Pravasi Bhartiya Diwas 2022 : महात्‍मा गांधी के भारत लौटने पर क्‍यों मनाया जाता है प्रवासी भारतीय दिवस

Pravasi Bharatiya Divas
पुनः संशोधित शनिवार, 8 जनवरी 2022 (16:07 IST)
हमें फॉलो करें

हर साल 9 जनवरी को भारतीय प्रवासी दिवस मनाया जाता है। इस दिन को विशेष महत्व है। यह दिवस पहली बार साल 2003 में मनाया गया था। 9 जनवरी 2022 में 17वां भारतीय प्रवासी दिवस मनाया जाएगा। इस दिवस को मनाने का उद्देश्य उन प्रवासी भारतीयों को मान्यता देना है जिन्होंने भारत के विकास में योगदान दिया है।



प्रवासी भारतीयों के लिए यह दिन खास होता है क्योंकि देश के बाहर रहकर वह विदेश में रहकर भी भारत का नाम रोशन करते हैं। इस दिवस का उद्देश्य है प्रवासी भारतीय के योगदान को पहचान दिलाता है। इस दिवस पर भारत सरकार द्वारा आयोजन भी किया जाता है।


9 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है प्रवासी भारतीय दिवस -

दरअसल, 9 जनवरी 1915 में महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका से भारत लौटे थे। उन्‍होंने भारत का सबसे महान प्रयास माना जाता है। जिन्होंने भारत के स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व भी किया और भारतीयों के जीवन को भी बदल दिया। इसलिए हर साल 9 जनवरी को भारतीय प्रवासी दिवस मनाया जाता है।

इस दिन को सेलिब्रेट इसलिए करते हैं ताकि प्रवासी भारतीयों के मन में भारती के प्रति सोच और भावनाओं की अभिव्यक्ति के साथ ही उन्हें देशवासियों के साथ सकारात्मक बातचीत रहे। इस दिवस को सेलिब्रेट करने का एक और उद्देश्य यह भी हो कि आने वाली पीढ़ी प्रवासी भारतीयों से संपर्क साध सकें।


प्रवासी भारतीय सम्मान भारत के प्रवासी भारतीय के मामलों का मंत्रालय द्वारा स्थापित एक पुरस्कार है। यह सम्मान प्रत्येक साल 09 जनवरी को
प्रवासी भारतीय दिवस के अवसर पर प्रदान किया जाता है। प्रतिवर्ष प्रवासी भारतीय दिवस के अवसर पर भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान किया

जाता है। यह पुरस्कार प्रवासी भारतीयों को उनके अपने क्षेत्र में किये गये असाधारण योगदान के लिये दिया जाता है।



और भी पढ़ें :