दूसरा टेस्ट: विराट ने कहा टॉस हारते तो भी जीतते, रूट ने माना हर विभाग में पिछड़े

Last Updated: मंगलवार, 16 फ़रवरी 2021 (18:56 IST)
हमें फॉलो करें
चेन्नई: भारतीय कप्तान विराट कोहली ने के खिलाफ दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच में मंगलवार को 317 रन की बड़ी जीत के बाद कहा कि सच कहूं तो इस मैच में टॉस के ज्यादा मायने नहीं थे, क्योंकि अगर आप हमारी दूसरी पारी को देखें तो हमने इसमें भी 300 के करीब रन बनाए।

विराट ने मैच के बाद कहा,“दोनों टीमों को पहले सत्र से ही खेल में होना चाहिए, चाहे वह धीमी पिच हो या तेज और इस मैच में असल में ऐसा ही था। खाली स्टैंड के साथ घरेलू मैदान पर पहला मैच खेलना थोड़ा अजीब था। सच कहूं तो हम पहले दो दिनों में बहुत उत्साहहीन थे, मैदान पर ऊर्जा से नहीं खेल पा रहे थे, लेकिन दूसरे टेस्ट से हमारे अंदर ऊर्जा आई और हमारा खेलने का स्वभाव बदला। मैदान में दर्शकों की मौजूदगी बहुत कुछ बदल देती है और यह मैच इसका एक उदाहरण है।”

विराट ने कहा, “ऋषभ पंत ने ऑस्ट्रेलिया में सच में कड़ी मेहनत की है, जब वह दस्ताने के साथ चलते हैं तो आप उनकी प्रतिक्रियाओं में अंतर देख सकते हैं। उन्होंने काफी वजन कम किया है और खुद पर मेहनत की है। जिस तरह से उन्होंने पिच पर इतनी टर्न और उछाल का सामना किया उसके लिए उन्हें श्रेय दिया जाना बनता है। हम चाहते हैं कि वह एक कीपर के रूप में सुधार करते रहें, क्योंकि हमें पता है कि टीम के लिए उनका कितना महत्व है।”

विराट ने कहा,“यह मैच अक्षर के लिए एक बहुत ही खास पल है। वह पहला मैच भी खेलते, अगर वह चोटिल न होते। वह मैदान पर उतरने के लिए उत्सुक थे और ऐसी पिच पाते ही वह मुस्कुरा रहे थे और गेंद को अपने हाथों में लेने का इंतजार नहीं कर पा रहे थे। आशा है कि वह यहां से खुद को बड़े खिलाड़ी के रूप में उभारेंगे। उनके आगे कई महत्वपूर्ण मैच हैं। मैं खुद को बेहतर बनाने और अपनी गलतियों को जल्द सुधारने को लेकर हमेशा गर्व महसूस करता हूं। अगर मैं कोई गलती करता हूं तो मैं यह सुनिश्चित करता हूं कि अगली पारी में इसे न दोहराऊं।”

भारतीय कप्तान ने रविचंद्रन अश्विन की तारीफ़ करते हुए कहा,“उन्होंने बेहतरीन बल्लेबाजी की और हमारे बीच हुई साझेदारी बहुत महत्वपूर्ण थी। मुझे पता था कि मैं अपने डिफेंस पर भरोसा कर सकता हूं और इस पिच पर चार सत्रों तक आसानी से बल्लेबाजी कर सकता हूं। अहमदाबाद टेस्ट चुनौतीपूर्ण रहेगा। इंग्लैंड के खेमे में उच्च कोटि के खिलाड़ी हैं और हमें अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करना होगा।”

ने हमें तीनों विभागों में मात दी: रुट

भारत से दूसरे क्रिकेट टेस्ट मैच में करारी हार के बाद इंग्लैंड के कप्तान जो रुट ने मंगलवार को कहा कि जीत का श्रेय भारत को देना बनता है, क्योंकि उसने हमें तीनों विभागों (बल्लेबाजी, गेंदबाजी और फील्डिंग) में मात दी।

रुट ने मैच के बाद कहा, “यह हमारे लिए एक सीख है। हमें ऐसी परिस्थितियों में खेलना पड़ सकता है, इसलिए हमें इससे सीखना होगा और रन बनाने का तरीका खोजना होगा। हमें एक बल्लेबाज पर दबाव बनाना और छह गेंदें करना सीखना होगा। पहले दिन हम उन्हें थोड़ा तंग कर सकते थे और खेल पर अधिक नियंत्रण बना सकते थे, जिससे उनके लिए रन बनाना मुश्किल हो जाता। दूसरे दिन से ही यह विकेट बल्लेबाजी के लिए बहुत मुश्किल था, लेकिन हमें इस बात की समझ होनी चाहिए कि हम कैसे एक पारी खड़ी कर सकते हैं।”

रुट ने टीम को लेकर कहा, “हम श्रृंखला में 1-1 की बराबरी पर हैं और हम अगले दो मैचों को लेकर उत्साहित हैं। हम एक अतिरिक्त स्पिनर के साथ खेल सकते थे, जो टीम के संतुलन के लिए बेहतर होता। तीसरा टेस्ट मैच कुछ अलग होगा, क्योंकि यह दिन और रात में खेला जाएगा। आखिरी दो मैच भी बहुत ही रोमांचक होंगे। खेल आगे बढ़ने के साथ-साथ मोईन अली गेंद के साथ बेहतर हो रहे हैं और हम जानते हैं कि वह बल्ले से कितने खतरनाक हो सकते हैं। बेन फाेक्स ने पहली पारी में अच्छी बल्लेबाजी की है और उनकी कीपिंग हमेशा बेहतरीन रही है।”

कप्तान ने तीसरे टेस्ट के लिए अभी से बदलाव का संकेत देते हुए कहा, “इस सप्ताह से निश्चित रूप से कुछ बदलाव हो सकते हैं और यह महत्वपूर्ण है कि हम एक टीम के रूप में बने रहें। हमने पिछले सप्ताह अच्छा प्रदर्शन किया। कई खिलाड़ी ऐसे हैं, जिन्होंने इस क्षेत्र में अधिक क्रिकेट नहीं खेला है और हमने जल्दी यहां खेलना सीखा है जो हमारे पिछले कुछ वर्षों के प्रदर्शन में दिखा भी है। अहमदाबाद टेस्ट बहुत अलग होगा। हमने गुलाबी गेंद से केवल दो मैच खेले हैं। यह वाकई एक शानदार खेल होने वाला है, जिसका हमें बेसब्री से इंतजार है।”(वार्ता)



और भी पढ़ें :