बड़ी खबर, बिना वोटिंग इमरान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव खारिज, पाक में संसद भंग

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ पेश प्रस्ताव रविवार को खारिज कर दिया गया। विदेशी साजिश का आरोप लगाकर इस प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया। इसके बाद इमरान खान ने जनता के नाम अपने संबोधन में संसद भंग करने की सिफारिश की। इसे राष्‍ट्रपति ने स्वीकार कर संसद भंग कर दी।

पाकिस्तान में अब 90 दिनों में चुनाव कराए जाएंगे। चुनाव तक इमरान कार्यवाहक प्रधानमंत्री के रूप में कार्य करेंगे। हालांकि विपक्ष इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट जाने की तैयारी कर रहा है।
 
इससे पहले इमरान के मंत्री फवाद चौधरी ने सदन में अमेरिकी साजिश का हवाला दिया। उन्होंने सवाल किया कि क्या हम गुलाम हैं? डिप्टी स्पीकर ने अनुच्छेद 5 का हवाला देते हुए बिना वोटिंग प्रस्ताव को खारिज कर दिया। 
 
Last Updated: रविवार, 3 अप्रैल 2022 (14:18 IST)
हमें फॉलो करें
पाक प्रधानमंत्री आज संसद की कार्यवाही में भाग लेने के लिए नहीं पहुंचे। संसद में प्रस्ताव खारिज होने के तुरंत बाद उन्होंने जनता को संबोधित कर डिप्टी स्पीकर के फैसले को सही करार दिया। उन्होंने कहा कि सारी कौम के खिलाफ गद्दारी की साजिश हो रही थी। कौम के खिलाफ साजिश को वे सफल नहीं होने देंगे।

इससे पहले पाकिस्तान के गृहमंत्री शेख रशीद ने आशंका जताई है कि अगर इमरान बहुमत साबित नहीं कर पाते हैं तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

इस्लामाबाद में संसद के पास इमरान की पार्टी के 3 समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार किया है। सभी की नजरें इस बात पर लगी हुई है कि इमरान इस्तीफा देंगे या संसद में अविश्वास प्रस्ताव का सामना करेंगे। यह भी कहा जा रहा है कि इमरान की पार्टी के सभी सांसद एक साथ इस्तीफा दे सकते हैं।

वोटिंग से पहले पाकिस्तान सरकार ने पंजाब के राज्यपाल चौधरी मोहम्मद सरवर को उनके पद से हटा दिया है। सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने यह जानकारी दी है। हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि सरकार ने सरवर को हटाने का फैसला क्यों किया? पाकिस्तान के संविधान के अनुसार पंजाब विधानसभा के डिप्टी स्पीकर अंतरिम अवधि में कार्यवाहक राज्यपाल होंगे।




और भी पढ़ें :