फिर से बढ़ रहे कोरोना के केस, होली बिना मास्‍क के खेलना हो सकता है रिस्की




इस बार की होली बहुत खास होने वाली है क्योंकि लंबे वक्त बाद इस तरह से अपनों के संग मिलकर होली खेल सकेंगे। 2 साल बाद फिर से सामान्‍य तौर पर होली खेली जाएगी। रंग-गुलाल के गुब्बारों के बीच होली फिर खेलेंगे।

की तीसरी लहर का असर बहुत अधिक लंबा नहीं रहा है। तीसरी लहर में लोग कोविड से संक्रमित हुए पर घर पर ही ठीक भी हो गए। हालांकि विशेषज्ञों के मुताबिक कोविड अभी पूरी तरह से नहीं गया है। विशेषज्ञों द्वारा फिर से सावधानियां बरतना जरूरी है। 2 साल बाद फिर से अपनों के संग मिलकर होली खेली जाएगी। लेकिन एक्सपर्ट के अनुसार कोरोना अभी पूरी तरह से गया नहीं है। चीन में एकदम से भयावह आंकड़े आने के बाद चीन के कई शहरों में कोविड के केस बढ़ रहे हैं, तो कई जगहों पर लॉकडाउन लगा दिया गया है।



चीन ने बढ़ाई चिंता

चीन में एक दिन में कोविड के नए 5,280 नए मामले सामने आए है, वहीं सबसे अधिक चीन के जिलिन प्रांत में मामले सामने आए है। नए मामले सामने आने के बाद कई शहरों को लॉकडाउन कर दिया गया है।

WHO ने चेताया


WHO के चेताया कि डेल्टा व ओमिक्रॉन वैरिएंट से विकसित हो रहा नया वैरिएंट डेल्‍टाक्रॉन सबकी मुश्किलें बढ़ा सकता है। नए वैरिएंट अधिक तेजी से फैलता है तो चौथी लहर भी आ सकती है।

कोरोना खत्म नहीं हुआ है


विशेषज्ञों के मुताबिक इस बार होली बेहद सावधानी से खेलें। सर्दी-बुखार या खांसी होने पर बेहतर होगा होली नहीं खेलें। इससे संक्रमण फैलने की संभावना अधिक होती है। मास्‍क का प्रयोग करें। ताकि संक्रमण से बच सकें। साथ ही अगर आपको सांस की बीमारी है तो आपको अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। इसके लिए बेहतर है डबल मास्‍क लगाकर रखें। जो दूसरों को भी संक्रमित होने से बचाएंगा और सांस के मरीजों के लिए बेहतर विकल्प है।


बाल और स्किन का रखें ख्‍याल

होली खेलने से पहले अपने बालों में अच्छी तरह से तेल लगाएं और इसके बाद कैप लगा लें। पूरी बॉडी पर भी तेल लगा लें। ताकि पक्का रंग आपकी बॉडी पर नहीं चिपकेगा। आंखों की सुरक्षा के लिए चश्‍मा जरूर लगाएं। साथ ही फुल स्‍लीव्‍स की ड्रेस पहनें जिससे आपके हाथों पर सनटैन भी नहीं होगा और कलर भी नहीं लगेगा।



और भी पढ़ें :