0

स्वामी ब्रह्मानंद लोधी निर्वाण दिवस : 10 बातें

मंगलवार,सितम्बर 13, 2022
0
1
द्वारका पीठ के ‘जगतगुरु शंकराचार्य’ स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती का रविवार को मध्यप्रदेश के नरसिंहपुर जिले स्थित उनके आश्रम झोतेश्वर में हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया। वे 99 साल के थे। नरसिंहपुर के गोटेगांव स्थित उनकी तपोस्थली परमहंसी गंगा आश्रम ...
1
2
भाद्रपद के शुक्ल पक्ष की दूज को राजस्थान के महान संतों में से एक बाबा रामदेवरा जिन्हें रामापीर या बाबा रामदेव (1352-1385) भी कहते हैं उनकी जयंती मनाई जाती है। इस बार यह जयंती 29 अगस्त को मनाई जा रही है। राजस्थान के पांच महान संतोंमें से एक बाबा ...
2
3
महर्षि अरविन्द घोष (Aurobindo Ghosh) को दार्शनिक एवं क्रांतिकारी के नाम से जाना जाता है, वे बंगाल के महान क्रांतिकारियों में से एक थे। उनका जन्म 15 अगस्त को हुआ था और इसी दिन भारत को आजादी मिली थी, अत: स्वतंत्रता दिवस के दिन महान योगी अरविन्द घोष का ...
3
4
Tulsidas Jayanti 2022 : प्रतिवर्ष शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को तुलसीदासजी का जन्मदिवस मनाया जाता है।। इस बार अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार 04 अगस्त 2022, गुरुवार को तुलसीदास जयंती मनाई जाएगी। आओ जानते हैं कि गोस्वामी तुलसीदास कौन थे और कैसे मिली उन्हें ...
4
4
5
tulsidas jayanti 2022 तुलसीदास एक महान महाकवि हैं, उन्होंने रामचरित मानस जैसे ग्रंथ की रचना करके भारतीय इतिहास में अनूठा उदाहरण प्रस्तुत किया है। उनके लेखन की सूक्ष्मता को अत्यंत पैनी एवं गंभीर दृष्टि से देखा जाए तो जीवन की गहराइयों का वास्तविक अर्थ ...
5
6
स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी सन्‌ 1863 को कोलकाता में हुआ। मात्र 39 वर्ष की उम्र में 4 जुलाई 1902 को उनका निधन हो गया। आओ जानते हैं कि स्वामी विवेकानंद क्यों प्रसिद्ध है?
6
7
Why did Swami Vivekananda not marry: भातीय संत और प्रसिद्ध दार्शनिक स्वामी विवेकानंद ने 39 की उम्र में ही देह का त्याग कर दिया था। आखिर उन्होंने विवाह क्यों नहीं किया था?
7
8
स्वामी विवेकानंद का जन्म 12 जनवरी सन्‌ 1863 को कोलकाता में हुआ। मात्र 39 वर्ष की उम्र में 4 जुलाई 1902 को उनका निधन हो गया। आओ संक्षिप्त में जानें स्वामी विवेकानंद का साहित्य और दर्शन।
8
8
9
Swami Vivekananda Jayanti : स्वामी विवेकानंद की आज पुण्यतिथि है। मात्र 39 वर्ष की उम्र में 4 जुलाई 1902 को उनका निधन हो गया था। आओ जानते हैं उनकी पुण्‍यतिथि पर उनका संक्षिप्त जीवन परिचय।
9
10
Kabir jayanti : प्रतिवर्ष ज्येष्ठ पूर्णिमा के दिन संत कबीर की जयंती मनाई जाती है। अंग्रेजी माह के अनुसार इस बार 14 जून 2022 बुधवार को उनकी जयंती मनाई जाएगी। कई लोग संत कबीरदासजी को हिन्दू तो कुछ लोग मुसलमान मानते हैं। आखिर वे क्या थे?
10
11
Pandit dhirendra krishna shastri biography : पंडित धीरेंद्र शास्त्री आजकल अपनी रामकथा और दिव्य दरबार को लेकर बहुत चर्चित हो रहे हैं। कुछ-एक विवादित बयानों को लेकर भी उनकी चर्चा हो रही है। कहते हैं कि वे उनके दादाजी की तरह छतरपुर के एक गांव गड़ा में ...
11
12
Gorakshanath : वैशाख माह की पूर्णिमा के दिन हठ योग के गुरु गुरुगोरखनाथ का प्रकटोत्सव मनाया जाएगा। इस बार 16 मई 2022 को उनका जन्मोत्सव मनाया जाएगा। आओ जानते हैं गुरु गोरक्षानथ के जन्म और जीवन के संबंध में 10 रहस्यमयी बातें।
12
13
रामभद्राचार्य जी का नाम बहुत ही आदर के साथ हिन्दू संत समाज में लिया जाता है। धर्मचक्रवर्ती, तुलसीपीठ के संस्थापक, पद्मविभूषण, जगद्गुरु श्री रामभद्राचार्य जी वही हैं जिन्होंने सुप्रीम कोर्ट में रामलला के पक्ष में वेद पुराण के उद्धारण के साथ गवाही दी ...
13
14
Achyutananda das malika predictions : भारत में यूं तो कई भविष्यवक्ता हुए हैं लेकिन 16वीं सदी में ओड़िसा राज्य में जन्में अच्युदानंद दास की भविष्यवाणियों को खासी चर्चा होती है। दावा किया जा रहा है कि उनकी अब तक की भविष्यवाणियां सच हुई हैं। फ्रांस के ...
14
15
Chanakya ki kahani in hindi: आचार्य चाणक्य का नाम सभी ने सुना है। उनकी चाणक्य नीति बहुत प्रचलित है। सभी ने चाणक्य नीति के अनमोल वचन पढ़ें होंगे। आओ जानते हैं कि आखिर चाणक्य कौन थे, कैसे हुई थी उनकी मौत और क्या है उनके जीवन की कहानी।
15
16
भगवान श्री कृष्ण के भक्त संत सूरदास (Life story of Surdas) का जन्म तिथि के अनुसार वैशाख महीने के शुक्ल पक्ष की पंचमी को मनाया जाता है। उन्हें हिन्दी के अनन्यतम और ब्रजभाषा के आदि कवि कहा जाता है।
16
17
Who was Bhrigu Rishi : प्रतिवर्ष वैशाख मास की पूर्णिमा तिथि को महर्षि भृगु की जंयती मनाई जाती है। अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार इस बार यह जयंती 16 मई 2022 सोमवार को मनाई जाएगी। आओ जानते हैं संक्षिप्त में महर्षि भृगु का परिचय। महर्षि भृगु को भी सप्तर्षि ...
17
18
Indian guru satya sai baba गुरु श्री सत्य साईं बाबा (sathya sai baba) का जन्म 23 नवंबर 1926 को आंध्रप्रदेश के पुट्‍टपर्थी गांव में हुआ था। बचपन में उनका नाम 'सत्यनारायण राजू' था।
18
19
24 अप्रैल सत्य साईं बाबा की पुण्यतिथि : शिरडी के साईं बाबा के समाधि लेने के ठीक 8 साल बाद आंध प्रदेश के पुट्टपर्थी नामक स्थान पर 1926 में सत्यनारायण राजू का जन्म हुआ। राजू को 13 साल की उम्र में ही उन्हें साईं का अवतार मान लिया गया। आओ जानते हैं उनके ...
19