Gangaur Food 2022 : गणगौर पर्व पर इन खास व्यंजनों से लगाएं गौरी माता को भोग

gangaur recipes
गणगौर (Gangaur Festival 2022) के दिन गणगौर माता और ईशरजी की पूजा में तरह-तरह के भोग बनाए जाते हैं, यहां आपके लिए प्रस्तुत हैं कुछ खास भोग की विधियां- Gangour Food 2022

1. Gangaur Food Mithe Gune-गणगौरी गुने

सामग्री : 100 ग्राम रवा, 500 ग्राम मैदा, 1/2 चम्मच मीठा पीला रंग, 500 ग्राम चीनी, तलने के लिए देशी घी।

विधि : गणगौर पर गुने बनाने के लिए सबसे पहले रवा-मैदा छान लें। आधा कप घी का मोयन लें और मीठा पीला रंग मिलाकर पूरी की तरह आटा गूंथ लें। थोड़ी बड़ा आकार की लोई लेकर चकले पर लंबी-गोल बत्ती जैसी बना लें। अब उसे चपटा करके दोनों सिरों को पानी की सहायता से गोलाकार में जोड़ दें।

अब एक कढ़ाई में घी गर्म करें और धीमी आंच पर सुनहरा होने तक तल लें। अब ठंडा करें, चीनी की 2 तार की चाशनी बनाएं, गुनगुनी चाशनी में तैयार गुने डालें और उलट-पलटकर 5 मिनट चाशनी में ही रहने दें। अब चाशनी से निकाल लें और छलनी पर ठंडा होने के लिए रख दें।

अगर आप गणगौरी गुने को बड़े आकार में बनाना चाहती हैं तो 2-3 राउंड में घुमा लें और जलेबी का आकार देकर बनाएं। ये दिखने में और भी सुंदर लगेंगे तथा खाने में लजीज भी। अब तैया गणगौरी गुने से पर्व मनाएं।

2. शाही खीर

सामग्री :
2 लीटर गाढ़ा दूध, 50 ग्राम मावा, 2 मुट्ठी बासमती चावल, 1/4 कटोरी मेवे की कतरन, 4 बड़े चम्मच शकर, 1/2 चम्मच पिसी इलायची, 3-4 लच्छे केसर, एक चुटकी मीठा पीला रंग।

विधि : बनाने से एक-दो घंटे पूर्व चावल धोकर पानी में गला दें। दूध को मोटे तले वाले बर्तन में लेकर गरम करके 10-15 उबाल लेकर पका लें। अब चावल का पूरा पानी निथार कर दूध में डाल दें। बीच-बीच में चलाती रहें। चावल पकने के बाद चीनी डालें और पूरी चीनी घुलने तक दूध को लगातार चलाती रहें। बीच में छोड़े नहीं।

जब खीर अच्छी तरह गाढ़ी हो जाए तब उसमें मेवे की कतरन, इलायची डालें। एक अलग कटोरी में थोड़ा-सा गरम दूध लेकर केसर 5-10 मिनट के लिए उसमें गला दें। तत्पश्चात केसर घोंट कर उबलती खीर में डाल दें। अब तैयार हो रही खीर की 5-7 उबाली लेकर आंच बंद कर दें। तैयार शाही खीर से पर्व मनाएं।

3. घेवर

सामग्री : डेढ़ कटोरी मैदा, 2 कप पानी, डेढ़ बड़ा चम्मच जमा गाढ़ा घी, डेढ़ कप बर्फ का ठंडा पानी, घी, सव्वा दो कटोरी शकर, गुलाब पत्ती, चुटकी भर पीला रंग, कटे हुए पिस्ता व बादाम, एक मटका रखने वाली रिंग।

विधि : सबसे पहले जमा हुआ गाढ़ा घी लेकर एक बर्तन में बर्फ के ठंडे पानी के साथ खूब फेंटिए। करीबन 5 मिनट बाद घी में से पानी बाहर निकल जाता है। अब पानी निथारकर इसमें थोड़ा-थोड़ा कर मैदा मिलाकर फेंटिए। जब भजिए से भी पतला घोल तैयार हो जाए तब छोटी कढ़ाई में मटका रखने वाली रिंग रखें। इसमें घी डालकर गर्म करें।

जब घी अच्छी तरह गर्म हो जाए तब रिंग के बीच में धीरे-धीरे धार-सी बनाते हुए मैदे का घोल छोड़ें। रिंग करीब आधा डूबा होना चाहिए। हल्का बादामी होने लगे, तब सलाई की सहायता से उठा लीजिए। घेवर पर 3-4 बार डेढ़ तार की गर्म चाशनी डालें और तैयार घेवर को मेवे से सजाकर पेश करें।

4.
मालपुआ

सामग्री : 1 कप दूध, 1 कप मैदा, 1 कप चीनी, 1 चम्मच नीबू रस, 1 चम्मच सौंफ, 5-6 केसर के लच्छे, 1/4 कटोरी मेवे की कतरन, घी (तलने और मोयन के लिए)।

विधि : सबसे पहले मैदा छानकर उसमें 2 चम्मच घी का मोयन मिलाकर दूध तथा सौंफ डालकर गाढ़ा घोल तैयार कर लें। अब एक बर्तन में चीनी, नीबू रस और पानी मिलाकर चाशनी तैयार कर लें, उसमें केसर के लच्छे डालें और उबालें।

अब एक कढ़ाई में घी गरम करके एक कड़छी से घोल डालें और कुरकुरा होने तक तल लें। फिर चाशनी में डुबोकर एक अलग बर्तन में रखते जाएं। ऊपर से मेवे की कतरन बुरकाकर सभी मालपुए तैयार करके भोग लगाएं।


5. पूरी-Poori Recipe

सामग्री : 1 कटोरा गेहूं का आटा, 1 बड़ा चम्मच बेसन, आधा चम्मच अजवाइन, पाव चम्मच हल्दी, नमक, तेल (तलने के लिए)।

विधि : सबसे पहले गेहूं का आटा और बेसन को छानकर उसमें तेल को छोड़ कर बाकी सभी सामग्री डालकर कड़ा आटा गूंथ लें। अब 15-20 मिनट कपड़े से ढंक कर रख दें। एक कड़ाही में तेल गरम करके धीमी आंच पर कुरकुरी पूरियां तल कर रख लें और ठंडी होने के पश्चात पूरी से माता को भोग लगाएं।

6. शाही हलवा-Halwa Recipes

सामग्री : 100 ग्राम आटा, 100 ग्राम शकर, 2 बड़े चम्मच देसी शुद्ध घी, पाव कटोरी मेवे की कतरन, 1/2 चम्मच इलायची पाउडर, 3-4 केसर के लच्छे।

विधि : एक कड़ाही में घी गरम करें तथा आटा डालकर धीमी आंच पर गुलाबी होने तक सेंक लें। अब 2 कप गर्म पानी डालकर जल्दी-जल्दी चलाएं। थोड़ा गाढ़ा होने पर शकर मिलाएं और हिलाते रहें। जब हलवा घी छो़ड़नेा लगे, तब मेवे की कतरन और इलायची पाउडर बुरकाएं। ऊपर से केसर के लच्छे डालें। आंच बंद कर दें और तैयार शाही हलवे का भोग लगाएं।



Gangaur 2022



और भी पढ़ें :