कोरोना के नए वैरियंट के कारण भारत के दक्षिण अफ्रीका दौरे पर मंडराए संकट के बादल

Last Updated: शनिवार, 27 नवंबर 2021 (11:36 IST)
जोहानसबर्ग: दक्षिण अफ़्रीका में इस सप्ताह का नया प्रकार सामने आया है। साउथ अफ़्रीका को यात्रा करने वालों के लिए यूके की लाल सूची में जोड़ा जाना है और अन्य देशों से यात्रा प्रतिबंध भी लगने की उम्मीद है।

आज का वनडे सुपरस्पोर्ट पार्क में कार्यक्रम के अनुसार हो रहा है यह नीदरलैंड टीम प्रबंधन ने बता दिया।
नया प्रकार ज़्यादा आसानी से एक से दूसरे में पहुंचता है, लेकिन यह अभी पक्का नहीं है कि यह डेल्टा से ज़्यादा प्रभावित करने वाला है या नहीं। साउथ अफ़्रीका के वैज्ञानिक विश्व स्वास्थ्य संगठन से इस बारे में पता लगाने को मिलेंगे। साउथ अफ़्रीका में पिछले सप्ताह से संक्रमित लोगों की संख्या में तेज़ी से इज़ाफ़ा हुआ है।

अगले कुछ सप्ताह में महामारी के चौथी लहर के शीर्ष पर होने की उम्मीद है और इससे वहां पर होने वाले मैचों के शेड्यूल प्रभावित हो सकते हैं। भारतीय टीम को तीन टेस्ट, तीन वनडे और चार टी20 मैच खेलने दिसंबर के मध्य में साउथ अफ़्रीका आना है, वहीं वेस्टइंडीज़ की महिला टीम विश्व कप से पहले जनवरी में यहां आएगी। इंडिया ए टीम भी अभी यहां पर मौजूद है और चार दिवसीय मुक़ाबला खेल रही है। उन्हें इस दौरे पर दो और मुक़ाबले खेलने है।

भारतीय टीम आठ दिसंबर को होगी दक्षिण अफ्रीका रवाना

कुछ दिन पहले ही क्रिकेट के तीनों प्रारूपों (टेस्ट, वनडे, टी-20) के लिए भारतीय पुरुष क्रिकेट टीम के आठ दिसंबर को दक्षिण अफ्रीका रवाना होने की जानकारी सामने आई थी।

समझा जाता है कि टीम मुंबई से उड़ान भरेगी, जहां वह तीन से सात दिसंबर तक न्यूजीलैंड के खिलाफ दूसरा और आखिरी टेस्ट मैच खेलेगी। उल्लेखनीय है कि भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीकाई दौरे पर तीन टेस्ट, तीन वनडे और चार टी-20 अंतरराष्ट्रीय मैच खेलेगी। यह एक पूर्ण दौरा है।

जाेहान्सबर्ग में 17 दिसंबर को पहला टेस्ट मैच शुरू होगा। इसके बाद सेंचुरियन में 26 से 30 दिसंबर तक दूसरा और केप टाउन में तीन से सात जनवरी तक तीसरा और आखिरी टेस्ट मैच खेला जाएगा। फिर पार्ल में 11 जनवरी को वनडे सीरीज शुरू होगी, जिसक केप टाउन में 14 जनवरी को दूसरा और 16 जनवरी को तीसरी मैच खेला जाएगा। इसके बाद 19 और 21 जनवरी को केप टाउन में ही टी-20 सीरीज के पहले दो मैच खेले जाएंगे, जबकि आखिरी दो मैच पार्ल में क्रमश: 23 और 26 जनवरी को होंगे।(वार्ता)



और भी पढ़ें :