विदेश मंत्री एस जयशंकर के इस बयान की चीन ने भी की जमकर तारीफ

पुनः संशोधित शुक्रवार, 24 जून 2022 (16:49 IST)
हमें फॉलो करें
Photo - Twitter
चीन। विदेश मंत्री एस. जयशंकर जब भी वैश्विक मंचों पर भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं, तब भारतीयों के साथ-साथ विदेशी भी उनकी हाजिर जवाबी के कायल हो जाते हैं। इसी बीच चीन ने भी जयशंकर की इस खूबी की तारीफ की है। चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने जयशंकर की तारीफ करते हुए कहा कि भारतीय विदेश मंत्री का बयान भारत की ' आजादी की परंपरा ' को दर्शाता है।


उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने स्लोवाकिया में आयोजित एक इंटरव्यू में यूरोपीय वर्चस्ववाद को नकारते हुए कहा था कि भारत और चीन अपने संबंधों को दुरुस्त करने में 'पूरी तरह सक्षम' हैं। जयशंकर के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर कई दिनों से वायरल हो रहा है। रूस-यूक्रेन मुद्दे पर भारत ने कहा था कि ऐसा जरूरी नहीं है कि भारत किसी एक पक्ष से खड़ा हो। जयशंकर ने रूस से तेल खरीदने के मामले पर कहा कि यूरोप रूस से हमारे मुकाबले कई गुना ज्यादा ऊर्जा खरीदता है।

चीन में भारतीय राजदूत प्रदीप कुमार रावत के साथ हाल ही में आयोजित हुई बैठक में चीनी विदेश मंत्री वांग यी ने कहा कि भारतीय विदेश मंत्री ने वैश्विक मंच से यूरोपीय वर्चस्ववाद को नकारने और हमारे आपसी संबंधों में पश्चिमी देशों के हस्तक्षेप को लेकर आपत्ति जताई थी। उनका यह बयान भारत की दशकों पुरानी आजादी की परंपरा को दर्शाता है।

वांग ने यह भी कहा कि भारत और चीन को अपने आपसी रिश्तों को पटरी पर लाने और पहले जैसी स्थिति पर पहुंचाने की दिशा में हर संभव प्रयास करना चाहिए।





और भी पढ़ें :