0

जानिए गंगा का जल क्यों नहीं होता कभी खराब... कारण जानकर रह जाएंगे हैरान

शुक्रवार,मई 20, 2022
0
1
आओ जानते हैं कि गंगाजल की पवित्रता की 10 महत्वपूर्ण बातें।
1
2
Ganga Dussehra 2022 : प्रतिवर्ष वैशाख माह में गंगा सप्तमी और ज्येष्‍ठ माह में गंगा दशहरा का पर्व मनाया जाता है। दोनों का ही अलग अलग महत्व है। आओ जानते हैं कि कैसे घर बैठे कर सकते हैं आप गंगाजल के 10 प्रयोग।
2
3
इस वर्ष 09 जून 2022 को गंगा दशहरा पर्व (Ganga Dussehra 2022) मनाया जाएगा। प्रतिवर्ष यह पर्व ज्येष्ठ या जेठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है।
3
4
गंगा नदी को भारत में सबसे पवित्र नदी माना जाता है। ज्येष्ठ माह की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा पर्व मनाया जाता है। इस दिन मां गंगा का धरती पर अवतरण हुआ था। इस वर्ष यह 20 जून 2021 को मनाया जाएगा। आओ जानते हैं मां गंगा के 10 पौराणिक और 10 ...
4
4
5
प्रति वर्ष ज्येष्ठ माह की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा पर्व मनाया जाता है। इस बार यह तिथि 20 जून 2021, रविवार को मनाई जा रही है। आइए जानते हैं गंगा दशहरा पर्व पर खास सामग्री-
5
6
पौराणिक शास्त्रों के अनुसार वैशाख शुक्ल सप्तमी तिथि को मां गंगा स्वर्गलोक से शिवशंकर की जटाओं में पहुंची थी। इसलिए इस दिन को गंगा सप्तमी के रूप में मनाया जाता है।
6
7
ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को 'गंगा दशहरा' का पर्व मनाया जाता है। इस बार यह तिथि रविवार, 20 जून को आ रही है। इसलिए गंगा दशहरा इस साल 20 जून 2021 को मनाया जाएगा।
7
8
हिन्दू धर्म में गंगा दशहरा का विशेष महत्व होता है। प्रतिवर्ष ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को गंगा दशहरा का पर्व मनाया जाता है।
8
8
9
पंचांग के अनुसार गंगा दशहरा का पर्व ज्येष्ठ मास की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाएगा। 20 जून, रविवार को गंगा दशहरा यानी गंगा दशमी है।
9
10
गंगा दशहरा शनिवार, 19 जून 2021 को शाम 06:50 मिनट से दशमी तिथि का प्रारंभ होगा, जो 20 जून 2021, रविवार शाम 04:25 मिनट तक रहेगी। रविवार, 20 जून
10
11
ज्येष्ठ शुक्ल दशमी को हस्त नक्षत्र में श्रेष्ठ नदी 'गंगा' स्वर्ग से अवतरित हुई थीं। गंगा के पृथ्वी पर अवतरण के पर्व को गंगा दशहरा के रूप में मनाया जाता है। इस वर्ष रविवार, 20 जून 2021 को गंगा दशहरा मनाया जाएगा।
11
12
देवी! सुरेश्वरी भगवती गंगे इस गंगा स्तोत्र भक्तिभावपूर्वक का पाठ करने से सभी तरह के पाप, शाप, ताप नष्ट हो जाते हैं, बुद्धि विमल हो जाती है
12
13
गंगा दशहरा पर्व प्रति वर्ष ज्येष्ठ माह की शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को मनाया जाता है। इस बार यह तिथि 1 जून 2020, सोमवार को है। इसलिए गंगा दशहरा इस साल 1 जून को मनाया जाएगा।
13
14
गंगा दशहरा के दिन पवित्र नदी गंगा में स्नान करने से मनुष्य अपने पापों से मुक्त हो जाता है। स्नान के साथ-साथ इस दिन दान-पुण्य करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है। आइए जानते हैं इस साल कब है गंगा दशहरा पर्व और हिन्दू धर्म में क्या है इस खास पर्व का ...
14
15
गंगा दशहरा : प्रतिवर्ष ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को "गंगा दशहरा" का पर्व मनाया जाता है। इस बार यह तिथि 1 जून 2020, सोमवार को आ रही है। इसलिए गंगा दशहरा इस साल 1 जून 2020 को मनाया जाएगा।
15
16
श्री गंगा मां की आरती - ॐ जय गंगे माता, श्री गंगे माता। जो नर तुमको ध्याता, मनवांछित फल पाता। ॐ जय गंगे माता...
16
17
इस वर्ष 1 जून 2020, सोमवार को गंगा दशहरा मनाया जाएगा। ज्येष्ठ शुक्ल दशमी को हस्त नक्षत्र में श्रेष्ठ नदी 'गंगा' स्वर्ग से अवतरित हुई थीं। गंगा के पृथ्वी पर अवतरण के पर्व को गंगा दशहरा के रूप में मनाया जाता है।
17
18
Ganga Aarti in India- जय गंगा मैया मां जय सुरसरी मैया। भवबारिधि उद्धारिणी अतिहि सुदृढ़ नैया।।
18
19
Ganga Chalisa- जय जय जय जग पावनी जयति देवसरि गंग । जय शिव जटा निवासिनी अनुपम तुंग तरंग ॥
19
20
गंगा स्नान से सारे पाप धुल जाते हैं, ऐसी लोगों की मान्यता रहती है। गंगा में लगाई गई एक डुबकी ही श्रद्धालुओं को क्षणभर में पवित्र कर देती है, इसमें रत्तीभर भी संदेह नहीं है।
20
21
वराह पुराण में लिखा हुआ है कि, ज्येष्ठ शुक्ला दशमी बुधवारी में हस्त नक्षत्र में श्रेष्ठ नदी स्वर्ग से अवतीर्ण हुई थी, वह दस पापों को नष्ट करती है।
21
22
पार्वती जी ने बड़े आश्चर्य से शिव जी से पूछा कि ‘हे देव ! गंगा में इतनी बार स्नान करने पर भी इनके पाप और दुखों का नाश क्यों नहीं हुआ? क्या गंगा में सामर्थ्य नहीं रही? गंगा में डुबकी लगाने से क्या सच में धुलते हैं पाप?
22
23
वैज्ञानिक कहते हैं कि गंगा के पानी में बैक्टीरिया को खाने वाले बैक्टीरियोफ़ाज वायरस होते हैं। ये वायरस बैक्टीरिया की तादाद बढ़ते ही सक्रिय होते हैं और बैक्टीरिया को मारने के बाद फिर छिप जाते हैं।
23