साल का पहला सूर्यग्रहण कल, लेकिन भारत में नहीं दिखाई देगा

SolarEclipse
Last Updated: शुक्रवार, 29 अप्रैल 2022 (16:24 IST)
हमें फॉलो करें
इंदौर (मध्यप्रदेश)। सूर्य, पृथ्वी और चन्द्रमा की चाल दुनियाभर के खगोलप्रेमियों को 30 अप्रैल (शनिवार) को आंशिक का दृश्य दिखाएगी। हालांकि उस वक्त भारत में रात होने के कारण देश में साल का यह पहला ग्रहण नजर नहीं आएगा।
ALSO READ:

ग्रहण 2022 : कब, कैसे, क्यों और कहां, जानिए 25 खास बातें

उज्जैन की प्रतिष्ठित शासकीय जीवाजी वेधशाला के अधीक्षक ने शुक्रवार को यह जानकारी देते बताया कि भारतीय मानक समय के मुताबिक आंशिक सूर्यग्रहण की शुरुआत 30 अप्रैल (शनिवार) और 1 मई (रविवार) की दरमियानी रात 12 बजकर 15 मिनट और 3 सेकंड पर होगी और यह रात 2 बजकर 11 मिनट व 2 सेकंड पर अपने चरम पर पहुंचेगा।
उन्होंने बताया कि ग्रहण के चरम पर सूर्य और पृथ्वी के बीच चन्द्रमा कुछ इस तरह आ जाएगा कि पृथ्वीवासियों को सौरमंडल का मुखिया सूर्य 63.9 प्रतिशत ढंका नजर आएगा। गुप्त ने बताया कि आंशिक सूर्यग्रहण भारतीय मानक समय के मुताबिक 1 मई (रविवार) को तड़के 4 बजकर 7 मिनट व 5 सेकंड पर खत्म होगा। उन्होंने बताया कि यह खगोलीय घटना दक्षिणी अमेरिका के दक्षिणी भाग, आंतरिक उत्तरी अमेरिका, दक्षिणी प्रशांत महासागर और दक्षिणी अटलांटिक महासागर क्षेत्र में देखी जा सकेगी।



और भी पढ़ें :