आपको याद दिला देंगे ये गेम्स आपका बचपन

13. कंचे : छोटी छोटी कांच की कई गोलियों को खुली जगह पर फैलाकर हाथ में कुछ गोलियां रखकर निशाना लगाया जाता था। यह काफी कठिन काम था क्योंकि गोलियां लुढ़कती थीं। बच्चे इसमें माहिर हो जाते थे और थोड़ी प्रेक्टिस के बाद कंचों से कंचो पर निशाना साध ही लेते थे।


14. गिल्ली डंडा : बाहर खेले जाने वाले खेलों में गिल्ली और डंडा काफी प्रचलित खेल था। एक बडे डंडे और छोटी सी लकड़ी से गिल्ली और डंडा बनाए जाते थे। बड़े डंडे से छोटी लकडी पर मारा जाता था जिससे वह उछलती थी। इसी उछलने के दौरान उसे जोर से बॉल की तरह हिट किया जाता था और दूर पहुंचाया जाता था। यह खेल प्रचलित तो था परंतु काफी खतरनाक भी था। इसके कारण कई हादसे भी हो जाते थे। खासतौर पर आंखों को नुकसान होने के कई मामले सामने आए।
अगले पेज पर मोशम्पबा और नदी पहाड़...




और भी पढ़ें :