0

श्राद्ध पक्ष में मछली को आटा खिलाने से मिलते हैं ये 10 लाभ

सोमवार,सितम्बर 27, 2021
0
1
27 सितंबर को बुध तुला राशि में वक्री हो जाएंगे। आइए जानते हैं 27 सितंबर से किन राशियों का भाग्य बदल सकते हैं बुध
1
2
यह व्रत और इस दिन की जाने वाली पूजा का दिवाली जैसे त्योहार से भी ज्यादा महत्व माना गया है....आइए जानते हैं कि कौन सी तारीख को पर्व मनाना शुभ है...
2
3
अबू धाबी। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की राजधानी अबुधाबी में दूसरा हिन्दू मंदिर बन रहा है। यहां भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। बताया जा रहा है कि यह मंदिर भी करीब करीब अयोध्या के मंदिर जैसे ही भव्य होगा। आओ जानते हैं इस संबंध में खास 5 ...
3
4
इस बार पितृ पक्ष ( Pitru Paksha 2021 Start Date) 20 सितंबर 2021, सोमवार को भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि से आरंभ हो गए हैं। पितृ पक्ष का समापन 6 अक्टूबर 2021, बुधवार को आश्विन मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि अर्थात सर्वपितृ मोक्ष ...
4
4
5
महालक्ष्मी पर्व यानी गजलक्ष्मी व्रत है। इस दिन को दीपावली से भी अधिक शुभ माना जाता है। पितृ पक्ष में आने वाले गजलक्ष्मी व्रत में अगर अपनी राशि अनुसार विधि-विधान से पूजन किया जाए तो महालक्ष्मी विशेष प्रसन्न होती हैं और जीवन में धन-समृद्धि आती है।
5
6
गजलक्ष्मी व्रत के दिन हाथी की पूजा और महालक्ष्मी के गजलक्ष्मी स्वरूप की पूजा की जाती है। इस साल यह व्रत मत-मतांतर से 28 और 29 सितंबर को मनाया जा रहा है। इस व्रत में मिट्टी के गज बनाए जाते हैं।
6
7
इस वर्ष श्री महालक्ष्मी व्रत का प्रारंभ सोमवार, 13 सितंबर 2021 को हुआ था। यह व्रत 16 दिनों तक चलता है। इस व्रत का समापन मंगलवार, 28 सितंबर 2021 को होगा। प्रतिवर्ष भाद्रपद मास के शुक्ल पक्ष की अष्टमी से भी महालक्ष्मी व्रत का प्रारंभ होता है,
7
8
महालक्ष्मी व्रत पूजा के समय पढ़ें धन की देवी महालक्ष्मी जी की आरती और उनके पौराणिक मंत्र- ॐ जय लक्ष्मी माता, मैया जय लक्ष्मी माता । तुमको निस दिन सेवत हर-विष्णु-धाता ॥ॐ जय...
8
8
9
इस बार पितृ पक्ष ( Pitru Paksha 2021 Start Date) 20 सितंबर 2021, सोमवार को भाद्रपद मास की शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा तिथि से आरंभ हो गए हैं। पितृ पक्ष का समापन 6 अक्टूबर 2021, बुधवार को आश्विन मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि को होगा। आओ जानते हैं कि ...
9
10
एक बार महालक्ष्मी का पर्व आया। हस्तिनापुर में गांधारी ने नगर की सभी स्त्रियों को पूजा का निमंत्रण दिया परन्तु कुन्ती से नहीं कहा।
10
11
हिन्दू धर्म में त्रिदेवियों में से एक है माता लक्ष्मी। दीपावली के दिन इनकी विशेष पूजा होती है साथ ही विशेष अवसरों पर महालक्ष्मी की घर में स्थापना करके उनकी पूजा की जाती है। खासकर महाराष्ट्र में महालक्ष्‍मी की पूजा का प्रचलन है। हम अक्सर 2 नाम सुनते ...
11
12
13 सितंबर 2021 से भाद्रपद मास में आने वाला 16 दिनों का महालक्ष्मी व्रत जारी है। इन खास दिनों में धन-वैभव देने वाली देवी माता महालक्ष्मी की विधि-विधिपूर्वक पूजन किया जाएगा तथा
12
13
श्राद्ध पक्ष में आने वाली अष्टमी को लक्ष्मी जी का वरदान प्राप्त है। यह दिन विशेष इसलिए भी है कि इस दिन सोना खरीदने का महत्व है। मान्यता है कि इस दिन खरीदा सोना आठ गुना बढ़ता है। साथ ही शादी की खरीदारी के लिए भी यह दिन उपयुक्त माना गया है। इस दिन ...
13
14
भाद्रपक्ष की शुक्ल अष्टमी (राधा अष्टमी) से लेकर श्राद्ध की अष्टमी तक महालक्ष्मी के विशेष आशीष झरते-बरसते हैं।
14
15
धार्मिक शास्त्रों में किसी भी खास अवसर पर धन की देवी लक्ष्मी पूजन करने का बहुत महत्व माना गया है। इस दिन माता लक्ष्मी का यह चालीसा जीवन को खुशहाली से भरकर मनचाहा आशीर्वाद देता है
15
16
कार्यक्षेत्र पर प्रमोशन या किसी तरह की पहचान मिलने की संभावना है। परिवार में किसी विवाहयोग्य सदस्य का विवाह जल्द तय हो जाएगा। गृहिणियां इस सप्ताह घर की साफ-सफाई में व्यस्त रह सकती हैं।
16
17
महालक्ष्मी व्रत के दिनों में या किसी भी खास अवसर पर मां लक्ष्मी के 108 नामों का जप करने से वैभव, कीर्ति, ऐश्वर्य, धन-धान्य, सुख-संपत्ति, सौभाग्य और आरोग्य और सम्मान की प्राप्ति होती है।
17
18
मां लक्ष्मी की पूजा से धन की प्राप्ति होती है। माता लक्ष्मी की पूजा कई प्रकार से होती है और पूजन सामग्री में एक होता है अष्टगंध। आओ जानते हैं कि माता लक्ष्मी किस तरह इससे प्रसन्न होती हैं।
18
19
यापार या नौकरी में कोई रिस्‍क न लें। जीवनसाथी के स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। प्रेम में तू-तू, मैं-मैं हो सकती है। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। व्‍यापार भी मध्‍यम कहा जाएगा। मां काली के मंत्र जपें... लाल वस्तु का दान करें...
19