बड़ा झटका! ऑलराउंडर बेन स्टोक्स इंग्लैंड की टी-20 विश्वकप टीम में शामिल नहीं

Last Updated: गुरुवार, 7 अक्टूबर 2021 (21:58 IST)
हमें फॉलो करें
लंदन: भारत के खिलाफ मौजूदा टेस्ट सीरीज में शानदार बल्लेबाजी कर रहे कप्तान जो रूट को की टी-20 विश्व कप टीम में जगह नहीं मिली है, जबकि इयोन मोर्गन को फिर से टीम की कमान सौंपी गई है।

इस बीच तेज गेंदबाज टाइमल मिल्स ने लंबे अरसे बाद सफेद गेंद टीम में वापसी की है। इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की ओर से टी-20 विश्व कप के लिए गुरुवार को घोषित 15 सदस्यीय टीम में उन्हें जगह मिली है। मिल्स ने आखिरी बार 2018 में लॉर्ड्स में विश्व एकादश (इलेवन) की तरफ से वेस्ट इंडीज के खिलाफ टी-20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेला था, जबकि इंग्लैंड के लिए वह आखिरी बार फरवरी 2017 में बेंगलुरु में भारत के खिलाफ टी-20 मैच खेले थे।

इंग्लैंड पुरुष टीम के मुख्य कोच क्रिस सिल्वरवुड ने एक बयान में कहा, “ इस सीजन टी-20 ब्लास्ट और ‘द हंड्रेड’ में मिल्स के प्रदर्शन ने टीम में उनकी जगह पक्की की है। टाइमल मिल्स चयन के योग्य हैं और पिछले कुछ वर्षों में उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया है। इस समर सत्र में उनके पास अंतरराष्ट्रीय स्तर पर सफल होने के लिए पूरा कौशल है। उनकी असाधारण गति बेहद खास है और जिस तरह से उन्होंने छोटे प्रारूपों में ससेक्स और सदर्न ब्रेव में तेज गेंदबाजी का नेतृत्व किया है, उससे पता चलता है कि वह बड़े मंच के दबाव को पसंद करते हैं। वह हमारी गेंदबाजी इकाई में विविधता लाएंगे और हम उन्हें एक बड़े अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में खेलते हुए देखने के लिए और इंतजार नहीं कर सकते हैं। ”

समझा जाता है कि मिल्स की मौजूदगी इंग्लैंड को जोफ्रा आर्चर के नुकसान की भरपाई करने में मदद करेगी, जो कोहनी की चोट के कारण शेष वर्ष के लिए क्रिकेट से पूरी तरह बाहर हो गए हैं।

दुनिया की नंबर एक टी-20 टीम इंग्लैंड के लिए सबसे बड़ी कमी स्टार ऑलराउंडर हैं, जो मानसिक स्वास्थ्य की बेहतरी के लिए क्रिकेट से अपना अनिश्चितकालीन ब्रेक जारी रखेंगे। ऑल राउंडर क्रिस वोक्स ने टीम में उनकी जगह ली है, जिन्होंने पांच साल से अधिक समय के अंतराल के बाद इस समर सत्र में टी-20 क्रिकेट में वापसी की थी। वह भारत के खिलाफ मौजूदा घरेलू टेस्ट सीरीज में भी अच्छे दिख रहे हैं।

वहीं संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में प्लेइंग कंडीशन के मद्देनजर शानदार स्पिनरों राशिद खान और मोईन अली को भी टीम में शामिल किया गया है जो यूएई में स्पिन के अनुकूल परिस्थितियों का अधिक से अधिक लाभ उठाने की कोशिश करेंगे। वे ऑलराउंडर लियाम लिविंगस्टोन का भी समर्थन प्रदान करेंगे। तेज गेंदबाजी में क्रिस जॉर्डन, मार्क वुड और डेविड विली और सैम करेन मोर्चा संभालेंगे।

2016 टी-20 विश्व कप का उप विजेता इंग्लैंड को इस बार विश्व कप में बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद है। वह 23 अक्टूबर को गत चैंपियन वेस्ट इंडीज के खिलाफ मुकाबले से अपने टी-20 विश्व कप 2021 अभियान की शुरुआत करेगा। वेस्ट इंडीज के अलावा इंग्लैंड को दक्षिण अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया के साथ ग्रुप 1 में रखा गया है, जिसमें राउंड 1 की दो क्वालीफायर टीमें उनके साथ जुड़ेंगी। ICC मेन्स क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 पहले से ही उनकी ट्रॉफी कैबिनेट में है, नंबर 1-रैंक वाली T20I टीम इस साल एक और खिताब जोड़ने का लक्ष्य रखेगी।

टीम के मुख्य कोच सिल्वरवुड ने कहा, “ हम टी-20 विश्व कप जीतने के लिए चुनौती देने की संभावना को लेकर उत्साहित हैं। मेरा मानना ​​है कि हमने एक ऐसी टीम का चयन किया है जो सभी क्षेत्रों को कवर करेगी और जिसके दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ियों की मौजूदगी से एक बहुत ही प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट में सफल होने की उम्मीद है।

इंग्लैंड की टीम: इयोन मोर्गन (कप्तान), मोईन अली, जॉनी बेयरस्टो, सैम बिलिंग्स, जोस बटलर, सैम करेन, क्रिस जॉर्डन, लियाम लिविंगस्टोन, डेविड मलान, टाइमल मिल्स, आदिल राशिद, जेसन रॉय, डेविड विली, क्रिस वोक्स, मार्क वुड

रिजर्व खिलाड़ी:
टॉम करेन, लियाम डासन, जेम्स विंस।(वार्ता)



और भी पढ़ें :