किंग्स को चुनौती देने उतरेंगे स्मिथ के सुपरजाएंट्स

पुनः संशोधित शनिवार, 8 अप्रैल 2017 (00:07 IST)
हमें फॉलो करें
इंदौर। में धमाकेदार शुरुआत करने वाली की शनिवार को अपने अगले मुकाबले में पिछले सत्रों में फिसड्डी रही के खिलाफ उतरेगी जो दसवें संस्करण में भाग्य बदलने का सपना देख रही है।





पुणे ने आईपीएल 10 में अपने पहले मुकाबले में ही दो बार की चैंपियन और स्टार खिलाड़ियों तथा बेहतरीन सपोर्ट स्टाफ से सुसज्जित मुंबई इंडियन्स को सात विकेट से हराकर शानदार आगाज किया है। कप्तान स्मिथ के नेतृत्व और महेंद्र सिंह धोनी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों से भरी पुणे की टीम भले ही ट्वंटी 20 लीग में अपना दूसरा और संभवत: आखिरी सत्र खेल रही हो लेकिन उसके खिलाड़ियों में अनुभव की कोई कमी नहीं है।



इस सत्र में धोनी के बजाय स्मिथ को पुणे का कप्तान बनाया गया है और ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ने भी मुंबई के खिलाफ अपनी नाबाद 84 रन की जिम्मेदारीभरी पारी खेलकर अकेले दम पर टीम को जीत दिला दी। पुणे का हौंसला पिछली जीत से काफी बढ़ा हुआ है तो वहीं इस बार पंजाब की टीम भी आईपीएल टूर्नामेंट के 10 सालों में पहली बार भाग्य बदलने का सपना देख रही है।






पंजाब की टीम का सफर आईपीएल में अब तक खास नहीं रहा है और पहले सत्र में सेमीफाइनलिस्ट रहने और 2014 में उपविजेता बनने के बाद फिर वह कभी प्लेऑफ तक में क्वालीफाई नहीं कर सकी। लगभग हर वर्ष पंजाब की कहानी एक जैसी ही रहती है और इसीलिए प्रबंधन भी टीम में निरंतर बदलाव करने को मजबूर है। यह लगातार तीसरा वर्ष है जब पंजाब की कप्तानी नए चेहरे को दी गई है।

जार्ज बैली के वर्ष 2014 में नेतृत्व में पंजाब ने अपना सबसे उम्दा प्रदर्शन किया था लेकिन उसके बाद उसकी कहानी एक जैसी रही और आखिरी दो सत्रों में वह तालिका में सबसे आखिरी पर रही। पंजाब के पास इस सत्र में नए
कप्तान के रूप में ऑस्ट्रेलिया के स्टार ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल और पूर्व क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग अब कोच के रूप में मौजूद हैं।




वीरू-मैक्सी की जोड़ी को निश्चित ही इस बार टीम की स्थिति सुधारने के लिए अलग ही स्तर पर प्रदर्शन करना होगा। वहीं ऑस्ट्रेलियाई टीम में अपनी स्थिति को लेकर अनिश्चितता का सामना कर रहे मैक्सवेल के पास भी विपक्षी टीम के कप्तान और अपने साथी खिलाड़ी स्मिथ को अपनी काबिलियत साबित करने का यह अच्छा मौका हो सकता है।




मैक्सवेल पंजाब के साथ 2014 में जुड़े थे और टीम के अहम खिलाड़ियों में हैं। लेकिन उनका निजी प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा है। उन्होंने पिछले आईपीएल में 11 मैचों में 179 रन ही बनाए
थे। लेकिन हाल में भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में उन्होंने रांची में शतक जड़ा था जिसके बाद माना जा रहा है कि वे फिलहाल अच्छी फार्म में हैं। वहीं टीम में उनके साथ इयोन मोर्गन, डैरेन सैमी, डेविड मिलर, मनन वोहरा, रिद्धिमान साहा, ऑस्ट्रेलियाई ऑलराउंडर मार्क्‍स स्टोएनिस जैसे अच्छे खिलाड़ी हैं।




हालांकि मुरली विजय की अनुपस्थिति टीम को कुछ खल सकती है जो चोटिल हैं। ओपनिंग क्रम में पंजाब के लिए मुरली का विकल्प ढूंढना चुनौतीभरा हो सकता है। वहीं तमिलनाडु प्रीमियर लीग में अपने लाजवाब प्रदर्शन से सुर्खियां बटोरने वाले टी नटराजन, वरुण आरोन, अक्षर पटेल और मोहित शर्मा से अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद है।





पंजाब की टीम भले ही अच्छे प्रदर्शन का दावा करे लेकिन वह हमेशा दबाव में पिछड़ जाती है और पहले ही मुकाबले में उसे अपनी इस कमजोरी से पार पाना होगा जहां उसके सामने मजबूत पुणे खड़ी होगी।

मुंबई के खिलाफ 60 रन की पारी खेलने वाले अजिंक्य रहाणे, नाबाद 84 रन बनाने वाले स्मिथ, सबसे महंगे खिलाड़ी बेन स्टोक्स और जबरदस्त फिनिशर धोनी के रूप में कमाल का बल्लेबाजी लाइनअप है तथा गेंदबाजी में फिर से इमरान ताहिर, रजत भाटिया, एडम जम्पा और स्टोक्स पर निगाहें रहेंगी।



और भी पढ़ें :