अमेरिकी जनरल की मौत पर पेंटागन में शोक

वॉशिंगटन| भाषा| पुनः संशोधित बुधवार, 6 अगस्त 2014 (12:08 IST)
हमें फॉलो करें
FILE
वॉशिंगटन। ने में अपने शीर्ष सैन्य अधिकारी के मारे जाने पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि वह युद्ध प्रभावित देश में अपने मिशन को लेकर प्रतिबद्ध है।


11 सितंबर 2001 के आतंकी हमले के बाद किसी शीर्ष सैन्य अधिकारी की मौत के रूप में अमेरिका को यह दूसरा बड़ा नुकसान है।

आर्मी चीफ ऑफ स्टाफ जनरल रे ओडिरनो ने एक बयान में कहा कि हम अफगानिस्तान में अपने मिशन के लिए प्रतिबद्ध हैं और गठबंधन के सभी सैनिकों और नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए हम अपने अफगान सहयोगियों के साथ मिलकर काम करना जारी रखेंगे।

कंबाइंड सिक्योरिटी ट्रांजीशन कमांड-अफगानिस्तान के डिप्टी कमांडर मेजर जनरल ग्रीन की एक व्यक्ति ने काबुल के पास अमेरिकी सैन्य शिविर में गोली मारकर हत्या कर दी। पेंटागन का मानना है कि वह व्यक्ति अफगान राष्ट्रीय सुरक्षा बलों का सदस्य था।


वियतनाम युद्ध के बाद से अब तक कोई भी अमेरिकी जनरल किसी हमले में नहीं मारा गया। पिछली बार मारे गए शीर्ष स्तर के अधिकारी का नाम लेफ्टिनेंट जनरल टिमोथी जोसेफ मौडे है। उनकी मौत सितंबर हमले में अपहृत विमान के पेंटागन से टकरा जाने की घटना में हुई थी।
इस साल अफगानिस्तान में तैनाती से पहले उन्होंने सेना में अभियांत्रिकी के कामों के अलावा कई अन्य सहायक कार्य भी किए थे। इस घटना की जांच अफगान और आईएसएएफ अधिकारियों द्वारा संयुक्त रूप से की जा रही है। (भाषा)



और भी पढ़ें :