एडवेंचर के हैं शौकीन तो जाएं दुनिया के इन 10 खतरनाक जंगलों में

इन 10 भयानक और रहस्यमी जंगलों की सैर कर ली तो समझो जिंदगी जी ली

10 Dangerous Forests
एक समय ऐसा था जबकि संपूर्ण धरती ही और समुद्र से ढंकी हुई थी। मानव की आबादी बढ़ने के साथ ही पेड़ कटने लगे और जंगल का क्षेत्र भी सीमित होने लगा लेकिन खुशी की बात है कि आज भी धरती के 50 प्रतिशत से अधिक हिस्से पर जंगल और जंगली पशुओं का राज कायम है और यदि आप एडवेंचर को पसंद करते हैं और जोखिम उठाने का शौक रखते हैं तो चलिए हम आपको ले चलते हैं दुनिया के 10 सबसे खतरनाक जंगलों में।

नंबर 10 : क्लाउड : साउथ अमेरिका में स्थित इस जंगल का पूरा नाम है मिंडो नांबिलो क्लाउड फॉरेस्ट। लगभग 192 वर्ग कीलोमीटर में फैला यह संपूर्ण जंगल बादलों से घिरा रहता है और वर्षभर यहां बारिश होती रहती है जिसके कारण यह जंगल जलीय कीड़ों से भरा है जो कि बेहद ही खतरनाक हैं। अमेजॉन के जंगलों से यह जंगल कुछ ही दूरी पर है और यहां एक हजार छह सौ से ज्यादा पक्षी, मेंढक और और दूसरी जाति के जानवर रहते हैं। बादलों के कारण यह स्वर्ग में होने का अहसास देता है।
नंबर 9 : किनाबालु फॉरेस्ट : मलेशिया द्वीप राष्ट्र में फैले इस जंगल को यूनेस्को ने विरासत स्थलों की सूची में रखा है। लगभग 754 वर्ग किलोमीटर में फैले इस भयानक जंगल में 5 हजार से भी ज्यादा प्रजाति के पेड़-पौधे स्थित है। ऊंचे-ऊंचे पर्वतों से घिरे इस जंगल में कई तरह के खूंखार और आदमखोर जानवर रहते हैं। डिज़्नीलैंड पार्क की तरह खूबसूरत लेकिन भयानक नजर आने वाला यह जंगल पर्यटकों से भरा रहता है। दिन के दौरान यह जंगल जितना खूबसूरत लगता है, रात में उतना ही डरावना नजर आता है। आप यहां जाकर रोमांचित हो जाएंगे, लेकिन यदि गाइडलाइन को नहीं माना जो जानवरों का शिकार बन सकते हैं।
नंबर 8 : दाइंट्री फॉरेस्ट : ऑस्ट्रेलिया में स्थित यह जंगल जितना खूबसूरत नजर आता है उससे कहीं ज्यादा खतरनाक है क्योंकि यह जंगल दुनिया के सबसे खतरनाक पौधों और वृक्षों का घर है। यह 10 हजार से भी अधिक जीव-जंतुओं की प्रजातियों के जानवरों का घर है। 1200 वर्ग किलोमीटर में फैले इस जंगल में तितलियां, चमगादड़ और हजारों कीड़े रहते हैं। इसे दुनिया का सबसे पुराना जंगल भी माना जाता है। दुनियाभर से लोग इस जंगल को देखने के लिए आते हैं क्योंकि यहां पर डर और रोमांच का एक अनोखा मिश्रण है।
नंबर 7 : ट्रॉपिकल फॉरेस्ट : वैसे तो चीन में बहुत सारे जंगल है परंतु ट्रॉपिकल की बात ही कुछ अलग है। लगभग 2402 वर्ग किलोमीटर में फैले इस जंगल में 3 हजार 5 सौ से भी ज्यादा प्रकार के पेड़-पौधे और जानवर पाए जाते हैं। इसी कारण से बॉटनिकल वैज्ञानिकों के लिए यह जंगल महत्वपूर्ण माना जाता है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि दक्षिण एशिया के जैव संतुलन में ट्रॉपिकल रेनफॉरेस्ट का 50% से भी ज्यादा योगदान है। यहां घूमना जितना रोमांच भरा है उतना ही खतरनाक भी।
नंबर 6 : सुंदरबन फॉरेस्ट : भारत और बांग्लादेश के बीच फैला यह जंगल सुंदरता के साथ ही बेहद की खौफनाक है क्योंकि यह दुनिया का सबसे बड़ा टाइगर रिजर्व है जहां सफेद टाइगर भी देखने को मिल जाएंगे। आप पर कब और कहां टाइगर या कोबरा हमला कर दे कह नहीं सकते हैं। 10 हजार वर्ग किलोमीटर के क्षेत्र में फैले इस जंगल में टाइगर ही नहीं कई खूंखार जंगली जानवर और कोबरा सांप पाए जाते हैं। खतरे के साथ ही गंगा और ब्रह्मपुत्र का डेल्टा होने के कारण इसकी खूससुरती काफी बढ़ जाती है। यही कारण है कि पूरे विश्व में यह जगल एडवेंचर पर्यटकों के लिए एक आदर्श स्थान है। इस जंगल को भी यूनेस्को ने विश्व विरासत घोषित कर रखा है।
नंबर 5 : टोंगास फॉरेस्ट : आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यह जंगल 68 हजार वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है यानी श्रीलंका से भी ज्यादा बड़ा क्षेत्र इसने घेर रखा है। नॉर्थ अमेरिका के अलास्का में फैले इस जंगल में असंख्य पशु, पक्षी और खतरनाक जानवर रहते हैं। सबसे खास बात तो यह कि यहां पर आदिवासियों के लगभग 32 समूह के 75 हजार 5 सौ से भी ज्यादा लोग निवास करते हैं, जिनसे बचकर रहना जरूरी है। खतरों और रोमांच से भरे इस जंगल को देखने के लिए हर वर्ष 1 करोड़ से भी ज्यादा पर्यटक आते हैं।
नंबर 4 : वल्डीवियन फॉरेस्ट : साउथ अमेरिका में लगभग 2 लाख 48 हजार वर्ग किलोमीटर में फैले इस जंगल को रेन फॉरेस्ट इसलिए कहते हैं क्योंकि यहां पर पूरे वर्ष लगातार बारिश होती रहती है। बारिश के कारण यह जंगल जहां लाखों कीड़ों-मकोड़े का घर बन गया है वहीं यहां के जंगल घने हो चले हैं। लगातार बारिश के कारण वक्षों पर की काई उग आई है। इस जंगल में 122 से भी अधिक दुर्लभ प्रजाति के पौधे पाए जाते हैं। यहां कई ऐसे जानवर भी पाए जाते हैं जिनकी प्रजाति विलुप्त होने वाली है। यह जंगल मुख्य रूप से चिल्ली और अर्जेंटीना का हिस्सा है।
नंबर 3 : कांगो फॉरेस्ट : यह तो आप जानते ही है कि अफ्रीका तो जंगलों का ही महाद्वीप है लेकिन उसमें की कांगो तो बहुत ही भयानक है। आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि 20 लाख 23 हजार और 428 वर्ग किलोमीटर में फैले इस जंगल में 10 हजार से भी अधिक प्रकार की प्रजातियों के पेड़-पौधे पाए जाते हैं। कांगो जंगल आकार में जितना विशाल है, उतना ही डरावना भी है क्योंकि यहां पर 1 हजार से भी ज्यादा प्रकार के पक्षी और 500 से भी ज्यादा प्रकार के स्तनधारी जानवर पाए जाते हैं। खास बात यह है कि कांगो जंगल से होकर बहने वाली नदी में 500 से भी ज्यादा प्रकार की मछलियां पाई जाती है जिसमें पिराना नाम की मछलियां किसी भी इंसान को मिनटों में खत्म कर सकती है।

नंबर 2 : अमेजॉन फॉरेस्ट : लगभग 70 लाख वर्ग किलोमीटर में फैले इस जंगल को जंगलों का राजा और जानवरों का स्वर्ग कहा जाता है। यह दुनिया का सबसे बड़ा रेन फॉरेस्ट है। पेरू, ब्राजील, कोलंबिया, बोलीविया, इक्वाडोर, सूरीनाम, गुयाना, वेनेजुएला आदि देशों में फैला यह जंगल करोड़ों पक्षियों और खूंखार जानवरों का घर है। अमेजॉन के जंगलों में अमेजॉन नदी भी मौजूद है। कहते हैं कि यहीं पर दुनिया का सबसे बड़ा एनाकोंडा भी रहता है। इस जंगल में बगैर सुरक्षा के घूमना मौत को दावत देने जैसा है, क्योंकि यह जंगल इंसानों के लिए किसी बुरे सपने से कम नहीं है। यदि आप सच में ही एडवेंचर के शौकीन हैं तो इस जंगल की सैर जरूर करें।

नंबर 1 : टैगा फॉरेस्ट : यह जंगल दुनिया का सबसे बड़ा जंगल है जो एशिया, यूरोप और नॉर्थ अमेरिका तक 1 करोड़ 20 लाख वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है, यानी भारत और चीन दोनों का जितना क्षेत्रफल है उससे कहीं ज्यादा क्षेत्रफल इस जंगल का है। स्वर्ग की तरह नजर आने वाला यह जंगल अंटार्कटिक महासागर में भी मौजूद है। इसका ज्यादातर हिस्सा उत्तरी ध्रुव से लगा होने के कारण यह बेहद ही ठंडा है। इसके कई हिस्सों में तो बस बर्फबारी ही होती रहती है। इसीलिए यहां पशु और पक्षियों की कम ही प्रजातियां पाई जाती हैं और यहां 4 या 5 प्रकार के पेड़ ही पाए जाते हैं। इस जंगल में रशिया के साइबेरिया का अधिकांश हिस्सा भी शामिल है।



और भी पढ़ें :