0

Navratri 2021: जानें नवरात्रि में 9 दिन किस दिन कौन-सा रंग पहनना चाहिए

सोमवार,अक्टूबर 11, 2021
0
1
7 अक्टूबर से नवरात्रि शुरू हो गई है। वहीं गरबा परंपरा के साथ अब फैशन का रूप अधिक ले चुका है। साल 2021 में क्या फैशन अब तक टॉप पर है, इस नवरात्रि में किस तरह की ज्वेलरी सबसे अधिक पसंद की जा सकती हैैं आइए जानते हैं -
1
2
शारदीय नवरात्रि नौ दिवस की होती है। हालांकि साल 2021 में अलग योग बनने से नवरात्रि सिर्फ 8 दिन की है। ऐसे में चौथ और पंचमी एक ही दिन है। वहीं नवरात्रि में 9 दिन अलग-अलग रंग का महत्व होता है। नवरात्रि के चौथे दिन मां कुष्मांडा की पूजा की जाती है। माता ...
2
3
अक्सर लड़कियां हर बार कुछ नई हेयर स्टाइल ट्राई करना चाहती है, और करना भी चाहिए क्योंकि एक परफेक्ट हेयर स्टाइल आपके लुक में चार चांद लगा देती है। वहीं फेस कट के हिसाब से अगर हेयर स्टाइल कि जाएं तो फिर बात ही क्या... जी हां अगर आप अपने फेस कट के हिसाब ...
3
4
चुनरी, दुपट्टा या फिर ओढ़नी महिलाओं के लिए बहुत खास होती है। 'चुनरी संभाल गोरी, उड़ी चली जाए रे...' यह गीत तो आपने खूब सुना ही होगा। इसे संभालने का अपना ही अलग अंदाज होता है। लेकिन यदि इसे अलग-अलग पैटर्न के साथ पहना जाए, साथ ही इसके सही कॉम्बिनेशन ...
4
4
5
आउटफिट सिलेक्ट करते समय सिर्फ उस आउटफिट के वर्क और स्टाइल पर ही ध्यान नहीं दिया जाता बल्कि उसके कलर का भी खास ख्याल रखा जाता है, क्योंकि हर कलर हर महिला पर सूट करें ये जरूरी नहीं। इसलिए आउटफिट सेलेक्ट करते समय कलर का ख्याल रखना बहुत जरूरी है। वैसे ...
5
6
शारदीय नवरात्रि में गरबे का अधिक महत्व है। इस नवरात्रि में 9 दिवस तक गरबे खेले जाते हैं। 9 दिवस तक माता रानी के 9 स्वरूपों की भी पूजा होती है। नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा होती है। माता रानी के मस्तक पर अर्धचंद्र होता है इसलिए इन्हें ...
6
7
दरअसल, शारदीय नवरात्रि में गरबे खेलने का अलग ही माहौल होता है। जी हां, यह 9 दिन उन लोगों के लिए काफी व्यस्त हो जाते हैं जिन्हें ऑफिस के बाद गरबे खेलने जाना होता है। ऑफिस से आकर तैयार भी होना और उसके बाद गरबे खेलने जाना। जल्दी -जल्दी में कुछ समझ नहीं ...
7
8
आंखें जितनी खूबसूरत होती है सुंदरता अधिक बढ़ जाती है। तो कई बार सिर्फ आंखों का मेकअप करने मात्र से सौंदर्य में चार चांद लग जाते हैं। पहले के मुकाबले आंखों का मेकअप सिंपल तो सभी करते हैं लेकिन अलग तरह से करने पर आपका लुक बदल जाता है। वहीं नवरात्रि में ...
8
8
9
वेस्‍टर्न वियर का चलन पहले से काफी बढ़ गया है। एक वक्‍त था जब लड़कियां पारिवारिक या किसी बड़े सामाजिक प्रोग्राम में साड़ी पहनना पसंद करती है। लेकिन बदलते फैशन के दौर में पहनने का तरीका बदल गया है। जी हां, जब कभी लड़कियों को साड़ी पहनना होती है तो ...
9
10
प्लस साइज की लड़कियां व महिलाएं अक्सर अपने कपड़ों को लेकर चिंतित रहती हैं कि वे आखिर ऐसा क्या पहने कि हैवी बॉडी टाइप होने के बावजूद भी परफेक्ट लुक पा सकें.....
10
11
जब भी कम्फर्ट की बात आती है तो सबसे पहले हम लेगिंग्स के बारे में सोचते हैं, क्योंकि लेगिंग्स काफी आरामदायक होती है। लेकिन इसे पहनने में हम कुछ ऐसी गलतियां कर देते हैं जिसके कारण हम हंसी के पात्र बन जाते हैं
11
12
इन दिनों प्रेगनेंसी में शर्माने व अपने बेबी बंप को छिपाने का जमाना नहीं रह गया है। अब तो अधिकांश महिलाएं इस दौरान शरीर में आए बदलाव को हमेशा याद रखने के लिए अपने बेबी बंप का अलग-अलग समय पर फोटोशूट करवा रही है। साथ ही प्रेगनेंसी में भी फैशनेबल ...
12
13
इन दिनों खास अवसर पर सभी महिलाएं सेलिब्रिटी की तरह ग्लैमरस दिखना चाहती हैं, और बैकलेस ड्रेस काफी ट्रेंड में है। बैकलेस ड्रेस व बैकलेस ब्लाउस पहन कर आप बेहद ग्लैमरस दिख सकती हैं बशर्ते आप अपनी बैक की सही देखभाल करें। आज हम आपको बता रहे हैं
13
14
स्टाइलिश और फैशनेबल बने रहने के लिए फैशन से अपडेट रहना जरूरी है। अगर आप ये समझ रहे हैं कि फैशनेबल बने रहने के लिए आपको हर बार शॉपिंग पर जाकर ढेर सारे पैसे खर्च करने पड़ेंगे तो आप गलत हैं। दरअसल, आप लिमिटेड चीजों के जरिए भी खुद को फैशनेबल और स्टाइलिश ...
14
15
महिलाओं को गहनों का बहुत शौक होता है। हर ड्रेस के हिसाब से ज्वेलरी का महिलाएं खूब ख्याल रखती है। ज्वेलरी में सिर्फ सोने, चांदी और हीरे-जवाहरात ही आएं ये जरूरी नहीं है। ऑक्सिडाइज्ड ज्वेलरी भी बहुत प्यारी होती है जिसे महिलाएं, लड़कियां खूब पसंद भी ...
15
16
हर समय खुद को प्रेजेंटेबल रखना स्टाइलिश और फैशनेबल रखना- सच कहें तो यह एक तरह से मूड-लिफ्टर है। खुद को हमेशा फैशनेबल देख और स्टाइलिश देखकर आप खुशी महसूस करते ही होंगे। लेकिन क्या इस समय जब पूरे देश में लॉकडाउन की स्थिति है....
16
17
हमसे से अधिकतर लोग ऐसे हैं, जो समय की कमी के कारण अपने वॉर्डरोब पर ध्यान नहीं दें पाते। जिसके कारण वॉर्डरोब में नए-पुराने कपड़ों का ढ़ेर लग जाता है। वक्त है, कोरोना काल का जिसमें सोशल डिस्टेंसिग का हम सभी पालन कर रहे है। जिस वजह से हम अपना ...
17
18
मॉनसून का मौसम जहां आपको चिलचिलाती गर्मी व धूप से राहत देता है, वहीं हर तरफ हरियाली और प्रकृति की खूबसूरती मन को भी बहुत भाती है। लेकिन इस बारिश के मौसम में आपको अपने फैशन में बदलाव करने की भी जरूरत है, क्योंकि बरसात का मौसम अपने साथ-साथ नमी भी लेकर ...
18
19
कपड़ों का ढ़ेर लग जाता है। वक्त है, कोरोना काल का जिसमें सोशल डिस्टेंसिग का हम सभी पालन कर रहे है। जिस वजह से हम अपना ज्यादातर समय घर पर ही बिता रहे है। तो क्यों न इस समय का ............
19