इंदौर की बंदरिया टिया ने कहावत को साबित किया गलत, हुई अदरक की चाय की दीवानी

Last Updated: मंगलवार, 13 जुलाई 2021 (21:51 IST)
इंदौर (मध्यप्रदेश)। 'बंदर क्या जाने अदरक का स्वाद?', यह कहावत आपने कई बार सुनी होगी। लेकिन इंदौर के कमला नेहरू चिड़ियाघर में खुले में घूमने वाली 6 महीने की बंदरिया इसे गलत साबित कर रही है। चिड़ियाघर प्रबंधन के मुताबिक लंगूर प्रजाति की यह नन्ही बंदरिया अदरक वाली चाय की शौकीन है और अपनी इस खासियत के चलते दर्शकों का ध्यान खींच रही है।
ALSO READ:

पीवी सिंधु से बोले प्रधानमंत्री मोदी, ओलिंपिक में मेडल जीतकर लौटिए, जानिए किस एथलीट की सचिन से की तुलना

चिड़ियाघर के प्रभारी उत्तम यादव ने मंगलवार को बताया कि इस बंदरिया को हमने 'टिया' नाम दिया है। वह की शौकीन है और चिड़ियाघर में दर्शकों के लिए बनाए गए फूड जोन में इसकी रोज चुस्कियां लेती है। उन्होंने बताया कि दर्शक, खासकर छोटे बच्चे नन्ही बंदरिया को चाय पीते देख खूब खुश होते हैं।


यादव ने बताया कि इंदौर से करीब 40 किलोमीटर दूर देपालपुर क्षेत्र में बंदरिया की मां की करीब 6 महीने पहले बिजली के तार से करंट लगने से मौके पर ही मौत हो गई थी। उन्होंने बताया कि उस समय टिया (बंदरिया) की उम्र महज 2-3 दिन रही होगी। उसकी मां की मौत के बाद ग्रामीणों ने उसे वन विभाग को सौंप दिया था। वन विभाग ने उसे बेहतर देखभाल के लिए चिड़ियाघर भेज दिया। यादव ने बताया कि नन्ही बंदरिया को चिड़ियाघर के अन्य जानवरों की तरह पिंजरे में कैद नहीं किया गया है और वह पूरे चिड़ियाघर में खुले में घूमती रहती है। उन्होंने कहा कि 'टिया' अब हमारे चिड़ियाघर के कुनबे की सदस्य बन चुकी है और मेरा दफ्तर उसका सबसे पसंदीदा ठिकाना है।(भाषा)



और भी पढ़ें :