मानसून सीजन में आयुर्वेद देता है शहद के सेवन की सलाह

शहद एक आयुर्वेदिक औषधि के रूप में जाना जाता है। इसका अलग -अलग प्रकार से सेहत और सुंदरता के लिए प्रयोग किया जाता है। शहद का इस्‍तेमाल सेहत के लिहाज से पिछले कुछ सालों में बेहद बढ़ गया है। लोग शक्‍कर की बजाएं शहद का चुनाव कर रहे हैं। ताकि सेहत पर बुरा असर नहीं पड़े। इसके एक नहीं अनेक फायदे हैं। बारिश के मौसम में अक्‍सर पेट से संबंधित समस्‍या बढ़ जाती है। खानपान का बहुत अधिक ध्‍यान रखा जाता है। ऐसे में बारिश के मौसम में आप शहद का सेवन कर सेहत का ख्‍याल रख सकते हैं।
हालांकि बाजार में शहद की डिमांड बहुत अधिक बढ़ गई है। लेकिन इस बीच शहद नकली और असली दोनों मिल रहे हैं। तो जांच परख कर ही शहद का इस्‍तेमाल करें। शहद एकदम गाढ़ा होता है। वह पानी में डालने के बाद एकदम से नहीं घुलता है। बल्कि गाढ़ा होने पर वह एकदम से नीचे बैठ जाता है। हालांकि शहद जांचने का यह सुनिश्चित पैमाना नहीं है लेकिन विशेषज्ञ इसे एक तरीका मानते हैं। तो आइए जानते हैं शहद के सेवन से होने वाले लाभ -


शहद के गुण - शहद प्राकृतिक रूप से मीठा होता है। इसमें फैट, फाइबर और प्रोटीन नहीं होता है। इसमें ग्‍लूकोज, सुक्रोज और माल्‍टोज होता है। विटामिन -6 बी, विटामिन सी, एमिनो एसिड, कार्बोहाइड्रेट मुख्‍य रूप से पाया जाता है। साथ ही शहद में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण भी पाए जाते हैं। यह घाव लगने पर उसे भरने में काफी मदद करता है।

आइए जानते हैं शहद के फायदे -
- शहद एक इम्‍यूनिटी बूस्‍टर के तौर पर काम करता है। इसमें मौजूद एंटीऑक्‍सीडेंट ह्रदय के लिए लाभदायक है। वहीं अगर रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होगी तो संक्रामक बीमारियों से बचा जा सकेगा। प्रतिदिन दूध में एक चम्‍मच शहद मिलाकर पिएं। ध्‍यान रहे शहद मिलाने के बाद दूध को खोलना नहीं है। दूध गर्म होने के बाद ही शहद डाले।

- बारिश के मौसम में गरमा - गरम चीजों के खाने का मजा ही अलग होता है। अधिक खाने पर वजन बढ़ने लगता है। लेकिन ऐसे में शहद का सेवन जरूर करना चाहिए। ताकि वजन एक दम तेजी से नहीं बढ़ें। इसके लिए रोज सुबह गुनगुने पानी में एक चम्‍मच शहद मिलाकर उसका सेवन करें। अगर वजन बढ़ रहा होगा तो कम जाएगा। वरना सामान्‍य रहेग।

- तेल की अधिक चीजें खाने से गले में खराश होने लग जाती है। साथ ही सर्दी-जुकाम में भी आराम दिलाता है। गले की खराश दूर करने के लिए दो चम्‍मच शहद और एक चम्‍मच अदरक का रस। दोनों को अच्‍छे से मिक्‍स कर लें। आप दिन में दो बार इसका सेवन कर सकते हैं।

- बारिश के मौसम में थोड़ा सा भी दूषित पानी पीने से पेट खराब हो जाता है। कब्‍ज की समस्‍या हो जाती है। लेकिन शहद में मौजूद पोषक तत्‍व कब्‍ज दूर करने में काफी मददगार होते हैं। ऐसे में रात में गुनगुने दूध में एक चम्‍मच शहद मिलाकर पिएं। इससे आराम मिलेगा ।

Disclaimer: चिकित्सा, स्वास्थ्य संबंधी नुस्खे, योग, धर्म आदि विषयों पर वेबदुनिया में प्रकाशित/प्रसारित वीडियो, आलेख एवं समाचार सिर्फ आपकी जानकारी के लिए हैं। इनसे संबंधित किसी भी प्रयोग से पहले विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।



और भी पढ़ें :