अटारी सीमा पर पैदा हुआ बच्‍चा, मां-बाप ने नाम रखा ‘बॉर्डर’, ऐसी है बच्‍चे के जन्‍म की दिलचस्‍प कहानी

Mother n Kids
Motherhood Week Starts
Last Updated: सोमवार, 6 दिसंबर 2021 (18:26 IST)
अटारी बॉर्डर पर एक बेहद ही दिलचस्‍प मामला सामने आया है, इस खबर की सोशल मीडि‍या में जमकर चर्चा हो रही है।

दरअसल, पिछले करीब 70 दिनों से फंसे एक दंपति ने 2 दिसंबर को अटारी सीमा पर एक बच्चे को जन्म दिया है। बॉर्डर पर बच्चे का जन्म होने की वजह से उसके माता पिता ने उसका नाम 'बॉर्डर' रख दिया।

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत के राजनपुर जिले के निवासी नींबू बाई और बलम राम अन्य पाकिस्तानी नागरिकों के साथ कई दिनों से बॉर्डर पर रह रहे हैं।

नींबू बाई को 2 दिसंबर को प्रसव पीड़ा हुई। मीडि‍या की खबरों के मुताबिक, महिला को प्रसव पीड़ा हुई, इसके बाद पास के पंजाब गांव से कई अन्य महिलाएं डिलीवरी में मदद के लिए पहुंची। वहां पहुंचकर सारी व्‍यवस्‍था की।



जब बच्‍चा पैदा हुआ तो परिजन और सहयोगि‍यों की खुशी का ठि‍काना नहीं रहा, लेकिन यह बच्‍चा अटारी बॉर्डर पर हुआ तो उसका नाम उन्‍होंने बॉर्डर रख दिया।

महिला के पति ने बताया कि वो और एक दूसरा पाकिस्तानी नागरिक भारत तीर्थ पर आए थे, लेकिन आवश्यक दस्तावेज नहीं होने की वजह से ये सब बॉर्डर पर ही फंस गए थे। यहां पर रह रहे 97 लोगों में से 47 बच्चे हैं। इनमें से छह बच्चों का जन्म भारत में हुआ और इनकी उम्र एक साल से कम है।

खास बात है कि बलम राम के अलावा, उसी टेंट में रहने वाले एक अन्य पाकिस्तानी नागरिक लाग्या राम ने भी अपने बेटे का नाम 'भारत' रखा है। उनका बेटा जोधपुर में साल 2020 में जन्मा था। लाग्या अपने भाई से मिलने जोधपुर आए थे, लेकिन वापस पाकिस्तान नहीं जा सके।



और भी पढ़ें :