इंदौरी शायरी- वो मेरे दिल में भराए इस तरा

No Image Found
हां बोल दे तू छप्पन पे आऊंगा,
तेरा मनपसंद पलासिया पे 
घर बनवाउंगा
> तेरी नी से हो जऊंगा बरबाद में ,
हुआ बर्बाद राज टावर जिस तरा
 
उमर भर तेरे ही गीत गाऊंगा,
छोड़ के इंदौर कईं नी जाऊंगा
कसम तेरे को पोए जलेबी की,
तू हओ के दे ,
वर्ना वैन के पीछे रीगल से,
टेसन-टेसन चिल्लाऊंगा 



और भी पढ़ें :