बूझो तो जानें : नववर्ष पर पढ़ें मस्त-मस्त पहेलियां

3
रात-दिन मैं चलता हूं
आलस से मैं टलता हूं
कर्मशील का साथ मैं देता
कर्महीन को छलता हूं।





और भी पढ़ें :