पूरा दिन एसी में रहने के 10 नुकसान


गर्मियों में एसी में रहना किसको नहीं पसंद आता जब बाहर धूप से घर आते हैं,तो हर किसी को एसी कि ठंडी हवा सूकुन देती है। एसी ठंडक तो देता है साथ ही कई बीमारियों को भी जन्‍म देता है। घर में हों या ऑफिस में कई लोग पूरा समय एयरकंडीशंड कमरों में बिताते हैं। एसी में पूरा दिन रहने से कई नुकसान होते हैं।

एसी में रहने के 10 नुकसान-

एसी में ज्‍यादा समय रहने से जोड़ों में दर्द की समस्या होने के साथ अकड़न बढ़ जाती है। कई लोगों को चलने-फिरने में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है।

कई लोगों को office में घंटों कम्प्यूटर के सामने बैठे रहने के बाद आंखों में खुजली या सूखेपन की शिकायत रहने लगती है।


एसी का यदि तापमान कम होता है तो यह मस्तिष्क की कोशिकाएं पर असर डालता है और इसे संकुचित करता है,जिससे मस्तिष्क की क्रियाशीलता प्रभावित होती है।

एसी से त्वचा पर भी दुष्प्रभाव होता है। यह त्वचा की प्राकृतिक नमी समाप्त कर देता है जिससे त्वचा में रूखापन पैदा होता है।

एसी हमेशा बंद जगह ही काम करता है और कारगर साबित होता है। जिस कारण हमारे शरीर को स्वच्छ हवा नहीं मिल पाती है।

एसी में ज्‍यादा समय रहने से शरीर ठंडा हो जाता है और यदि हम इसके बाद धूप में निकलते हैं तो हमारे शरीर का तापमान अलग हो जाता है। जिससे सर्द-गर्म की समस्‍या हो जाती है और इससे हमें कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है।

कर्इ लोगों को ज्‍यादा समय एसी में रहने से सिरदर्द की परेशानियों का सामना करना पड़ जाता है।

एसी में ज्‍यादा समय रहने से कार्यक्षमता धीरे-धीरे कम होने लगती है।

एसी के इस्तेमाल से मोटापा बढ़ने की समस्‍या भी देखी जाती है। ठंडी जगह पर हमारे शरीर की ऊर्जा खर्च नहीं होती है, जिससे शरीर की चर्बी बढ़ती है और मोटापे जैसी समस्‍या होती है।

यदि कोई एसी से निकलकर सामान्य तापमान या गर्म स्थान पर जाता है, तो वह लंबे समय तक बुखार से पीड़ित हो सकता है।



और भी पढ़ें :