नया साल और आपके सितारे

वर्ष 2011 का द्वादश राशिफल

Author पं. सुरेन्द्र बिल्लौरे|
ND

मेष-
मेष र‍ाशिवाले जातकों के लिए यह वर्ष प्रगति सूचक रहेगा। 1 जनवरी से शुक्र अष्‍टम भाव में परिभ्रमण कर रहा है। अत: राजनैतिक प्रभाव प्रभावित होगा। अन्य कार्यों में भी उन्नति होगी। परंतु कुछ अड़चनें उत्पन्न होंगी। जनवरी द्वितीय सप्ताह के प्रारंभ में मंगल का परिभ्रमण राजयोग में बाधित कर सकता है। परंतु जनवरी अंत में शुक्र के परिभ्रमण राज्य भाव में आने से सफलता प्राप्त कराएगा। जनवरी अंत से अप्रैल अंत तक का समय नौकरी वालों के लिए पदोन्नति वाला, राजनीति के लिए यश-प्रतिष्ठा एवं व्यापारी वर्ग के लिए उन्नति वाला रहेगा। मई प्रारंभ से मंगल की स्थिति एवं गुरु का परिभ्रमण विवादित मामलों को पूर्ण रूप से एवं संतोष जनक तरीके से निपटाने में सक्षम रहेगा। जून भी उन्नति वाला रहेगा। जून से जुलाई अंत तक का समय भौतिक सुख साधन में वृद्धि वाला रहेगा। तत्पश्चात अगस्त मध्य तक सोचकर निर्णय लें। बिना सोचे निर्णय हानिकारक हो सकते है। अगस्त मध्य से अक्टूबर तक का समय सहयोग वाला रहेगा। अक्टूबर से दिसंबर तक का समय प्रगति वाला रहेगा।
वृषभ-
वृषभ राशि वाले जातकों को लिए नया वर्ष पद प्रतिष्ठा दिलाने वाला रहेगा। जनवरी प्रारंभ में हल्की-फुल्की रुकावट आ सकती है। जनवरी मध्य से जनवरी अंत तक का समय पुराने संबंधों के सहयोग से लाभ दिलाने वाला रहेगा। साथ ही किसी से व्यापार संबंधी प्रतिबंध लाभदायक होगा। फरवरी प्रारंभ से अंत तक का समय अधिक व्यस्तता में कटेगा एवं मिला-जुला भी होगा। फरवरी से मई अंत तक राजनैतिक पद में महत्वपूर्ण पद प्राप्ति वाला, परिवार में पद-प्रतिष्ठा, सुख-सुविधा एवं विद्यार्थी वर्ग के लिए प्रतियोगिता में सफल‍ता प्राप्ति वाला रहेगा। भूमि प्राप्ति एवं लक्ष्य प्राप्ति होगी। इसी के साथ ध‍ार्मिक यात्रा और घर में मांगलिक कार्य होंगे। कृषक को उच्च लाभ मिलेगा। मई से जून अंत के समय में स्थायी संपत्ति पर खर्च होगा। जून अंत से अगस्त मध्य के समयावधि में नौकरी वालों की पदोन्नति होने के प्रबल योग है। अगस्त मध्य से सितंबर मध्य तक का समय मानसिक परेशानी वाला हो सकता है। यह ऐसा समय रहेगा, जिसमें अपने-पराए की पहचान हो जाएगी। मित्रों से पूर्ण सहयोग प्राप्त होगा। सितंबर मध्य से अक्टूबर अंत तक का समय पुराने घर का उद्धार एवं यात्रा पर खर्च होगा। अक्टूबर अंत से नवंबर अंत का समय पद-प्रतिष्ठा वाला रहेगा। दिसंबर माह कई मामलों में सामान्य रहेगा।
मिथुन-
मिथुन राशि वालों के लिए यह वर्ष मिश्रित असर वाला रहेगा। जनवरी से फरवरी अंत का समय मंगल एवं सूर्य के प्रभाव के कारण स्वास्थ्य में परेशानी वाला रह सकता है। अपने खान-पान पर विशेष ध्यान रखें। यह समय खास तौर पर अपने इष्ट की‍ भक्ति एवं चिंतन में लगाएँ। फरवरी अंत से शुक्र अष्‍टम भाव में रहने से कोर्ट-कचहरी के मामलों में अड़चन आ सकती है। अत: ऐसे में लंबी तारीख करवाने से लाभान्वित होंगे। शेयर मार्केट एवं विदेश से व्यापार करने वाले व्यापारी पूर्ण सावधानी से कार्य करें। मार्च अंत से शुक्र की स्थिति बदलने से उन्नति होगी। बृहस्पति का राज्य भाव में रहने से सम्मानजनक पद प्रतिष्ठा होगी। इसी के साथ रूका हुआ पैसा भी प्राप्त होगा। रुकी हुई संपत्ति का निर्णय आपके पक्ष में होगा। यह महीना मिला-जुला व फिजूलखर्ची रहेगा। स्वयं के निर्णय पर अमल करें। खर्च की आ‍दत कर्जदार बना सकती है। जून अंत से अगस्त मध्य में स्थायी संपत्ति प्राप्त करने के योग बन रहे हैं। सितंबर से अक्टूबर का समय मानसिक उलझनें दे सकता है। धैर्य से काम लें। अक्टूबर से नवंबर अंत तक सामान्य प्रक्रिया रहेगी। दिसंबर का पूरा महीना सहयोग प्रदान करने वाला रहेगा।
ND
कर्क-
कर्क राशिवाले जातकों के लिए आनेवाला वर्ष उत्तम रहेगा। जनवरी में संतोष जनक सुधार आएगा। यह परिवर्तन करा सकता है, जो शुभ होगा। जनवरी के बाद शुक्र की स्थिति स्वास्थ्य संबंधित तकलीफ दे सकती है। राजनैतिक लोगों को कार्य में परेशानी आ सकती है। गुरु का आपकी राशि से नवम भाव में होने से आपकी राशि में नवपंचम योग बनता है, जिससे पूरे वर्ष हर तरफ प्रगति करने में सक्षम रहेंगे। शनि भी आपको प्रगति कार्य में सहयोग प्रदान करेगा। मध्य फरवरी से मंगल की स्थिति अनायस व्यवधान उपस्थित करेगी, अत: अपने पूर्ण कार्य व्यवस्थित सुचारू रूप से होंगे अत: सावधानीपूर्वक कार्य करें। मार्च अंत से मंगल भी अष्‍टम में आएगा जो अप्रैल मध्य तक चलेगा। यह समय भी पूर्ण संतोष जनक रहेगा। सूर्य आपको सहायता प्रदान करेगा। यश दिलाएगा। साथ ही विदेश से कमाई भी कराएगा। मई प्रथम सप्ताह से शुक्र एवं मध्य से मंगल पूर्ण सफलत‍ा दिलाएँगे। रुके हुए कार्य पूर्ण होंगे। मंगल से संबंधित कार्य पूर्ण होंगे। मेडिसीन एवं कृषि दवा व्यवसायी अधिक लाभान्वित होंगे। जून अंतिम सप्ताह में सजावट तथवा निर्माण कार्य पर खर्च होगा। जुलाई अंतिम सप्ताह क्रोध नुकसान करा सकता है। साथ ही स्वास्थ्य गड़बड़ वाला रहेगा। अक्टूबर माह में परिवार में क्लेश हो सकता है। इसके बाद का समय संतोष जनक रहेगा।
सिंह-
सिंह राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष सामान्य रहेगा। जनवरी प्रथम सप्ताह से मंगल का प्रभाव आपके कार्य में व्यवधान खड़ा करेगा। परंतु धैर्य से काम लें। सफलता हासिल होगी। व्यापार-व्यवसाय में कोई भी अनुबंध सोच-समझ कर करें। फरवरी अंत से शुक्र आपके कोर्ट संबंधित केस लंबे समय तक चलेंगे। लीवर से संबंधित तकलीफ हो सकती है। शत्रुओं से सावधान रहें। बृहस्पति का अष्टम भाव में होना कार्यों में सफलता के मार्ग में व्यवधान उत्पन्न कर सकता है, जो कि मई अंत तक असर रहेगा। अपने विवेक से कार्य लें। मार्च अंत से शुक्र एवं मार्च मध्य से सूर्य का भी प्रभाव अड़चनें पैदा करेगा। गुरु एवं इष्‍ट की सेवा से सफलता प्राप्त होगी। मई में अधिकारी वर्ग को प्रसन्न रखने का पूर्ण प्रयास करें। जून अंत तक सफलता पूर्ण रूप से मिलेगी। आर्थिक सुधार भी होगा। पैतृक संपत्ति का योग भी बनता है। व्यापारी वर्ग को विशेष व्यापार वृद्धि मिलेगी। जुलाई अंतिम सप्ताह से फिजूलखर्च बढ़ेगा। ऐसी कोई घटना घटेगी जिसका आपको कभी अंदाजा भी नहीं होगा। परेशानी आ सकती है। सितंबर में अपने पर कंट्रोल रखना पड़ेगा। क्रोध में नुकसान हो सकता है। भवन संबंधित समस्या का समाधान होगा। अक्टूबर से नवंबर का समय संतोषजनक रहेगा। दिसंबर में अपने वालों के सहयोग से कार्य पूर्ण होंगे।
कन्या-
कन्या राशि वाले जातकों के लिए यह माह मध्यम रहेगा। जनवरी सामान्य रहेगा। जनवरी अंत में शुक्र के कारण किसी से झगड़ा अथवा झड़प हो सकती है। किसी के साथ सहानुभूति न दर्शाएँ। अपने को विनयी बनाएँ। व्यापारी वर्ग को लाभ मिलेगा। विशेषकर वस्त्र, जूट, प्लास्टिक व लोहा व्यापारी लाभान्वित होंगे। फरवरी से मई अंत तक का समय व्यापार में सफलता वाला रहेगा। नौकरी वालों के लिए पदोन्नति वाला रहेगा। परंतु इस अवधि में अपने वाला कोई धोखा दे सकता है। बुद्धिमानी से कार्य करें। लापरवाही नुकसान दे सकती है। जून से अगस्त के ब‍ीच आपका संपर्क किसी विशिष्‍ठ व्यक्ति से होगा, जो कि आगे तक सफलता दिलाएगा। अगस्त मध्य से सितंबर मध्य तक का समय अपने को सुधारने का है। अपने व्यवहार एवं श्रम पूर्ण सफलता दिलाएगा। अक्टूबर में मंगल का प्रभाव फिजूल खर्च करा सकता है। पूर्ण विवेक से कार्य करें, सफलता मिलेगी। अक्टूबर मध्य से नवंबर मध्य तक का समय सफलता वाला रहेगा। दिसंबर में उन्नति के मार्ग खुलेंगे।
WD
तुला-
तुला राशि वाले जातकों के लिए यह वर्ष भौतिक सुख वाला रहेगा। जनवरी में मंगल कार्यों को प्रभावित करेगा एवं परिणाम में विफलत‍ा ला सकता है। परिवार में सदस्यों से पूर्ण विचार करके चलना पड़ेगा। मकान या वाहन पर खर्च होगा। फरवरी अंत से अनुकूल परिस्थितियाँ शुक्र के कारण तकलीफ दे सकती है। प्रति रोज किए गए कार्यों को ध्यान से करना पड़ेगा। मार्च (प्रति दिन) का महीना मिश्रित फल वाला रहेगा। मई तक का समय मध्यम रहते हुए अंत में अच्छी सफल‍ता अर्जित कराएगा। सामाजिक कार्य से किसी लंबी यात्रा पर जाने का योग बनता है। धार्मिक कार्य में रुचि बढ़ेगी। गुरु उच्च प्रतिष्ठा दिलाने में सहयोग प्रदान करेगा। जून का माह हल्की तकलीफों में गुजर सकता है। जून अंत में सुधार आ जाएगा। जुलाई से सितंबर तक का समय किसी उन्नति के इंतजार में बित सकता है। सामाजिक कार्यों में सफलता मिलेगी। राजनैतिक कार्य होंगे। अक्टूबर माह में प्रत्येक कार्य में यश, प्रतिष्ठा दिलाने वाला रहेगा। सामाजिक प्रतिष्ठा के साथ धार्मिक प्रतिष्ठा भी मिलेगी। अक्टूबर से नवंबर अंत का समय भौतिक सुख-सुविधा दिलाने वाला रहेगा। दिसंबर के समय में इष्ट देवता को प्रसन्न करें, सफलता मिलेगी।
वृश्चिक-
वृश्चिक राशि वाले जातकों के लिए यह माह भ्रमण वाला रहेगा। जनवरी माह से फरवरी मध्य का समय विशेष लाभकारी रहेगा। फरवरी मध्य से मार्च मध्य का समय मानसिक क्लेश कारक हो सकता है। शेयर बाजार या वायदा बाजार से संबंधित कार्य करने वालों को इस अ‍वधि में सोचकर कार्य करना चाहिए वरना हानि उठाना पड़ेगी। मार्च मध्य से अप्रैल मध्य का समय विदेश भ्रमण वाला हो सकता है। विदेश से पूँजी कमाने का अवसर भी मिलेगा। अप्रैल मध्य से मई मध्य तक का समय अपने पराक्रम को बढ़ाने वाला एवं अच्छी सफलता वाला रहेगा। इसी‍ के साथ पद-प्रतिष्‍ठा दिलाने वाला भी रहेगा। पति अथवा पत्नी के स्वास्थ्य को लेकर चिंता रहेगी। लंबे समय से जमीन-जायदाद संबंधित केस अथवा आपसी विवाद सुलझेगा। भागीदारी वाला कार्य बहुत सोच-समझ कर करें वरना लाभ से वंचित हो सकते है। जून मध्य से मंगल का प्रभाव निर्माण कार्य में विलंब करा सकता है। गुरु सिद्धि प्रदान करेगी। राजनैतिक कार्य में सफलता मिलेगी। जून मध्य से अगस्त अंत का समय बनते कार्यों को बिगाड़ सकता है। अपयश दिला सकता है। सितंबर मध्य से बुध आर्थिक दृढ़ता प्रदान करेगा। अक्टूबर भवन निर्माण लाभ वाला रहेगा। मंगल उपयोगी लाभ दिलाएगा। नवंबर एवं दिसंबर का माह अनावश्यक खर्च मानसिक कष्‍ट दे सकता है।



और भी पढ़ें :