0

हिन्दी दिवस 2021 के शुभकामना संदेश : हिन्दी प्रेमी दोस्तों को भेजिए

मंगलवार,सितम्बर 14, 2021
0
1
भारतीय अधरों का... गौरव और मान है हिंदी, भारत की प्रमुख पहचान और सम्मान है हिंदी ! फ़ारसी से उपजी,संस्कृत की लाड़ली बेटी महान है हिंदी, भारत की मुख्य भाषा और अभिमान है हिंदी !
1
2
हिंदी दिवस पर इंदौर शहर के वामा साहित्य मंच ने आयोजित की नारा प्रतियोगिता, जिसमें देश-विदेश की हिंदी प्रेमी सदस्यों ने स्वरचित नारे लिखे। उनमें से कुछ प्रमुख नारे यहां प्रस्तुत हैं...
2
3
हिंदी दिवस की शुभकामनाएं.... हिन्दी/ हिंदी दिवस पर हमने जुटाई है विशेष सामग्री... यहां पढ़ें हिन्दी पर लेख, कविता, नारे और शुभकामना संदेश और अन्य महत्वपूर्ण आलेख....
3
4
यूं तो हिंदी पूरे भारत में बहुतायत बोली जाती है, लेकिन अगर दुनिया की बात करें तो हिंदी दुनिया में सबसे ज्‍यादा बोली जाने वाली भाषाओं में से एक है। दरअसल, चीन की भाषा मंदारिन और अंग्रेजी के बाद हिंदी बोलने वाले लोगों की आबादी तीसरे स्थान पर है। यानि ...
4
4
5
इसके अलावा विश्व में सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषाओं में हिंदी का स्थान चौथा है। हिंदी दिवस के अवसर पर आज हम आपको हिंदी से जुड़े कई रोचक तथ्य बता रहे हैं जो बेहद दिलचस्‍प हैं और आपका ज्ञान भी बढ़ाएंगे।
5
6
1947 में जब हमारे देश को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली, तब उनके सामने भाषा की एक बड़ी चिंता खड़ी हुई। भारत एक विशाल देश है जिसमें विविध संस्कृति है। ऐसी सैकड़ों भाषाएं हैं जो देश में बोली जाती हैं और हजारों से अधिक बोलियां हैं।
6
7
हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाता है। हिंदी प्रेमी इस दिन को गर्व के साथ मनाते हैं और बधाई देते हैं। आज हिंदी का वर्चस्‍व देश से अधिक विदेशों में बढ़ रहा है। अमेरिका में हिंदी भाषा दो अन्य भाषा के साथ बोली जाती है। त‍मिल और गुजराती। विदेशों ...
7
8
हिन्दी का बिगाड़ भारत माता के रूप की लालिमा का बिगाड़ है, उसकी सिन्दूरी आभा का बिगाड़ है, उसके माथे की बिंदी का बिगाड़ है। बिगाड़ तो अंग्रेजों ने भरपूर किया पर उनके बिगाड़ को सम्मान से स्वीकार किया चापलूसों ने।
8
8
9
देश में पहली बार 14 सितंबर 1953 को हिन्दी दिवस मनाया गया था... अन्य त्योहारों की तरह ही लोग इस दिन भी अपने जानने वालों को शुभकामनाओं वाले संदेश भेजते हैं। आप भी दोस्तों को हिन्दी दिवस की शुभकामनाएं भेज सकते हैं -
9
10
हिन्दी की अपनी लय है, अपनी चाल और अपनी प्रकृति‍। इन्‍हीं के भरोसे वो चलती है और अपनी राह बनाती रहती है। सतत प्रवाहमान किसी नदी की तरह। कभी अपने बहाव में तरल है तो कहीं उबड़-खाबड़ पत्‍थरों से टकराती बहती रहती है और वहां पहुंच जाती है, जहां उसे जाना ...
10
11
मंच पर बड़े-बड़े अक्षरों में कार्यक्रम का विषय लिखा था अपनी मातृभाषा हिन्दी को कैसे बचाएं। उसका मन कह रहा था कि हिन्दी हमारी मातृभाषा है या मात्र एक भाषा....!
11
12
मैं वह भाषा हूं, जिसमें तुम जीवन साज पे संगत देते मैं वह भाषा हूं, जिसमें तुम, भाव नदी का अमृत पीते मैं वह भाषा हूं, जिसमें तुमने बचपन खेला और बढ़े हूं वह भाषा, जिसमें तुमने यौवन, प्रीत के पाठ पढ़े...
12
13
हिन्दी हमारे स्वाभिमान और गर्व की भाषा है, हिन्दी ने हमें विश्व में एक नई पहचान दिलाई है। भारत में हर वर्ष '14 सितंबर' को हिन्दी दिवस मनाया जाता है।
13
14
पहचान है हमारी हिन्दी, हिन्दोस्तान की है ये बिंदी। घर-घर बहती है हिन्दी की धारा, विश्व गुरु बनेगा हिन्दोस्तान हमारा,
14
15
14 दिसंबर को हिन्दी दिवस मनाया जाएगा। आधुनिक युग में इंटरनेट के बढ़ते प्रचलन के बीच हिन्दी ने अपना भी एक मकाम बनाया है लेकिन सोशल मीडिया के युग में अब वह धीरे-धीरे बदलावा की ओर कदम बढ़ा रही है। आओ जानते हैं कि क्या हिन्दी बचेगी या रहेगी।
15
16
विश्व हिंदी सम्मेलन में विश्व हिंदी दिवस मनाने का प्रस्ताव पेश किया गया। इसके बाद साल 2006 में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 10 जनवरी को विश्व हिंदी दिवस मनाने की घोषणा की। इस साल विदेश में पहली बार भारतीय दूतावासों में विश्व हिंदी दिवस मनाया गया। ...
16
17
''भाषा का संबंध इतिहास, संस्‍कृति और परम्‍पराओं से है। भारतीय भाषाओं में अंतर-संवाद की परम्‍परा पुरानी है और ऐसा सैकड़ों वर्षों से होता आ रहा है, यह उस दौर में भी हो रहा था, जब वर्तमान समय में प्रचलित भाषाएं अपने बेहद मूल रूप में थीं।
17
18
भाषा व्यक्ति-व्यक्ति के मध्य अथवा दो समूहों के मध्य केवल संपर्क का ही माध्यम नहीं होती। वह संपर्क से आगे बढ़कर उनके मध्य स्नेह का सूत्र भी सुदृढ़ करती है,
18
19
आईआईएमसी के महानिदेशक ने बताया कि यह पखवाड़ा 14 से 28 सितम्बर 2020 तक आयोजित किया जा रहा है।
19