क्या कम वेतन वाली नौकरी अधिक वेतन वाली नौकरी की ओर बढ़ने की सीढ़ी है?

Last Updated: सोमवार, 21 जून 2021 (14:43 IST)
ऑकलैंड (द कन्वरसेशन)। एक नौकरी चाहे वह कैसी भी हो, को आमतौर पर बिना नौकरी से बेहतर माना जाता है। इसी तरह कम वेतन वाले काम को अक्सर उच्च वेतन वाली नौकरी की सीढ़ी के तौर पर देखा जाता है। लेकिन कम वेतन पाने वाले कर्मचारी कितनी आसानी से अधिक वेतन की इस सीढ़ी पर चढ़ पाते हैं? हमारे नए शोध से पता चलता है कि पिछले अध्ययनों ने निम्न से उच्च वेतन की तरफ जाने की संभावनाओं को काफी हद तक बढ़ाकर दिखाया है। के व्यवहार को समझने के लिए इसके महत्वपूर्ण निहितार्थ हैं।
ALSO READ:

Government Jobs : इस राज्य में पुलिस विभाग में निकलीं नौकरियां, जल्द करें आवेदन

न्यूजीलैंड के हाल के बजट में घोषित कल्याणकारी भुगतानों में 3.3 अरब न्यूजीलैंड डॉलर की वृद्धि को देखते हुए जिसे 'एक पीढ़ी में सबसे बड़ी बढ़ोतरी' कहा जा रहा है और असमानता और न्यूनतम मजदूरी दरों पर ध्यान दिए जाने से यह और भी महत्वपूर्ण हो गया है कि हम आय गतिशीलता को कैसे मापते हैं। विशेष रूप से कम वेतन वाले कार्यबल की विशेषताएं क्या हैं? इस बात की कितनी संभावना है या नहीं है कि कोई व्यक्ति निम्न से उच्च वेतन की तरफ जा सकता है?


पिछले शोधों ने यह सिद्ध किया है कि बिना रोजगार वाले व्यक्ति के मुकाबले कम वेतन पाने वाले व्यक्ति के अधिक वेतन की ओर जाने की संभावना अधिक है। इसके अलावा डेटा ने ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया और जर्मनी के अध्ययनों के आधार पर निम्न से उच्च वेतन की तरफ जाने की अपेक्षाकृत उच्च संभावना का सुझाव दिया है अनुमान 47 प्रतिशत से लगभग 90 प्रतिशत तक है।

हालांकि इस शोध में ऐसे आंकड़ों को शामिल किया गया है, जो वर्ष में एक बार पूछे जाने वाले प्रश्नों की व्यक्तिगत प्रतिक्रियाएं हैं। इसका मतलब है कि हम साल में केवल एक बार श्रम बाजार की एक झलक देख पाते हैं। यह निर्धारित करते समय कि कोई व्यक्ति बेरोजगार है, कम वेतन वाला है या अधिक वेतन वाला है, इन वार्षिक सर्वेक्षणों में बहुत सारी जानकारी नहीं मिल पाती है।
पारंपरिक शोध में क्या कमी है: यह क्यों मायने रखता है? यह 3 अलग-अलग व्यक्तियों के बारे में कल्पना करने में मदद करता है जिनके अनुभव श्रम बाजार के संबंध में अलग अलग होते हैं। वह अक्टूबर 2019 में और फिर अक्टूबर 2020 में उनके रोजगार की स्थिति के बारे में एक सर्वेक्षण का जवाब देते हैं। एक को पहले सर्वेक्षण में कम वेतन दिया गया था और दूसरे सर्वेक्षण तक वह हर महीने कम वेतन पर रहा। दूसरा सर्वेक्षण के बीच कम और उच्च वेतन के बीच झूलता रहता है लेकिन प्रत्येक सर्वेक्षण बिंदु पर कम वेतन पा रहा होता है। तीसरा नियमित रूप से कम वेतन और बेरोजगारी के बीच चलता है लेकिन प्रत्येक सर्वेक्षण के समय कम वेतन में भी होता है। सर्वेक्षण समय बिंदुओं के बीच जानकारी की कमी के कारण तीनों व्यक्ति एक ही श्रेणी में आएंगे। इससे हो सकता है कि वह कम वेतन से जुड़े अनुमानों को प्रभावित करे।
अधिक विवरण से क्या पता चलता है?:
न्यूजीलैंड में हमारे पास एकीकृत डेटा अवसंरचना (आईडीआई) का लाभ है, जो न्यूजीलैंड सांख्यिकी द्वारा प्रकाशित एक बड़ा शोध डेटाबेस है। यह मासिक प्रशासनिक कर रिकॉर्ड प्रदान करता है, जो श्रम बाजार की एक बड़ी तस्वीर प्रकट करता है। हमारा शोध इन विस्तृत डेटा का उपयोग करते हुए न्यूजीलैंड में 21 से 60 वर्ष की आयु के कम वेतन वाले पुरुष कार्यबल की स्थिति पर प्रकाश डाल रहे हैं।

सबसे पहले हमने हर साल केवल एक महीने से श्रम बाजार को देखकर पहले के पारंपरिक शोध की नकल की तो पाया कि इस तरीके से न्यूजीलैंड ऑस्ट्रेलिया के समान दिखता है, कम वेतन से उच्च वेतन में जाने की संभावना 74 प्रतिशत होने का अनुमान है। जब हम विस्तृत मासिक आय रिकॉर्ड का उपयोग करते हैं, हालांकि, यह स्पष्ट है कि तस्वीर उतनी गुलाबी नहीं है। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि पारंपरिक तरीकों की तुलना में कम वेतन से उच्च वेतन पर जाने की संभावना बहुत कम है।

वास्तव में उन लोगों के लिए जो पिछले 12 महीनों में कम वेतन वाले काम में रहे हैं, हमने पाया कि अगले महीने में उनके उच्च वेतन में जाने की संभावना केवल 28 प्रतिशत थी। ऐसा लगता है कि लगातार कम वेतन वाले काम में होने का मतलब यह है कि बाहर निकलना आसान नहीं है।

सीमित अवसर: दूसरी ओर हमारा शोध इस बात की पुष्टि करता है कि न्यूजीलैंड के श्रम बाजार में बेरोजगार होने की तुलना में आपको कम भुगतान से उच्च वेतन में जाने की अधिक संभावना है। विशेष रूप से पिछले 12 महीनों से बेरोजगार व्यक्ति के अगले महीने में उच्च वेतन में जाने की केवल 1 प्रतिशत संभावना है जबकि पिछले 12 महीनों में कम वेतन पाने वाले व्यक्ति की उच्च वेतन वर्ग में जाने की संभावना 28 प्रतिशत रही। (भाषा)



और भी पढ़ें :