Health Tips : पपीते का न करें अत्यधिक सेवन, जानिए नुकसान

पपीते के कई सेहत लाभ आपने जरूर सुने होंगे। यह आपको स्वस्थ रखने से लेकर आपकी खूबसूरती को निखारने तक का काम करता है। इसे ऑलराउंडर फ्रूट कहना गलत नहीं होगा। पपीता काफी फायदेमंद होता है। पाचन संबंधी परेशानी हो या कब्ज की समस्या, पपीता इन सभी समस्याओं से राहत दिलाने के काम आता है। लेकिन इसके अत्यधिक सेवन से कुछ दुष्प्रभाव भी होते हैं।

आइए इस लेख में जानते हैं पपीते से होने वाले लाभ और नुकसान के बारे में।

पपीते से होने वाले लाभ

पपीते से निकलने वाला रस अपने वजन से 100 गुना प्रोटीन बहुत जल्द पचा देता है जिससे अमाशय तथा आंत संबंधी विकारों में बहुत लाभ मिलता है। कब्ज व कफ के रोग में यह लाभकारी है। गरिष्ठ पदार्थ को आसानी से पचाता है।

पपीते के नियमित उपयोग से शरीर में इन विटामिनों की कमी नहीं रहती। इसमें पेप्सिन नामक तत्व पाया जाता है, जो बहुत ही पाचक होता है। यह पेप्सिन प्राप्त करने का एकमात्र साधन है।
पपीते का रस प्रोटीन को आसानी से पचा देता है इसलिए पपीता पेट एवं आंत संबंधी विकारों में बहुत ही लाभदायक है। पपीते में पाया जाने वाला विटामिन 'ए' त्वचा एवं नेत्रों के लिए बहुत आवश्यक होता है। इस विटामिन से त्वचा स्वस्थ, स्वच्छ और चमकदार रहती है।

पपीते में कैल्शियम भी अच्छी मात्रा में होता है, जो रक्त एवं तंतुओं के निर्माण एवं हृदय, नाड़ियों तथा पेशियों की क्रिया ठीक रहने में सहायक होता है। बच्चों की वृद्धि और रोगों से बचाव की क्षमता बढ़ाने में भी विटामिन 'ए' की आवश्यकता रहती है।
पपीते से होने वाले नुकसान

गर्भवती महिलाओं को पपीता खाने से बचने की सलाह दी जाती है, क्योंकि पपीते के बीज और जड़ भ्रूण को नुकसान पहुंचा सकते हैं इसलिए गर्भवती महिलाओं को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए। इससे होने वाले बच्चे को नुकसान पहुंच सकता है।

पपीते के सेवन से कब्ज संबंधी समस्या से राहत मिलती है लेकिन इसका अधिक सेवन भी आपके पेट के लिए नुकसानदाक साबित हो सकता है।
अत्यधिक मात्रा में पपीते का सेवन करने से अस्थमा और जोर-जोर से सांस लेना, सांस लेने में परेशानी जैसी विभिन्न श्वसन संबंधी समस्या हो सकती है।

पपीते के अत्यधिक सेवन से एलर्जी भी हो सकती है। खुजली, चकत्ते पड़ना जैसी समस्याएं भी इसके ज्यादा सेवन से हो सकती हैं।




और भी पढ़ें :