सूर्य को कुंडली में मजबूत करने के 20 सटीक तरीके

Surya dev
Last Updated: सोमवार, 29 नवंबर 2021 (12:47 IST)
हमें फॉलो करें
मान्यता के अनुसार ग्रह को सभी ग्रहों का राजा माना गया है। कुंडली में इस ग्रह के कमजोर होने से जीवन में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। सूर्य ग्रह तुला में नीच के और मेष में उच्च के होते हैं। तीसरे, छठे, दसवें और ग्यारहवें भाव में सूर्य अच्छा फल देता है, जबकि दूसरे, चौथे, सातवें, नौवें और बारहवें भाव में शुभ फल की उम्मीद नहीं की जा सकती है। यदि आपकी कुंडली में सूर्य कमजोर हैं तो करें ये 20 सटीक उपाय।

ALSO READ:
Grahan : सूर्य ग्रहण के दौरान किए जाने वाले 10 कार्य
1. पत्रिका में यदि सूर्य कमजोर है तो गुड़ खाकर जल पीकर ही कोई कार्य प्रारंभ करें। देशी गुड़ घर में रखें और समय समय पर उसे थोड़ा थोड़ा खाते रहेंगे तो सूर्य बलवान होगा।

2. बहते पानी में गेहूं बहाएं। बहते पानी में गुड़ बहाने से भी सूर्य के दोष दूर होते हैं।
3. 800 ग्राम गेंहू व 800 ग्राम गुड़ रविवार से 8 दिन तक मंदिर में भेंट करें।

4. सूर्य द्वादश भाव में हो तो बंदरों को गुड़ खिलाएं।

5. रविवार का उपवास रखें।

6. सूर्य देव को प्रतिदिन अर्घ्‍य दें।

7. जब भी सूर्य संक्रांति हो तो गुड़, गेहूं और सूर्य से संबंधित वस्तुएं दान करें।

8. पिता का सम्मान करें। उन्हें किसी भी तरह से परेशान न करें।

9. घर की पूर्व दिशा वास्तुशास्त्र अनुसार ठीक करें।

10. आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें।

11. नित्य भगवान विष्णु की उपासना करें और एकादशी का व्रत रखें।
12. बंदर, पहाड़ी गाय या कपिला गाय को भोजन कराएं।
13. तांबा के लौटे में भी पानी पीएं।

14. तांबे के एक टुकड़े को काटकर उसके दो भाग करें। एक को पानी में बहा दें तथा दूसरे को जीवनभर साथ रखें।

15. ज्योतिष की सलाह पर माणिक रत्न पहनें।

16. देर से सोकर उठना छोड़ दें। सुबह की धूप लें।

17. गायत्री मंत्र का जाप करें और सूर्य यंत्र की स्‍थापना करें।

18. ॐ रं रवये नमः या ॐ घृणी सूर्याय नमः 108 बार (1 माला) जाप करें।
19. सूर्य के गोचर के समय जल में खसखस या लाल फूल या केसर डालकर स्नान करना शुभ रहता है।

20. सूर्य शांति हेतु हवन कराएं।

डिसक्लेमर : यह लेख ज्योतिष की मान्यता पर आधारित है। किसी विशेषज्ञ से पूछकर ही इसे समझें।



और भी पढ़ें :