भारतीय-अमेरिकी हरिणी लोगान ने अमेरिका में रचा इतिहास, 90 सेकंड में बताई 21 शब्दों की सही स्पेलिंग

पुनः संशोधित शुक्रवार, 3 जून 2022 (23:35 IST)
हमें फॉलो करें
ह्यूस्टन। टेक्‍सास में रहने वाली आठवीं कक्षा की 14 वर्षीय भारतीय-अमेरिकी हरिणी लोगान ने 90 सेकंड में 22 शब्दों की सही वर्तनी और अर्थ बताकर 2022 की स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी प्रतियोगिता में जीत हासिल की। उन्होंने इस प्रतिष्ठित प्रतियोगिता में विक्रम राजू को हराया।
इस प्रतियोगिता में भारतीय मूल के बच्चों का बोलबाला रहा। लोगान को गुरुवार रात को जूरी के सदस्यों द्वारा प्रतियोगिता के अंतिम दौर में फिर से शामिल किए जाने के बाद चैंपियन घोषित किया गया। उन्हें 50 हजार डॉलर (लगभग 38 लाख रुपए) की इनामी रकम और स्क्रिप्स कप ट्रॉफी के अलावा मरियम-वेबस्टर और इनसाइक्लोपीडिया ब्रिटेनिका की तरफ से भी पुरस्कार मिला।

प्रतियोगिता में अपनी तरह के पहले ‘स्पेल-ऑफ’ में लोगान ने 26 शब्दों में से 22 की सही स्पेलिंग बताई जबकि डेनवर के रहने वाले 12 वर्षीय राजू ने 19 शब्दों में से 15 की सही स्पेलिंग बताई। 90 सेकंड के स्पेल-ऑफ में यह देखा जाता है कि कोई प्रतियोगी इस समय-सीमा में कितने शब्दों की सही स्पेलिंग बता सकता है।

अंतिम दो प्रतियोगियों को राउंड 13 और 18 के बीच अपने शब्दों को समझने में परेशानी हुई। उस समय, जजों ने पहले ‘स्पेल-ऑफ’ का विकल्प चुना गया। स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी ने एक ट्वीट में कहा, स्पेल-ऑफ में 22 शब्दों का सही जवाब देकर 2022 स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी चैंपियन बनी हैं स्पेलर231 हरिणी लोगान।

उसने कहा, हमारी 2022 स्क्रिप्स नेशनल स्पेलिंग बी चैंपियन स्पेलर231 हरिणी लोगान उपराष्ट्रपति कमला हैरिस से प्रेरणा लेती हैं। आज रात के बाद, हरिणी हर जगह स्पेलर की एक नई पीढ़ी को प्रेरित कर रही होंगी। आज उसकी खुशी की रात है।

खास बात यह कि इस प्रतियोगिता में तीसरे और चौथे स्थान पर आने वाले भी भारतीय मूल के बच्चे ही हैं। टेक्सास के रहने वाले 13 वर्षीय विहान सिब्बल तीसरे स्थान पर रहे जबकि वॉशिंगटन में आठ‍वीं कक्षा में पढ़ने वाले 13 वर्षीय सहर्ष वुप्पाला चौथे स्थान पर रहे।

हरिणी, प्रतियोगिता में प्रवेश करने वाली सबसे प्रसिद्ध स्पेलर में से भीड़ की चहेती दिखीं। हालांकि एक बार उनका सफर बीच में ही खत्म होता दिखा जब पुलुलेशन शब्द के लिए उनके उत्तर को अस्वीकार कर दिए जाने के बाद गुरुवार को शब्दार्थ राउंड से आगे नहीं बढ़ पाईं। अंतिम दौर के लिए उन्हें फिर से चुने जाने पर लोगान ने कहा, मुझे लगा, वाह मैं अभी हूं। यह बात है।

जूरी के सदस्यों ने एक ब्रेक के दौरान यह स्वीकार किया और फैसला सुनाया कि उसने (लोगान ने) जो जवाब दिया था वह सही हो सकता है क्योंकि इसका मतलब प्रजनन करना या झुंड बनाना हो सकता है। इसके बाद उसे फिर से प्रतियोगिता के अंतिम दौर में शामिल कर लिया गया।(भाषा)
फोटो सौजन्‍य : सोशल मीडिया



और भी पढ़ें :