स्वच्छता पर गांधी जी के विचार

Mahatma Gandhi
स्वच्छता को लेकर महात्मा गांधी के निम्नलिखित विचार थे। आप भी पढ़ें और अपने जीवन में अपनाएं।

1. महात्मा गांधी ने कहा था कि राजनीतिक स्वतंत्रता से ज्यादा जरूरी स्वच्छता है।

2. यदि कोई व्यक्ति स्वच्छ नहीं है तो वह स्वस्थ नहीं रह सकता है।

3. बेहतर साफ-सफाई से ही भारत के गांवों को आदर्श बनाया जा सकता है।

4. शौचालय को अपने ड्रॉइंग रूम की तरह साफ रखना जरूरी है।

5. नदियों को साफ रखकर हम अपनी सभ्यता को जिंदा रख सकते हैं।
6. अपने अंदर की स्वच्छता पहली चीज है जिसे पढ़ाया जाना चाहिए। बाकी बातें इसके बाद होनी चाहिए।

7. हर किसी एक को अपना कूड़ा खुद साफ करना चाहिए।

8. मैं किसी को गंदे पैर के साथ अपने मन से नहीं गुजरने दूंगा।

9. अपनी गलती को स्वीकारना झाड़ू लगाने के समान है जो सतह को चमकदार और साफ कर देता है।

10. स्वच्छता को अपने आचरण में इस तरह अपना लो कि वह आपकी आदत बन जाए।
<a class=Mahatma Gandhi " class="imgCont" height="592" src="https://media.webdunia.com/_media/hi/img/article/2021-01/27/full/1611757101-4589.jpg" style="border: 1px solid #DDD; margin-right: 0px; float: none; z-index: 0;" title="Mahatma Gandhi " width="740" />
Gandhi Jee




और भी पढ़ें :