विवाह समारोहों में ऐसा ही होता है : मजेदार है यह चटपटी वार्ता


कई विवाह समारोहों में सूक्ष्मता से की गई रिसर्च का रिज़ल्ट आप भी आनंद लीजिए
1: हर बारात में सात आठ महिलाएं और कन्याएं खुले बाल रखती हैं, जिन्हें गर्दन टेढ़ी करके कभी आगे तो कभी पीछे करने का प्रयास करती है। दरअसल उन्हें पता ही नहीं होता कितने प्नतिशत बाल आगे और कितने प्रतिशत पीछे रखने है ?

2 : "ये देश है वीर जवानों का" इस गीत पर वही लोग नाचते हैं, जिन्हें नाचना नहीं आता या जिनसे जबरन नाचने की मनुहार की जाती है। अधिकांश नर्तक 45 की उमर के उपर होते हैं।

3 : घूमर डांस और पंखिड़ा महिलाओं में जन्मजात ही होता है इसे सिखाया नहीं जाता, सभी महिलाओं के स्टेप समान होते हैं।

4: महिलाओं की स्कीन 'सर्दीप्रूफ' होती है सन्दर्भ : बैकलेस, स्लीव लेस
5 : पटाखों की सबसे बड़ी लड़ी, लड़की के घर के बाहर ही फोड़ी जाती है।

6 : स्टेज पर भले ही हनी सिंह हो पर बारात गन्तव्य तक पहुँचने पर गाना राजेन्द्र कुमार ही गाएगा
'बहारों फूल बरसाओ मेरा मेहबूब आया है' ।

7: जो आदमी लगातार मुंह में पान गुटखा दबा रखे समझो वह 'फील गुड' में है मतलब उसने दारू पी रखी है।

8 : बहुत सी बारातों में दूल्हे का सबसे विश्वास पात्र दोस्त वही होता है, जिसके पास दारू वाले कमरे की चाबी हो। बारात के लास्ट में चलने वाली वैन का संचालन का ज़िम्मा भी उसे ही दिया जाता है और वो अपने लिये तीन चार बोतल पहले ही 'अंटी' में रख लेता है।
9. दूल्हा दूल्हन भले कैसा भी डांस करे, लेकिन सबसे ज्यादा तालियां उन्हीं को मिलती हैं। फोटोग्राफर भी उन्हीं पर फोकस ज्यादा करता है; क्योंकि उसे पता है पेमेंट इधर से ही आएगा।

1 0 : तन्दूर के पास हर पच्चीस लोगों में एक ऐसा होता है जो सूखी रोटी (बिना बटर-घी ) वाली की डिमांड करता है हालांकि उसकी प्लेट में गुलाब जामुन छोले फ्रूट क्रीम पनीर बटर मसाला मूंग दाल का हलवा आदि होता है...



और भी पढ़ें :