करना तुम उजाला सूरज की तरह

New Year poem
WD|
FILE

की तरह जगत में,

करना तुम उजाला।

माता-पिता ने तुम्हें,

बड़े नाजों से पाला।

जीवन में आगे बढ़ना तुम,
अंधेरा हो या रोशनी।
मुस्कराना हर दम तुम,
धूप हो या चांदनी।

- किरण गुप्ता



और भी पढ़ें :