0

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम के जीवन की प्रेरणा थीं ये दो महिलाएं

सोमवार,जुलाई 26, 2021
0
1
डॉक्टर अब्दुल कलाम को प्रोजेक्ट डायरेक्टर के रूप में भारत का पहला स्वदेशी उपग्रह (एस.एल.वी. तृतीय) प्रक्षेपास्त्र बनाने का श्रेय हासिल है।
1
2
कामयाबी के शिखर तक पहुंचने की आपने यूं तो हजारों कहानियां पढ़ी होंगी लेकिन यह एक कहानी सबसे अलग है, जो पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की है। 27 जुलाई 2015 को महान व्यक्तित्व कलाम हमसे बिछड़ गए हमेशा हमेशा के लिए लेकिन छोड़ गए ऐसी मिसाल जो लाखों ...
2
3
लोकमान्य तिलक की 165वीं जयंती पर पढ़ें प्रेरक प्रसंग
3
4
भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के महानायक एवं लोकप्रिय स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद का जन्म 23 जुलाई, 1906 को मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के भाबरा नामक स्थान पर हुआ।
4
4
5
'स्वराज मेरा जन्मसिद्ध अधिकार है और मैं इसे लेकर रहूंगा के प्रणेता बाल गंगाधर तिलक हिन्दुस्तान के एक प्रमुख नेता, समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी थे।
5
6
स्वराज को लेकर तिलक का वह कथन आज भी सारे देश में ख्यात है। आइए जानते हैं हमारे प्रिय नेता लोकमान्य गंगाधर तिलक के 10 अमूल्य विचार-
6
7
स्वामी विवेकानंद ने जितने युवाओं के हृदय को झंकृत किया, शायद उतना किसी और ने किया हो। श्री रामकृष्ण परमहंस के शिष्य स्वामी विवेकानंद एक ऐसे संत थे जिनका रोम-रोम राष्ट्रभक्ति से ओत-प्रोत था।
7
8
एक प्रसंग के अनुसार एक दिन एक युवक स्वामी विवेकानंद के पास आया। उसने कहा- मैं आपसे गीता पढ़ना चाहता हूं। स्वामीजी ने युवक को ध्यान से देखा और कहा
8
8
9
प्रशांत चन्द्र महालनोबिस का जन्म 29 जून 1893 को कोलकाता में हुआ था। वे बहुआयामी प्रतिभा के धनी थे। आर्थिक योजना और सांख्यिकी विकास के क्षेत्र में प्रशांत चन्द्र महालनोबिस के उल्लेखनीय योगदान के सम्मान में भारत सरकार द्वारा उनके जन्मदिन यानी 29 जून ...
9
10
रानी दुर्गावती भारत की एक प्रसिद्ध वीरांगना थीं, जिसने मध्यप्रदेश में शासन किया। दुर्गावती का जन्म 5 अक्टूबर 1524 में हुआ था। उनका राज्य गोंडवाना में था।
10
11
भारत के महान क्रांतिकारी डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी का जन्म 6 जुलाई, 1901 को हुआ था। महानता के सभी गुण उन्हें विरासत में मिले थे। राजनीति व शिक्षा के क्षेत्र में सुविख्यात डॉ. मुखर्जी की 23 जून, 1953 को जेल में उनकी रहस्यमय ढंग से मृत्यु हो गई।
11
12
एक जुलाहा स्वभाव से अत्यंत शांत, नम्र तथा वफादार था। उसे क्रोध तो कभी आता ही नहीं था। एक बार कुछ लड़कों को शरारत सूझी।
12
13
झांसी की रानी लक्ष्मीबाई आत्मविश्वासी, कर्तव्य परायण, स्वाभिमानी और धर्मनिष्ठ वीरांगना थीं। आइए जानते हैं भारतीय वसुंधरा को गौरवान्वित करने वाली झांसी की रानी के बारे में 10 अनजाने तथ्य
13
14
महाराणा प्रताप उदयपुर, मेवाड़ में सिसोदिया राजवंश के राजा थे। उनके कुल देवता एकलिंग महादेव हैं। मेवाड़ के राणाओं के आराध्यदेव एकलिंग महादेव का मेवाड़ के इतिहास में बहुत महत्व है।
14
15
भारत के इतिहास की श्रेष्ठ योद्धा रानियों में शुमार हैं महारानी अहिल्याबाई होल्कर। आज उनकी 296 वीं जयंती है। महारानी अहिल्याबाई होलकर का नाम आज भी पूरे अदब से मालवा क्षेत्र में लिया जाता है। वह एक बेशुमार योद्धा थी। अहिल्याबाई होल्कर के शासनकाल के ...
15
16
28 मई 1883 को नासिक के भगूर गांव में जन्मे विनायक दामोदर सावरकर स्वतंत्रता सेनानी एवं प्रखर राष्ट्रवादी नेता थे। जानिए उनके जीवन की ये 10 खास बातें-
16
17
वीर सावरकर विश्वभर के क्रांतिकारियों में अद्वितीय थे। उनका नाम ही भारतीय क्रांतिकारियों के लिए उनका संदेश था।
17
18
पंडित जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवंबर, 1889 को इलाहाबाद में हुआ।
18
19
राजा राम मोहन राय का जन्म पश्चिम बंगाल में हुगली जिले के राधानगर गांव में हुआ था। उनकी प्रारंभिक शिक्षा गांव में हुई। राजा राम मोहन राय ने शिक्षा खासकर स्त्री-शिक्षा का समर्थन किया।
19