उमरान मलिक हो इंग्लैंड दौरे पर भारतीय टीम में शामिल, गावस्कर ने दिया बड़ा बयान

Last Updated: शुक्रवार, 29 अप्रैल 2022 (14:33 IST)
हमें फॉलो करें
मुंबई: महान बल्लेबाज ने इंडियन प्रीमियर लीग में यहां गुजरात टाइटंस के खिलाफ पांच विकेट चटकाने वाले युवा तेज गेंदबाज को आगामी इंग्लैंड दौरे के लिए भारतीय टीम में शामिल करने का सुझाव दिया है।सनराइजर्स हैदराबाद के जम्मू के 22 साल के तेज गेंदबाज उमरान ने बुधवार रात शानदार गेंदबाजी करते हुए 25 रन देकर पांच विकेट चटकाए।

उनका यह प्रदर्शन हालांकि टीम को जीत नहीं दिला सका क्योंकि राशिद खान (11 गेंद में नाबाद 31) और राहुल तेवतिया (21 गेंद में नाबाद 40) ने अंतिम चार ओवर में 56 रन जोड़कर गुजरात टाइटंस को अंतिम गेंद पर जीत दिला दी। गुजरात की टीम ने अंतिम छह गेंद में 22 रन बनाए।

पूर्व भारतीय कप्तान गावस्कर ने मैच के बाद कमेंटरी करते हुए कहा, ‘‘उसके लिए अगली चुनौती, मुझे लगता है कि भारतीय टीम है।’’उन्होंने कहा, ‘‘उसे शायद अंतिम एकादश में खेलने का मौका नहीं मिले क्योंकि भारत के पास मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद सिराज और उमेश यादव हैं। इसलिए शायद वह खेल नहीं पाए।’’

गावस्कर ने कहा, ‘‘लेकिन टीम के साथ सिर्फ यात्रा करने से, रोहित शर्मा, विराट कोहली जैसे खिलाड़ियों के साथ यात्रा करने, उनके साथ ड्रेसिंग रूम साझा करने से... देखते हैं, उस पर इसका क्या असर पड़ता है।’’इस युवा तेज गेंदबाज ने पूरे सत्र के दौरान नियमित रूप से 150 किमी प्रति घंटा से अधिक की रफ्तार से गेंदबाजी की है और आठ मैच में अब तक 15.93 के औसत से 15 विकेट चटकाए हैं।

भारत का इंग्लैंड दौरा जून में शुरू होगा। दोनों टीम सबसे पहले पांच मैच की श्रृंखला का अंतिम टेस्ट खेलेंगी जिसे पिछले साल कोविड-19 के कारण रद्द कर दिया गया था। इसके बाद तीन मैच की टी20 अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला और इतने ही मैच की एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला होगी।भारतीय टीम ब्रिटेन के अपने दौरे की शुरुआत 26 जून से डबलिन में आयरलैंड के खिलाफ दो टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलों के साथ करेगी।

शोएब अख्तर, ब्रेट ली, शॉन टेट और अब उमरान मलिक: विटोरी

सनराइजर्स हैदराबाद के तेज गेंदबाज उमरान मलिक को ‘हीरा’ करार करते हुए न्यूजीलैंड के महान गेंदबाज डेनियल विटोरी ने कहा कि इस युवा की रफ्तार बल्लेबाजों में घबराहट पैदा करती है इसलिये उसके कार्यभार का प्रबंधन किया जाना चाहिए।न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान और महान स्पिनर विटोरी ने कहा कि ब्रेट ली, शोएब मलिक और शॉन टैट के युग के खत्म होने के बाद मलिक एक ‘दुर्लभ’ प्रतिभा के रूप में सामने आये।

विटोरी ने 113 टेस्ट में 362 और 295 वनडे में 305 विकेट चटकाये हैं। उन्होंने ‘ईएसपीएनक्रिकइंफो’ के ‘टी20 टाइम आउट’ शो में कहा, ‘‘उसकी रफ्तार बल्लेबाजों में घबराहट पैदा करती है और ऐसा सिर्फ पुछल्ले बल्लेबाजों के साथ नहीं बल्कि सभी बल्लेबाजों के साथ होता है। ’’उन्होंने कहा, ‘‘हमें अक्सर 153-154 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करते हुए गेंदबाज नहीं दिखते। यह गजब की रफ्तार है, यह विरले ही देखने को मिलती है जो हमने ब्रेट ली, शोएब अख्तर या शॉन टैट के बाद शायद नहीं देखी है। ’’

विटोरी ने कहा, ‘‘इसलिये आप रोमांच देख सकते हो जिससे मैच में ‘एक्स फैक्टर’ (विशेष प्रतिभा) देखने को मिलता है। ’’उन्होंने साथ ही कहा कि भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) को इस ‘दुर्लभ’ प्रतिभा को बचाने के लिये मलिक के कार्यभार का प्रबंधन करना चाहिए।

विटोरी ने कहा, ‘‘वह एक हीरा है और बस बात इतनी है कि किस तरह भारतीय क्रिकेट में अगले दो वर्षों में उसकी प्रतिभा की देखभाल की जाती है और उससे कैसे सर्वश्रेष्ठ निकाला जा सकता है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर वह बीसीसीआई या एनसीए (राष्ट्रीय क्रिकेट अकादमी) की छत्रछाया में आ जाता है तो यह उसके लिये सर्वश्रेष्ठ चीज होगी और वे उसके कार्यभार का प्रबंधन कर सकते हैं क्योंकि एक खिलाड़ी के लिये अपनी रफ्तार के लिये गेंदबाजी करते रहने का लोभ बना रहता है। ’’उन्होंने कहा, ‘‘मैं शेन बांड के साथ हुए वार्तालाप के आधार पर यह बात कह रहा हूं क्योंकि उन्हें लगता है कि आप जितनी गेंदबाजी करते हो, आप उतने ही धीमे होते रहते हो। ’’

बांड इंडियन प्रीमियर लीग में मुंबई फ्रेंचाइजी के मौजूदा गेंदबाजी कोच हैं जो न्यूजीलैंड के महान तेज गेंदबाज भी हैं।विटोरी ने कहा, ‘‘उपमहाद्वीप में आपको नेट गेंदबाज के रूप में इस्तेमाल किया जाता है, आप दौरों पर जाते हो। इसलिये कार्यभार थोड़ा ज्यादा हो सकता है।’’(भाषा)



और भी पढ़ें :