूरत थी, वह वैसा नहीं कर पाए। हमें काफ़ी चीज़ों के बारे में सोचने की ज़रूरत है।'

पहली पारी में फ्लॉप रहे डीन एल्गर ने दूसरी पारी में 77 रनों की पारी खेली लेकिन टीम को हार से नहीं बचा पाए। यह सीरीज एक कप्तान और सलामी बल्लेबाज के तौर पर उनके लिए काफी कठिन हो सकती है।



और भी पढ़ें :