अप्रैल में GST कलेक्शन का नया रिकॉर्ड, 1.68 लाख करोड़ रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर पर

Last Updated: रविवार, 1 मई 2022 (17:05 IST)
हमें फॉलो करें
नई दिल्ली। माल एवं सेवा कर (GST) कलेक्शन का अप्रैल, 2022 में 1.68 लाख करोड़ रुपए के सर्वकालिक उच्च स्तर पर पहुंच गया है। वित्त मंत्रालय ने रविवार को एक बयान में यह जानकारी देते हुए कहा कि कर अनुपालन में सुधार से जीएसटी संग्रह का आंकड़ा बेहतर हुआ है।

अप्रैल, 2022 में जीएसटीआर-3बी में कुल 1.06 करोड़ जीएसटी रिटर्न भरे गए। अप्रैल, 2021 की तुलना में 2022 में जीएसटी संग्रह 20 प्रतिशत बढ़ा है।

मंत्रालय ने कहा कि सकल जीएसटी संग्रह अप्रैल में 1.68 लाख करोड़ रुपए के रिकॉर्ड पर पहुंच गया। यह पिछले उच्च स्तर मार्च, 2022 के 1.42 लाख करोड़ रुपए से करीब 25,000 करोड़ रुपए अधिक है।
Koo App
अप्रैल, 2022 के महीने में एकत्र सकल जीएसटी राजस्व 1,67,540 करोड़ रुपये रहा। अप्रैल 2022 में सकल जीएसटी संग्रह अब तक का सबसे अधिक संग्रह है, जो कि पिछले महीने के 1,42,095 करोड़ रुपये से 25,000 करोड़ रुपये अधिक है। पहली बार सकल जीएसटी संग्रह 1.5 लाख करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गया है। मार्च 2022 के महीने में ई-वे बिलों की कुल संख्या 7.7 करोड़ थी, जो फरवरी 2022 के महीने में उत्पन्न 6.8 करोड़ ई-वे बिल से 13 प्रतिशत अधिक है, जो व्यावसायिक गतिविधियों की रिकवरी को दर्शाता है। - Prasar Bharati News Services (@pbns_india) 1 May 2022
अप्रैल में सकल जीएसटी संग्रह 1,67,540 करोड़ रुपए रहा। इसमें केंद्रीय जीएसटी (CGST) का हिस्सा 33,159 करोड़ रुपए, राज्य जीएसटी (SGST) का हिस्सा 41,793 करोड़ रुपए और एकीकृत जीएसटी (IGST) का हिस्सा 81,939 करोड़ रुपये रहा। आईजीएसटी में 36,705 करोड़ रुपए वस्तुओं के आयात पर जुटाए गए। वहीं इसमें उपकर का हिस्सा 10,649 करोड़ रुपए (857 करोड़ रुपए वस्तुओं के आयात पर जुटाए गए) रहा।
मंत्रालय ने कहा कि इस बात के स्पष्ट संकेत हैं कि अनुपालन के स्तर में सुधार हुआ है। कर प्रशासन ने इस बारे में कई उपाय किए हैं जिनके सकारात्मक नतीजे मिल रहे हैं। विभाग ने करदाताओं को अपना रिटर्न समय पर भरने के लिए प्रेरित करने के साथ कर अनुपालन को भी सुगम किया है।



और भी पढ़ें :