होली के 10 पारंपरिक उपाय, संकट से बचने के लिए आजमाएं

होली का त्योहार हमारे जीवन में भी रंग भर सकता है। प्रस्तुत है होली के चमत्कारिक उपाय, जो हर समस्या को दूर कर सकते हैं... जानिए अचूक उपाय -

1 अगर आप मानसिक तनाव से ग्रसित हैं तो होली की रात चन्द्रमा को दूध का अर्घ्‍य देकर कोई सफेद मिष्ठान अर्पण करें। ऐसा करने से मानसिक शांति प्राप्त होती है।

2.में सभी घर वालों को शामिल होना चाहिए और तीन परिक्रमा लेते हुए पीली सरसों, अलसी और गेहूं की बालियां अग्नि में डालनी चाहिए। इससे ग्रह अनुकूल होंगे, घर में शुभता आएगी।

3 अगर आप किसी रोग से ग्रसित हैं, तो पान का पत्ता, एक गुलाब का ताज़ा फूल और कुछ बताशे लेकर रोगी के ऊपर से 31 उतार लें और उतारने के बाद इसे किसी चौराहे पर रखकर आ जाएं। आते वक्त पीछे मुड़कर न देखें।

4 जलती हुई होलिका की राख लेकर एक लोहे की कील से अपने केस नंबर और शत्रु का नाम एक कागज पर लिख दें और उसे होलिका की अग्नि में दहन कर दें। आपको केस से निजात मिल जाएगी।

5 रोजगार की समस्या हो तो होली वाली रात को एक नींबू लेकर किसी चौराहे पर जाएं और उसे काट कर चार टुकड़े कर दें। उसके बाद इन चारों दिशाओं में एक-एक टुकड़ा फेंक दें और घर वापस जाएं।बस आते वक्त पीछे मुड़कर न देखें।

6 विवाह में समस्या आ रही हो, तो इसे दूर करने के लिए होली वाले दिन एक पान के पत्ते पर एक सुपारी और एक हल्दी की गांठ रखकर शिवलिंग पर अर्पित कर दें और श्री शिव दारिद्र दहन स्तोत्र का पाठ करें।

7 आर्थिक संकट से छुटकारा पाने के लिए होलिका दहन के समय श्री सूक्तम का पाठ करते हुए शक्कर की आहुति दें। अभीष्ट कार्य की सिद्धि के लिए तीन गोमती चक्र लेकर अपनी प्रार्थना को बोलते हुए अग्नि में डालकर प्रणाम करें।


8 होलिका की भस्म का टीका करने से नज़र दोष, ग्रहबाधा से मुक्ति मिलती है।

9 होलिका दहन के बाद बची हुई राख को अपने घर लाकर एक लाल कपडे में बांध कर अपनी तिजोरी में रखने से बरकत आती है और अनावश्यक खर्च रुकते हैं।

10 अपने इष्ट देवता /कुल देवी/देवता के साथ होली खेलने से भी सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है। इसलिए होली के अवसर पर सबसे पहले उन्हें रंग अर्पित करें।


नोट
: जो उपाय परंपरागत रूप से चले आ रहे हैं उन्हें ही एकत्र कर यहां जानकारी के रूप में प्रस्तुत किया गया है। पाठक स्वविवेक से निर्णय लें। वेबदुनिया ऐसी किसी सामग्री की जिम्मेदारी नहीं लेती है।



और भी पढ़ें :