विवाह की कल्पना कैसे सूझी : कमाल का चुटकुला है


किसी गधे को अग़र खूंटे से बांधा जाए, और उसका मूड खराब हो, तो वह खूंटे को उखाड़ते हुए भाग सकता है...
ऐसा न हो, इसलिए पुराने ज़माने में समझदार लोग गधों को खूंटे की जगह आपस में दो दो की जोड़ी में बांधते थे, यानी कि दो गधों को आपस में एक साथ बांध देते थे।

ऐसे में गधे अपनी जगह से हिलते नहीं हैं, क्योंकि अगर दोनों में से किसी एक ने भागने की क़ोशिश की तो दूसरा उसे विपरीत ओर खींचता है.. इस प्रकार दोनों
गधे अपनी जगह पर शांति से खड़े रहते हैं।.

ऐसा कहा जाता है कि इस तरक़ीब के सीखने के बाद ही हमारे पूर्वजों को....विवाह की कल्पना सूझी...!



और भी पढ़ें :